शादी कैंसिल होने की डर से दूल्हा ने नहीं कराया था कोरोना टेस्ट, सुहागरात के अगले दिन हो गई थी मौत

First Published 7, Jul 2020, 7:29 PM

पटना  (Bihar)। कोरोना संक्रमित इंजीनियर दूल्हे की मौत मामले की जांच से बड़ा खुलासा हुआ है। डीएम को सौंपी गई अंतिम जांच रिपोर्ट में दूल्हे के ही लापरवाही सामने आई है। जांच रिपोर्ट में बताया गया है कि दूल्हा शादी की चाहत में कोरोना जांच नहीं कराने गया, जबकि दिल्ली से वापस आने के बाद तबीयत खराब देख परिवार के लोग चेकअप कराने का सलाह भी दिए थे। लेकिन, उसे डर था कि यदि वह कोरोना से संक्रमित पाया गया तो उसकी शादी कैंसिल हो जाएगी, जो उसे मंजूर नहीं था। बता दें कि दूल्हे की इस लापरवाही के कारण उसकी सुहागरात के अगले ही दिन मौत हो गई थी, जबकि बारात में शामिल 111 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया था और डीएम ने मामले की जांच करने के लिए तीन अधिकारियों की एक टीम गठित की थी, जो अपनी अंतिम रिपोर्ट डीएम को सौंप दिए हैं। विभागीय लोगों के मुताबिक अधिकारियों के रिपोर्ट से ये बातें सामने आईं हैं, जो हम आपको बताने जा रहे हैं।

<p><br />
जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि दिल्ली में दूल्हा सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। 15 जून को पालीगंज में उसकी शादी, जिसके लिए वह घर आया था। (प्रतीकात्मक फोटो)<br />
 </p>


जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि दिल्ली में दूल्हा सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। 15 जून को पालीगंज में उसकी शादी, जिसके लिए वह घर आया था। (प्रतीकात्मक फोटो)
 

<p><br />
जांच रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय तौर पर ही इलाज करा कर मौसमी बीमारी समझ दवा खाता रहा। तबीयत खराब होने के 22 दिन बाद भी दूल्हे ने कोरोना वायरस संक्रमण की जांच नहीं कराई थी, जो उसकी जान पर भारी पड़ गई। (प्रतीकात्मक फोटो)</p>


जांच रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय तौर पर ही इलाज करा कर मौसमी बीमारी समझ दवा खाता रहा। तबीयत खराब होने के 22 दिन बाद भी दूल्हे ने कोरोना वायरस संक्रमण की जांच नहीं कराई थी, जो उसकी जान पर भारी पड़ गई। (प्रतीकात्मक फोटो)

<p><br />
दूल्हा शादी के दिन भी सर्दी खांसी व बुखार की दवा लेकर शादी करने गया था। लेकिन, उस दवा का तब कोई असर नहीं रहा। 23 मई को वह गुरुग्राम से पालीगंज आया था।  (प्रतीकात्मक फोटो)</p>


दूल्हा शादी के दिन भी सर्दी खांसी व बुखार की दवा लेकर शादी करने गया था। लेकिन, उस दवा का तब कोई असर नहीं रहा। 23 मई को वह गुरुग्राम से पालीगंज आया था।  (प्रतीकात्मक फोटो)

<p><br />
8 जून को अचानक उसकी तबीयत खराब हो गई। परिजनों ने स्थानीय चिकित्सक से जांच कराई। चिकित्सक में उसे दवा तो दे दी। लेकिन, उसने सलाह दी थी कि कोरोना वायरस संक्रमण का जांच जरूर करा ले। लेकिन दूल्हा दवा खाकर रह गया। (प्रतीकात्मक फोटो)<br />
 </p>


8 जून को अचानक उसकी तबीयत खराब हो गई। परिजनों ने स्थानीय चिकित्सक से जांच कराई। चिकित्सक में उसे दवा तो दे दी। लेकिन, उसने सलाह दी थी कि कोरोना वायरस संक्रमण का जांच जरूर करा ले। लेकिन दूल्हा दवा खाकर रह गया। (प्रतीकात्मक फोटो)
 

<p><br />
जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि परिवार वालों का कहना है कि उन्होंने भी कहा था कि वो कोरोना वायरस की जांच करा लो। लेकिन, वह तैयार नहीं हुआ। (प्रतीकात्मक फोटो)</p>


जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि परिवार वालों का कहना है कि उन्होंने भी कहा था कि वो कोरोना वायरस की जांच करा लो। लेकिन, वह तैयार नहीं हुआ। (प्रतीकात्मक फोटो)

<p><br />
परिवार के लोगों के मुताबिक दूल्हे को ऐसा लग रहा था की शादी के पहले यदि कोरोना टेस्ट कराएगा और रिपोर्ट पॉजिटिव निकली तो शादी नहीं होगी और शादी समारोह में भंग पड़ जाएगा। उसकी यही लापरवाही उसके जान पर भारी पड़ गई।  (प्रतीकात्मक फोटो)</p>


परिवार के लोगों के मुताबिक दूल्हे को ऐसा लग रहा था की शादी के पहले यदि कोरोना टेस्ट कराएगा और रिपोर्ट पॉजिटिव निकली तो शादी नहीं होगी और शादी समारोह में भंग पड़ जाएगा। उसकी यही लापरवाही उसके जान पर भारी पड़ गई।  (प्रतीकात्मक फोटो)

<p><br />
जांच रिपोर्ट में कहा है कि यदि दूल्हे की कोरोना जांच हो जाती तो शायद इतने बड़े पैमाने पर लोग संक्रमित होने से बच जाते। बता दें कि जिला प्रशासन ने शादी समारोह में 50 से अधिक लोगों के भाग लेने के आरोप में दूल्हे के पिताजी पर मुकदमा दर्ज कर दिया है। साख ही जो लोग संक्रमित हैं उनका बिहटा स्थित कोविड-19 केयर सेंटर में उपचार चल रहा है। (प्रतीकात्मक फोटो)</p>


जांच रिपोर्ट में कहा है कि यदि दूल्हे की कोरोना जांच हो जाती तो शायद इतने बड़े पैमाने पर लोग संक्रमित होने से बच जाते। बता दें कि जिला प्रशासन ने शादी समारोह में 50 से अधिक लोगों के भाग लेने के आरोप में दूल्हे के पिताजी पर मुकदमा दर्ज कर दिया है। साख ही जो लोग संक्रमित हैं उनका बिहटा स्थित कोविड-19 केयर सेंटर में उपचार चल रहा है। (प्रतीकात्मक फोटो)

loader