Asianet News Hindi

Fact Check: भारत में भारी डिमांड देख चीन ने बेचे अपने ही बहिष्कार के टीशर्ट और कैप्स? जानें सच

First Published Jun 24, 2020, 2:58 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली: Boycott China Tshirts And Caps Fact Check: लद्दाख की गैलवान घाटी में चीन और भारत के बीच हालिया हिंसक झड़प के बाद, चीनी सामानों सहित "बॉयकॉट चीन" की बात हो रही है। सोशल मीडिया पर एक संदेश वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया गया है कि चीन में 'बॉयकॉट चाइना' के नारे के साथ टी-शर्ट और कैप का उत्पादन किया जा रहा है। चीन के बहिष्कार के प्रॉडक्ट चीन में ही बनाए जा रहे हैं।  

 

फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि आखिर सच क्या है? 

कुछ फेसबुक और ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने टी-शर्ट और कैप की तस्वीरें साझा की हैं और दावा किया है कि वे भारत में हाई डिमांड के होने के कारण चीन ने अपने ही बायकॉट के प्रॉडक्ट बनाकर मुनाफा कमाना शुरू दिया है।

कुछ फेसबुक और ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने टी-शर्ट और कैप की तस्वीरें साझा की हैं और दावा किया है कि वे भारत में हाई डिमांड के होने के कारण चीन ने अपने ही बायकॉट के प्रॉडक्ट बनाकर मुनाफा कमाना शुरू दिया है।

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

चीन के विरोध के बाद से सोशल मीडिया पर #Boycott China लिखे कपड़ों की तस्वीरें शेयर की जा रही हैं। पोस्ट में लिखा है कि, चीन भारत में बायकाट चीन की भारी डिमांड देख चीन ने "टी-शर्ट और कैप्स" बनाकर बिक्री शुरू दी हैं। 

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

चीन के विरोध के बाद से सोशल मीडिया पर #Boycott China लिखे कपड़ों की तस्वीरें शेयर की जा रही हैं। पोस्ट में लिखा है कि, चीन भारत में बायकाट चीन की भारी डिमांड देख चीन ने "टी-शर्ट और कैप्स" बनाकर बिक्री शुरू दी हैं। 

क्या दावा किया जा रहा है? 

 

सोशल मीडिया पर दावा किया गया कि, चीन इतना शातिर है कि Boycott China लिखे टीशर्ट और कैप्स बेचने के लिए बना डाले। पिछले कुछ दिनों से ऐसी टोपियों और टीशर्ट्स की तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनपर ‘Boycott Chinese Products’, ‘Boycott China’, ‘Spit On China’  और ‘Hate China’ लिखा हुआ है। इन टीशर्ट्स पर निर्माता की स्लिप पर ‘Made in China’ लिखा हुआ दिखाई दे रहा है। बता दें कि ये प्रॉडक्ट्स कुछ ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट्स पर भी बिक रहे हैं।

क्या दावा किया जा रहा है? 

 

सोशल मीडिया पर दावा किया गया कि, चीन इतना शातिर है कि Boycott China लिखे टीशर्ट और कैप्स बेचने के लिए बना डाले। पिछले कुछ दिनों से ऐसी टोपियों और टीशर्ट्स की तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनपर ‘Boycott Chinese Products’, ‘Boycott China’, ‘Spit On China’  और ‘Hate China’ लिखा हुआ है। इन टीशर्ट्स पर निर्माता की स्लिप पर ‘Made in China’ लिखा हुआ दिखाई दे रहा है। बता दें कि ये प्रॉडक्ट्स कुछ ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट्स पर भी बिक रहे हैं।

फैक्ट चेक

 

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने सोमवार को कहा कि ‘Boycott China’ लिखीं टोपियां और टीशर्ट उनके देश में नहीं बनी हैं। अखबार ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं इन टोपियों, टीशर्ट और बैनर्स की तस्वीरें फर्जी है।

 

ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, ऐसा हो सकता है कि भारतीय कारोबारियों ने इनका आयात चीन से किया हो और बाद में उनके ऊपर ‘Boycott China’ प्रिंट कर दिया हो। अखबार ने कहा कि यह ‘कॉमन सेंस’ की बात है कि चीन में इसका निर्माण या निर्यात करते हुए पकड़े जाने पर सजा का प्रावधान है।

फैक्ट चेक

 

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने सोमवार को कहा कि ‘Boycott China’ लिखीं टोपियां और टीशर्ट उनके देश में नहीं बनी हैं। अखबार ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं इन टोपियों, टीशर्ट और बैनर्स की तस्वीरें फर्जी है।

 

ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, ऐसा हो सकता है कि भारतीय कारोबारियों ने इनका आयात चीन से किया हो और बाद में उनके ऊपर ‘Boycott China’ प्रिंट कर दिया हो। अखबार ने कहा कि यह ‘कॉमन सेंस’ की बात है कि चीन में इसका निर्माण या निर्यात करते हुए पकड़े जाने पर सजा का प्रावधान है।

व्यंग वेबसाइट है Fauxy 

 

ग्लोबल टाइम्स ने कहा, ‘इंटरनेट पर कुछ ऐसी तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनमें Boycott China लिखे टीशर्ट एवं टोपियों पर ‘मेड इन चाइना’ का टैग लगा है। ऐसा लगा है कि यह भारत के उन राष्ट्रवादियों के लिए बनाए गए उत्पाद लगते हैं, जो चीन के प्रति अपनी दुश्मनी का इजहार करना चाहते हैं। देश के लीगल एक्सपर्ट्स का कहना है कि चीन में इस तरह के उत्पाद तैयार करना या फिर उनका निर्यात करना दंडनीय है। हमारे टेक्स्टाइल प्रॉडक्ट एक्सपोर्टर्स ने भी इनके निर्माण या निर्यात की बात से इनकार किया है।’ वहीं जिस वेबसाइट से ये तस्वीरें वायरल हो रही हैं वो एक सैटायर यानि व्यंग करने वाली वेबसाइट होने का दावा करती है। 

व्यंग वेबसाइट है Fauxy 

 

ग्लोबल टाइम्स ने कहा, ‘इंटरनेट पर कुछ ऐसी तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनमें Boycott China लिखे टीशर्ट एवं टोपियों पर ‘मेड इन चाइना’ का टैग लगा है। ऐसा लगा है कि यह भारत के उन राष्ट्रवादियों के लिए बनाए गए उत्पाद लगते हैं, जो चीन के प्रति अपनी दुश्मनी का इजहार करना चाहते हैं। देश के लीगल एक्सपर्ट्स का कहना है कि चीन में इस तरह के उत्पाद तैयार करना या फिर उनका निर्यात करना दंडनीय है। हमारे टेक्स्टाइल प्रॉडक्ट एक्सपोर्टर्स ने भी इनके निर्माण या निर्यात की बात से इनकार किया है।’ वहीं जिस वेबसाइट से ये तस्वीरें वायरल हो रही हैं वो एक सैटायर यानि व्यंग करने वाली वेबसाइट होने का दावा करती है। 

ये निकला नतीजा 

 

जब इनकी तस्वीरें वायरल हुईं तो चीन के सरकारी मीडिया ने अपने देश में ‘Boycott Chinese Products’, ‘Boycott China’, ‘Spit On China’  और ‘Hate China’ स्लोगन लिखे इन प्रॉडक्ट्स के निर्माण की बात से इनकार कर दिया चीन के बहिष्कार के ये सभी प्रॉडक्ट चीन में नहीं बने हैं। इसके अलावा पूरे देश में चीन के विरोध में काफी विरोध प्रदर्शन हुए हैं। 

ये निकला नतीजा 

 

जब इनकी तस्वीरें वायरल हुईं तो चीन के सरकारी मीडिया ने अपने देश में ‘Boycott Chinese Products’, ‘Boycott China’, ‘Spit On China’  और ‘Hate China’ स्लोगन लिखे इन प्रॉडक्ट्स के निर्माण की बात से इनकार कर दिया चीन के बहिष्कार के ये सभी प्रॉडक्ट चीन में नहीं बने हैं। इसके अलावा पूरे देश में चीन के विरोध में काफी विरोध प्रदर्शन हुए हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios