Asianet News Hindi

जानें क्या है Dogecoin, एलन मस्क के ट्वीट के बाद लगातार चर्चा में है यह क्रिप्टोकरंसी

First Published Feb 9, 2021, 6:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। अब जमाना क्रिप्टोकरंसी (Cryptocurrency) का आ रहा है। यह एक डिजिटल करंसी होती है। अभी तक सबसे ज्यादा चर्चा में बिटकॉइन (Bitcoin) रही है। पिछले कुछ वर्षों के दौरान बिटकॉइन की कीमत बहुत बढ़ी है। इसमें बड़े पैमाने पर पूरी दुनिया में निवेश किया जा रहा है। वहीं, हाल में एक और क्रिप्टोकरंसी डॉजकॉइन (Dogecoin) की धूम मच रही है। पिछले कुछ दिनों से डॉजकॉइन लगातार सुर्खियों में है और इसकी कीमत रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है। बता दें कि जब से दुनिया के सबसे अमीर शख्स और इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला (Tesla) के फाउंडर व सीईओ एलन मस्क (Elon Musk) ने इसके बारे में ट्वीट किया है, इसकी चर्चा ज्यादा होने लगी है। एलन मस्क ने अपने ट्वीट में लिखा था -  ‘हू लेट द डॉज आउट।’ बता दें कि एलन मस्क ने एक हफ्ते के भीतर दूसरी बार इस क्रिप्टोकरंसी के बारे में जिक्र किया है। अब कहा जा रहा है कि डॉजकॉइन का मुकाबला बिटकॉइन से है और यह उसे पीछे छोड़ सकती है। (फाइल फोटो)
 

माना जा रहा है कि दुनियाभर में करीब 128 अरब से ज्यादा डॉजकॉइन (Dogecoin) सर्कुलेशन में है। इसे महज एक शुरुआत कहा जा रहा है। एलन मस्क के ट्वीट के बाद निवेशक अब डॉजकॉइन में खास दिलचस्पी ले रहे हैं। डॉजकॉइन की शुरुआत दिसंबर 2013 में की गई थी। (फाइल फोटो)

माना जा रहा है कि दुनियाभर में करीब 128 अरब से ज्यादा डॉजकॉइन (Dogecoin) सर्कुलेशन में है। इसे महज एक शुरुआत कहा जा रहा है। एलन मस्क के ट्वीट के बाद निवेशक अब डॉजकॉइन में खास दिलचस्पी ले रहे हैं। डॉजकॉइन की शुरुआत दिसंबर 2013 में की गई थी। (फाइल फोटो)

आईबीएम (IBM) के सॉफ्टवेयर इंजीनियर बिली मार्कस और एडोब इंजीनियमर जैक्सन पाल्मर ने पीयर-टू-पीयर ट्रांजैक्शन (Peer-To-Peer Transaction) के लिए इसे शुरू किया था। उन्होंने डॉजकॉइन के लिए किसी फैन्सी एम्बलेम को चुनने की जगह जापानी कुत्ते की एक ब्रीड शिबा इनू (Shiba Inu) को चुना। यह पहले से ही ऑनलाइन पॉपुलर हो गया था। (फाइल फोटो)

आईबीएम (IBM) के सॉफ्टवेयर इंजीनियर बिली मार्कस और एडोब इंजीनियमर जैक्सन पाल्मर ने पीयर-टू-पीयर ट्रांजैक्शन (Peer-To-Peer Transaction) के लिए इसे शुरू किया था। उन्होंने डॉजकॉइन के लिए किसी फैन्सी एम्बलेम को चुनने की जगह जापानी कुत्ते की एक ब्रीड शिबा इनू (Shiba Inu) को चुना। यह पहले से ही ऑनलाइन पॉपुलर हो गया था। (फाइल फोटो)

शुरुआती दौर में डॉजकॉइन (Dogecoin) को बिटकॉइन (Bitcoin) और इथेरियम (Etherium)) जैसी सफलता नहीं मिली। हालांकि, लॉन्च किए जाने के 72 घंटे के भीतर इस किप्टोकरंसी में 300 फीसदी की उछाल देखने को मिली थी। बता दें कि लिटकॉइन (Litcoin) और लकीकॉइन (Luckycoin) क्रिप्टोकरंसी में भी  डॉजकॉइन के पासवर्ड पर आधारित स्क्रिप्ट टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं, बिटकॉइन में एसएचए-256 इनक्रिप्शन तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। (फाइल फोटो)

शुरुआती दौर में डॉजकॉइन (Dogecoin) को बिटकॉइन (Bitcoin) और इथेरियम (Etherium)) जैसी सफलता नहीं मिली। हालांकि, लॉन्च किए जाने के 72 घंटे के भीतर इस किप्टोकरंसी में 300 फीसदी की उछाल देखने को मिली थी। बता दें कि लिटकॉइन (Litcoin) और लकीकॉइन (Luckycoin) क्रिप्टोकरंसी में भी डॉजकॉइन के पासवर्ड पर आधारित स्क्रिप्ट टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं, बिटकॉइन में एसएचए-256 इनक्रिप्शन तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। (फाइल फोटो)

डॉजकॉइन (Dogecoin) का भाव फिलहाल करीब 0.071 अमेरिकी डॉलर (5.21 रुपया) है। जानकारों का कहना है कि पिछले 24 घंटे में इसमें 17 फीसदी से ज्यादा तेजी देखने को मिली है। हालांकि, बिटकॉइन और इथेरियम की तुलना में यह बहुत कम है। फिलहाल बिटकॉइन की कीमत 48,192.10 अमेरिकी डॉलर है। भारतीय करंसी में यह 35,12,939.03 रुपए के बराबर है। इसी प्रकार इथेरियम की कीमत 1,770.06 अमेरिकी डॉलर (करीब 1,28,573.28 रुपए) है। (फाइल फोटो)

डॉजकॉइन (Dogecoin) का भाव फिलहाल करीब 0.071 अमेरिकी डॉलर (5.21 रुपया) है। जानकारों का कहना है कि पिछले 24 घंटे में इसमें 17 फीसदी से ज्यादा तेजी देखने को मिली है। हालांकि, बिटकॉइन और इथेरियम की तुलना में यह बहुत कम है। फिलहाल बिटकॉइन की कीमत 48,192.10 अमेरिकी डॉलर है। भारतीय करंसी में यह 35,12,939.03 रुपए के बराबर है। इसी प्रकार इथेरियम की कीमत 1,770.06 अमेरिकी डॉलर (करीब 1,28,573.28 रुपए) है। (फाइल फोटो)

बता दें कि एलन मस्क बिटकॉइन को भी बेहतर क्रिप्टोकरंसी मानते हैं। उन्होंने इसमें बड़े पैमाने पर निवेश किया है और इस क्रिप्टोकरंसी में पेमेंट की मंजूरी दी है। एलन मस्क ने पिछले सप्ताह एक ट्वीट में लिखा था - ‘बिटकॉइन इज ए गुड थिंग।’ उन्होंने अपने ट्विटर बायो में भी बिटकॉइन को एड किया है। इसके बाद बिटकॉइन की कीमतों में उछाल आया था। एलन मस्क डॉजकॉइन को भी प्रमोट करते हैं। (फाइल फोटो)

बता दें कि एलन मस्क बिटकॉइन को भी बेहतर क्रिप्टोकरंसी मानते हैं। उन्होंने इसमें बड़े पैमाने पर निवेश किया है और इस क्रिप्टोकरंसी में पेमेंट की मंजूरी दी है। एलन मस्क ने पिछले सप्ताह एक ट्वीट में लिखा था - ‘बिटकॉइन इज ए गुड थिंग।’ उन्होंने अपने ट्विटर बायो में भी बिटकॉइन को एड किया है। इसके बाद बिटकॉइन की कीमतों में उछाल आया था। एलन मस्क डॉजकॉइन को भी प्रमोट करते हैं। (फाइल फोटो)

किसी भी दूसरी क्रिप्टोकरंसी की तरह डॉजकॉइन (Dogecoin) को क्रिप्टोकरंसी वॉलेट या ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए खरीदा जा सकता है। डॉजकॉइन के लिए डेडिकेटेड वॉलेट भी हैं, जिन्हें स्मार्टफोन के जरिए खरीदा जा सकता है। भारत में BuyUcoin, Bitbns, या Zebpay के जरिए डॉजकॉइन खरीदा जा सकता है। इन प्लेटफॉर्म्स पर क्रिप्टोकरंसी की खरीददारी के पहले केवाईसी (KYC) प्रॉसेस को पूरा करना होता है। (फाइल फोटो)

किसी भी दूसरी क्रिप्टोकरंसी की तरह डॉजकॉइन (Dogecoin) को क्रिप्टोकरंसी वॉलेट या ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए खरीदा जा सकता है। डॉजकॉइन के लिए डेडिकेटेड वॉलेट भी हैं, जिन्हें स्मार्टफोन के जरिए खरीदा जा सकता है। भारत में BuyUcoin, Bitbns, या Zebpay के जरिए डॉजकॉइन खरीदा जा सकता है। इन प्लेटफॉर्म्स पर क्रिप्टोकरंसी की खरीददारी के पहले केवाईसी (KYC) प्रॉसेस को पूरा करना होता है। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios