Asianet News Hindi

Fact Check: ‘boycott China’ के बीच भारत में खुलेगी पहली बैंक ऑफ चाइना? जानें वायरल पोस्ट का सच

First Published Jun 26, 2020, 3:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फैक्ट चेक डेस्क. लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के साथ खूनी संघर्ष में 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद भारत में चीन विरोधी भावना अपने चरम पर है। boycott China, boycott Chinese products, boycott Chinese Apps, boycott Tik Tok, hate China जैसे ट्रेंड चल रहे हैं। पूरे देश में चीन के बहिष्कार की खबरें जोर पर हैं।  इसी बीच, सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि चीनी उत्पादों और सेवाओं के बहिष्कार के आह्वान के बावजूद बैंक ऑफ चाइना मुंबई में अपनी पहली भारतीय शाखा खोलने जा रहा है। एएनआई न्यूज एजेंसी की का एक स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है।

 

फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि क्या भारत में बैंक ऑफ चाइना (Bank Of China Opening Fact Check) खुलने जा रहा है? 

चीन और भारत के सीमा विवाद के बीच चीनी बैंक भारत में खुलने की खबर सच मान लोग सोशल मीडिया पर शेयर करने लगे हैं। 

चीन और भारत के सीमा विवाद के बीच चीनी बैंक भारत में खुलने की खबर सच मान लोग सोशल मीडिया पर शेयर करने लगे हैं। 

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

फेसबुक पर वायरल हो रही इस पोस्ट में समाचार एजेंसी ANI के एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट भी चस्पा है, जिसमें लिखा है, “भारत में चीन के बैंक ऑफ चाइना के संचालन के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने लाइसेंस जारी किया है। पीएम मोदी ने चीनी नेतृत्व के समक्ष ऐसी प्रतिबद्धता जताई थी: सूत्र”

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

फेसबुक पर वायरल हो रही इस पोस्ट में समाचार एजेंसी ANI के एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट भी चस्पा है, जिसमें लिखा है, “भारत में चीन के बैंक ऑफ चाइना के संचालन के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने लाइसेंस जारी किया है। पीएम मोदी ने चीनी नेतृत्व के समक्ष ऐसी प्रतिबद्धता जताई थी: सूत्र”

क्या दावा किया जा रहा है

 

वायरल पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि भारत और चीन के बीच सीमा विवाद चल रहा है, पूरे देश में चीन के बहिष्कार की बात हो रही है। विरोध प्रदर्शन जारी हैं। भारत ने अपने 20 वीर सपूत खो दिए इस बीच केंद्र सरकार देश में चीन की बैंक ब्रांच खोलने को केसै तैयार है? 

क्या दावा किया जा रहा है

 

वायरल पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि भारत और चीन के बीच सीमा विवाद चल रहा है, पूरे देश में चीन के बहिष्कार की बात हो रही है। विरोध प्रदर्शन जारी हैं। भारत ने अपने 20 वीर सपूत खो दिए इस बीच केंद्र सरकार देश में चीन की बैंक ब्रांच खोलने को केसै तैयार है? 

फैक्ट चेक

 

पोस्ट में किया जा रहा दावा गलत है, यह घटनाक्रम पुराना है जिसे भारत और चीन के बीच हुए। सीमा संघर्ष के मद्देनजर फिर से उछाला गया है। बैंक ऑफ चाइना ने मुंबई में अपनी पहली भारतीय शाखा पिछले साल ही खोल ली थी। ANI का ट्वीट दो साल पुराना है, लेकिन वायरल पोस्ट में इसकी तारीख को क्रॉप करके हटा दिया गया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंक ऑफ चाइना को लाइसेंस 2018 में जारी किया था। कई फेसबुक यूजर्स ने इस पोस्ट को यह मानकर शेयर किया है कि यह घटनाक्रम हाल-फिलहाल का है।

फैक्ट चेक

 

पोस्ट में किया जा रहा दावा गलत है, यह घटनाक्रम पुराना है जिसे भारत और चीन के बीच हुए। सीमा संघर्ष के मद्देनजर फिर से उछाला गया है। बैंक ऑफ चाइना ने मुंबई में अपनी पहली भारतीय शाखा पिछले साल ही खोल ली थी। ANI का ट्वीट दो साल पुराना है, लेकिन वायरल पोस्ट में इसकी तारीख को क्रॉप करके हटा दिया गया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंक ऑफ चाइना को लाइसेंस 2018 में जारी किया था। कई फेसबुक यूजर्स ने इस पोस्ट को यह मानकर शेयर किया है कि यह घटनाक्रम हाल-फिलहाल का है।

सच क्या है? 

 

कीवर्ड्स सर्च की मदद से हमें भारत में बैंक ऑफ चाइना की पहली ब्रांच के बारे में कुछ न्यूज आर्टिकल्स मिले। इन न्यूज आर्टिकल्स के अनुसार, भारत में बैंक ऑफ चाइना की पहली ब्रांच साल 2019 में मुंबई में खोली गई थी। एडवांस ट्वीट सर्च की मदद से हमने पाया कि वायरल हो रहे दावे पर एएनआई का जो ट्वीट सुपरइंपोज किया गया है, वह दो साल पहले ट्वीट किया गया था।

 

4 जुलाई, 2018 को एएनआई ने ट्वीट किया था कि आरबीआई ने भारत में बैंक ऑफ चाइना की ब्रांच संचालित करने के लिए लाइसेंस जारी किया है। “हिंदुस्तान टाइम्स ” ने भी 4 जुलाई, 2018 को इस बारे में खबर प्रकाशित की थी। 

 

रिपोर्ट कहती है कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले महीने चीन के शहर किंगदाओ में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिले थे और बैंक ऑफ चाइना को भारत में शाखाएं खोलने की अनुमति देने की प्रतिबद्धता जताई थी।”

सच क्या है? 

 

कीवर्ड्स सर्च की मदद से हमें भारत में बैंक ऑफ चाइना की पहली ब्रांच के बारे में कुछ न्यूज आर्टिकल्स मिले। इन न्यूज आर्टिकल्स के अनुसार, भारत में बैंक ऑफ चाइना की पहली ब्रांच साल 2019 में मुंबई में खोली गई थी। एडवांस ट्वीट सर्च की मदद से हमने पाया कि वायरल हो रहे दावे पर एएनआई का जो ट्वीट सुपरइंपोज किया गया है, वह दो साल पहले ट्वीट किया गया था।

 

4 जुलाई, 2018 को एएनआई ने ट्वीट किया था कि आरबीआई ने भारत में बैंक ऑफ चाइना की ब्रांच संचालित करने के लिए लाइसेंस जारी किया है। “हिंदुस्तान टाइम्स ” ने भी 4 जुलाई, 2018 को इस बारे में खबर प्रकाशित की थी। 

 

रिपोर्ट कहती है कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले महीने चीन के शहर किंगदाओ में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिले थे और बैंक ऑफ चाइना को भारत में शाखाएं खोलने की अनुमति देने की प्रतिबद्धता जताई थी।”

ये निकला नतीजा

 

इसलिए यह दावा भ्रामक है कि भारत और चीन के बीच तनाव के दौरान बैंक ऑफ चाइना मुंबई में अपनी पहली भारतीय ब्रांच खोलने जा रहा है। भारत में बैंक ऑफ चाइना की ब्रांच पिछले साल खुली थी और लाइसेंस दो साल पहले जारी किया गया था। ये न्यूज हाल-फिलहाल के घटनाक्रम से जोड़कर फर्जी दावों के साथ शेयर की जा रही है। 
 

ये निकला नतीजा

 

इसलिए यह दावा भ्रामक है कि भारत और चीन के बीच तनाव के दौरान बैंक ऑफ चाइना मुंबई में अपनी पहली भारतीय ब्रांच खोलने जा रहा है। भारत में बैंक ऑफ चाइना की ब्रांच पिछले साल खुली थी और लाइसेंस दो साल पहले जारी किया गया था। ये न्यूज हाल-फिलहाल के घटनाक्रम से जोड़कर फर्जी दावों के साथ शेयर की जा रही है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios