Asianet News Hindi

शत्रुघ्न सिन्हा का अमिताभ बच्चन को लेकर चौंकाने वाला खुलासा, बताया- दोनों में सालों तक क्यों थी दुश्मनी

First Published Feb 1, 2021, 5:00 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. अमिताभ बच्चन (amitabh bachchan) सुपरस्टार रहे तो शत्रुघ्न सिन्हा (shatrughan sinha)के चाहने वालों की भी कमी नहीं रही। दोनों ने ही अपने जमाने में कई ब्लॉकबस्टर फिल्में दी। इतना ही नहीं दोनों ने कई सुपरहिट फिल्मों में साथ काम भी किया। लेकिन दोनों की दुश्मनी के किस्से भी इंडस्ट्री में कम नहीं रहे। लंबे समय तक दोनों के रिश्तों में खटास रही। इसी बीच शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने हालिया इंटरव्यू में अमिताभ के साथ हुई अनबन पर कई खुलासे किए। उन्होंने बताया कि शुरुआत में कई बड़ी फिल्में उन्हें ऑफर हुई थी। हालांकि, उनके ना कहने के बाद वही फिल्में अमिताभ के हिस्से में चली गई और इन्हीं फिल्मों से उनको सुपरस्टार बना दिया। वैसे, आपको बता दें कि अब दोनों के बीच रिश्ते सुधर गए हैं।

शत्रुघ्न सिन्हा ने इंटरव्यू में खुलासा किया कि उन्हें दीवार, शोले और सत्ते पे सत्ता जैसी चार फिल्में ऑफर हुई थी। लेकिन बाद में ये सभी फिल्में अमिताभ के हिस्से चली गई। जब उनसे पूछा गया कि इन फिल्मों को लेकर अमिताभ के साथ कभी आपका विवाद हुआ। तो उन्होंने इस बात को नकार दिया। 

शत्रुघ्न सिन्हा ने इंटरव्यू में खुलासा किया कि उन्हें दीवार, शोले और सत्ते पे सत्ता जैसी चार फिल्में ऑफर हुई थी। लेकिन बाद में ये सभी फिल्में अमिताभ के हिस्से चली गई। जब उनसे पूछा गया कि इन फिल्मों को लेकर अमिताभ के साथ कभी आपका विवाद हुआ। तो उन्होंने इस बात को नकार दिया। 

उन्होंने कहा- बिल्कुल नहीं। ये सब चीजें होती रहती हैं। काफी बार किसी रोल के लिए किसी इंसान को पसंद किया जाता है लेकिन बाद में वो किसी और के पास चला जाता है। मेकर्स को बाद में महसूस होता है कि कोई और इस किरदार और भी बेहतर तरीके से निभा सकता है। मैं कई फिल्म डेट इश्यूज की वजह से साइन नहीं कर पाया है, जिसमें से शोले एक थी।

उन्होंने कहा- बिल्कुल नहीं। ये सब चीजें होती रहती हैं। काफी बार किसी रोल के लिए किसी इंसान को पसंद किया जाता है लेकिन बाद में वो किसी और के पास चला जाता है। मेकर्स को बाद में महसूस होता है कि कोई और इस किरदार और भी बेहतर तरीके से निभा सकता है। मैं कई फिल्म डेट इश्यूज की वजह से साइन नहीं कर पाया है, जिसमें से शोले एक थी।

उन्होंने बताया- मुझे लगता है कि जय के किरदार के लिए एक्टर को सबसे लास्ट में कास्ट किया गया था। रमेश सिप्पी बहुत उत्सुक थे कि मैं इसे करूं, लेकिन मैं फिल्म को नहीं कर सका। ऐसी चीजें संबंधों को खराब नहीं करती हैं, आज भी रमेश सिप्पी और मैं अच्छे दोस्त हैं।
 

उन्होंने बताया- मुझे लगता है कि जय के किरदार के लिए एक्टर को सबसे लास्ट में कास्ट किया गया था। रमेश सिप्पी बहुत उत्सुक थे कि मैं इसे करूं, लेकिन मैं फिल्म को नहीं कर सका। ऐसी चीजें संबंधों को खराब नहीं करती हैं, आज भी रमेश सिप्पी और मैं अच्छे दोस्त हैं।
 

उन्होंने कहा- मेरे अंदर अमिताभ के खिलाफ कुछ भी नहीं है। मैंने हमेशा उनका सम्मान किया है और उनके लिए मेरे अंदर केवल प्यार, स्नेह और आदर है। फिर भी अगर कोई पूछता है, तो मैं कहता हूं छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी नए दौर में लिखेंगे मिलकर नई कहानी।

उन्होंने कहा- मेरे अंदर अमिताभ के खिलाफ कुछ भी नहीं है। मैंने हमेशा उनका सम्मान किया है और उनके लिए मेरे अंदर केवल प्यार, स्नेह और आदर है। फिर भी अगर कोई पूछता है, तो मैं कहता हूं छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी नए दौर में लिखेंगे मिलकर नई कहानी।

बता दें कि 70 का दशक वो दौर था जब बॉक्स ऑफिस पर अमिताभ बच्चन का जादू चलता था। इसी हंगामे के बीच शत्रुघ्न सिन्हा भी तब तक कालीचरण, विश्वनाथ, जानी दुश्मन और हीरा मोती जैसी फिल्मों से सुपरस्टार बन चुके थे।

बता दें कि 70 का दशक वो दौर था जब बॉक्स ऑफिस पर अमिताभ बच्चन का जादू चलता था। इसी हंगामे के बीच शत्रुघ्न सिन्हा भी तब तक कालीचरण, विश्वनाथ, जानी दुश्मन और हीरा मोती जैसी फिल्मों से सुपरस्टार बन चुके थे।

अमिताभ बच्चन के सुपरस्टार बनने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा के साथ उनकी काला पत्थर पहली फिल्म थी और दोनों के बीच पूरी फिल्म में कभी ट्यूनिंग नहीं बन पाई थी। हालांकि, दोनों इससे पहले फिल्म परवाना में काम कर चुके थे लेकिन फिल्म कुछ खास नहीं चली थी।

अमिताभ बच्चन के सुपरस्टार बनने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा के साथ उनकी काला पत्थर पहली फिल्म थी और दोनों के बीच पूरी फिल्म में कभी ट्यूनिंग नहीं बन पाई थी। हालांकि, दोनों इससे पहले फिल्म परवाना में काम कर चुके थे लेकिन फिल्म कुछ खास नहीं चली थी।

शत्रुघ्न सिन्हा ने किताब में बताया- फिल्म काला पत्थर के एक फाइट सीक्वेंस में अमिताभ बच्चन ने मेरी बुरी तरह पिटाई की थी। वह मुझे तब तक मारते रहे जब तक शशि कपूर ने बीच में आकर हमें अलग नहीं किया। मुझे इस सीन के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया था। और मैं हैरान रह गया था।

शत्रुघ्न सिन्हा ने किताब में बताया- फिल्म काला पत्थर के एक फाइट सीक्वेंस में अमिताभ बच्चन ने मेरी बुरी तरह पिटाई की थी। वह मुझे तब तक मारते रहे जब तक शशि कपूर ने बीच में आकर हमें अलग नहीं किया। मुझे इस सीन के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया था। और मैं हैरान रह गया था।

इतना ही नहीं खबरों की मानें तो फिल्म के सेट पर अमिताभ के बगल वाली चेयर कभी शत्रुघ्न सिन्हा को ऑफर नहीं होती थी। दोनों एक साथ सेट के लिए निकलते थे लेकिन अमिताभ ने कभी शत्रुघ्न को अपने साथ गाड़ी में नहीं बिठाया। फिल्म की शूटिंग के दौरान जो लोग वहां आते थे, वे सब शत्रुघ्न सिन्हा को देखने के लिए ज्यादा उत्सुक रहते थे, इस बात से भी बाकी लोगों को दिक्कत होती थी।

इतना ही नहीं खबरों की मानें तो फिल्म के सेट पर अमिताभ के बगल वाली चेयर कभी शत्रुघ्न सिन्हा को ऑफर नहीं होती थी। दोनों एक साथ सेट के लिए निकलते थे लेकिन अमिताभ ने कभी शत्रुघ्न को अपने साथ गाड़ी में नहीं बिठाया। फिल्म की शूटिंग के दौरान जो लोग वहां आते थे, वे सब शत्रुघ्न सिन्हा को देखने के लिए ज्यादा उत्सुक रहते थे, इस बात से भी बाकी लोगों को दिक्कत होती थी।

शत्रुघ्न मानते हैं कि 70 के दशक में बॉलीवुड में उनका कद अमिताभ बच्चन से बड़ा था। इस कारण ही दोस्ती में दरार पड़ी। अपनी किताब में शत्रु लिखते हैं- तब लोग कहते थे कि अमिताभ और मेरी ऑनस्क्रीन जोड़ी सुपरहिट है, पर वो मेरे साथ काम नहीं करना चाहते थे। उनको लगता था कि 'नसीब', 'काला पत्थर', 'शान' और 'दोस्ताना' में मैं उनपर भारी पड़ गया, लेकिन इससे मुझे कभी फर्क नहीं पड़ा।

शत्रुघ्न मानते हैं कि 70 के दशक में बॉलीवुड में उनका कद अमिताभ बच्चन से बड़ा था। इस कारण ही दोस्ती में दरार पड़ी। अपनी किताब में शत्रु लिखते हैं- तब लोग कहते थे कि अमिताभ और मेरी ऑनस्क्रीन जोड़ी सुपरहिट है, पर वो मेरे साथ काम नहीं करना चाहते थे। उनको लगता था कि 'नसीब', 'काला पत्थर', 'शान' और 'दोस्ताना' में मैं उनपर भारी पड़ गया, लेकिन इससे मुझे कभी फर्क नहीं पड़ा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios