Asianet News Hindi

SHO को पीट-पीटकर मार डाला,सदमे में मां ने भी तोड़ा दम, अब एक साथ उठेगी दोनों की अर्थी

First Published Apr 11, 2021, 11:14 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) । दारोगा बेटे की हत्या की खबर मां बर्दाश्त नहीं कर सकी। बेटे के शव आने के पहले ही उसने दम तोड़ दिया। वहीं, परिवार वालों ने दोनों की पूर्णिया स्थित आवास से आज अंतिम संस्कार करने का निर्णय लिया। बता दें कि पश्चिम बंगाल के पनतापाड़ा गांव में शनिवार को सुबह ग्रामीणों ने पीट-पीट कर SHO अश्विनी कुमार की हत्या कर दी थी। इस मामले में अश्वनी कुमार के साथ छापेमारी में गए 7 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। 

बिहार के डीजीपी एस के सिंघल ने पं. बंगाल के डीजीपी से बातचीत की है। वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बंगाल का इस्लामपुर इलाका किशनगंज(बिहार) से करीब 12 किमी दूर है। चूंकि रात थी, इसलिए पुलिस को दिशा का अंदाजा नहीं हुआ। इसी बीच अपराधियों ने गांव वालों को भड़का दिया। लोगों को भड़काया गया कि पुलिस बंगाल में हो रहे चुनाव में दखल देने पहुंची है। इसके बाद भीड़ पुलिस पार्टी पर टूट पड़ी और SHO अश्विनी कुमार की जान ले ली।

बिहार के डीजीपी एस के सिंघल ने पं. बंगाल के डीजीपी से बातचीत की है। वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बंगाल का इस्लामपुर इलाका किशनगंज(बिहार) से करीब 12 किमी दूर है। चूंकि रात थी, इसलिए पुलिस को दिशा का अंदाजा नहीं हुआ। इसी बीच अपराधियों ने गांव वालों को भड़का दिया। लोगों को भड़काया गया कि पुलिस बंगाल में हो रहे चुनाव में दखल देने पहुंची है। इसके बाद भीड़ पुलिस पार्टी पर टूट पड़ी और SHO अश्विनी कुमार की जान ले ली।

कुछ पुलिसवाले मौके से भागने में सफल रहे। लेकिन SHO अपनी ड्यूटी निभाते हुए लोगों को समझाने में लगे रहे। मगर किसी ने उनकी बात नहीं सुनी और मारना शुरू कर दिया। इस मामले में पश्चिम बंगाल के पांजीपाड़ा पुलिस ने फिरोज आलम सहित 3 लोगों को हिरासत में लिया था। वहीं, दारोगा अश्विनी कुमार की मां बेटे की मौत की खबर रविवार को सुनते ही उनकी भी सांसें थम गई। बताते हैं कि वो हार्ट की पेशेंट थी।
 

कुछ पुलिसवाले मौके से भागने में सफल रहे। लेकिन SHO अपनी ड्यूटी निभाते हुए लोगों को समझाने में लगे रहे। मगर किसी ने उनकी बात नहीं सुनी और मारना शुरू कर दिया। इस मामले में पश्चिम बंगाल के पांजीपाड़ा पुलिस ने फिरोज आलम सहित 3 लोगों को हिरासत में लिया था। वहीं, दारोगा अश्विनी कुमार की मां बेटे की मौत की खबर रविवार को सुनते ही उनकी भी सांसें थम गई। बताते हैं कि वो हार्ट की पेशेंट थी।
 

ग्रामीणों एवं परिजन सरकार से हाईकोर्ट की निगरानी में हत्याकांड की CBI जांच कराने की मांग किए हैं है। साथ ही हत्याारों की स्पीड ट्रायल कराकर सजा दिलाने की भी मांग की है।
 

ग्रामीणों एवं परिजन सरकार से हाईकोर्ट की निगरानी में हत्याकांड की CBI जांच कराने की मांग किए हैं है। साथ ही हत्याारों की स्पीड ट्रायल कराकर सजा दिलाने की भी मांग की है।
 

परिजनों का कहना है कि शहीद की पत्नी को सरकारी नौकरी मिलनी चाहिए। बच्चों की पढ़ाई का खर्च सरकार को उठाना चाहिए। परिजनों ने बताया कि मांगें पूरी होने के बाद ही SHO अश्विनी कुमार का दाह संस्कार किया जाएगा।

परिजनों का कहना है कि शहीद की पत्नी को सरकारी नौकरी मिलनी चाहिए। बच्चों की पढ़ाई का खर्च सरकार को उठाना चाहिए। परिजनों ने बताया कि मांगें पूरी होने के बाद ही SHO अश्विनी कुमार का दाह संस्कार किया जाएगा।

सातों पुलिसकर्मियों पर निलंबन के अलावा भी कार्रवाई करने की बात कही गई है। किशनगंज SP कुमार आशीष ने बताया कि विभागीय मामला चलाकर कठोरतम सजा दी जाएगी।

सातों पुलिसकर्मियों पर निलंबन के अलावा भी कार्रवाई करने की बात कही गई है। किशनगंज SP कुमार आशीष ने बताया कि विभागीय मामला चलाकर कठोरतम सजा दी जाएगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios