Fact Check: कोरोना का खौफ, खांसते लोगों को गोली मार रहे चीनी सैनिक, जानें सच

First Published 14, Feb 2020, 1:11 PM IST

बीजिंग. चीन में फैले जानलेवा कोरोना वायरस से 12 फरवरी 2020 तक करीब 1 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 45 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित बताए जा रहे हैं। इस बीच सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस को लेकर तरह-तरह के दावे हो रहे हैं। कभी कोरोना के इलाज को लेकर कोई दवा का खुलासा हो रहा है तो कभी कोरोना के चमगादड़ से फैलने की बात कही जा रही है। इस बीचो कोरोना को लेकर नया दावा सामने आ रहा है। दरअसल ट्विटर पर दावा किया जा रहा है कि, कोरोना से संक्रमित लोगों को चीन सरकार में तुरंत खत्म कर दिया जा रहा है। ये लोग जॉम्बी बन दूसरों को भी कोरोना फैला देंगे इस लिए बचाव के तौर पर चीनी सैनिक संक्रमित मरीजों को गोली मार रहे हैं। सोशल मीडिया पर इन वीडियोज और फोटो कोहराम मचा रखा है। आइए जानते हैं कि इनमें कितनी सच्चाई है?  

कोरोना वायरस ने अब तक चीन, फ्रांस, कनाडा, अमेरिका जैसे देशों में भी पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। इस वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। वायरस इतना जानलेवा है कि मरीज इसके संपर्क में आते ही भयंकर बीमार हो जा रहा है। इस वजह से संक्रमित लोगों को एक दूसरे से दूर रहने और मास्क पहनने की सख्त हिदायत दी गई है।

कोरोना वायरस ने अब तक चीन, फ्रांस, कनाडा, अमेरिका जैसे देशों में भी पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। इस वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। वायरस इतना जानलेवा है कि मरीज इसके संपर्क में आते ही भयंकर बीमार हो जा रहा है। इस वजह से संक्रमित लोगों को एक दूसरे से दूर रहने और मास्क पहनने की सख्त हिदायत दी गई है।

कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या लगातार बढ़ने पर है। ऐसे में सोशल मीडिया पर कुछ वीडियोज के साथ दावा किया जा रहा है कि, चीन में कोरोना के रोगी तुरंत खत्म किए जा रहे हैं। वायरस का प्रकोप और ज्यादा लोगों में न फैले इसलिए बचाव का ये खौफनाक तरीका सरकार अपना रही है।

कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या लगातार बढ़ने पर है। ऐसे में सोशल मीडिया पर कुछ वीडियोज के साथ दावा किया जा रहा है कि, चीन में कोरोना के रोगी तुरंत खत्म किए जा रहे हैं। वायरस का प्रकोप और ज्यादा लोगों में न फैले इसलिए बचाव का ये खौफनाक तरीका सरकार अपना रही है।

वायरल हो रहे क्लिप के साथ दावा किया जा रहा है कि, करीब 25,000 लोगों को अब तक चीनी सैनिक मार चुके हैं, ये सभी कोरोना वायरस से संक्रमित थे। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि, सशस्त्र पुलिस कर्मी किस तरह लोगों कोगलियों में ढूंढ़-ढूंढ़कर गोली से उड़ा रहे हैं। वीडियो में महिलाएं चीख-चिल्ला रही हैं। वहीं बहुत से शव जमीन पर पड़े हैं।

वायरल हो रहे क्लिप के साथ दावा किया जा रहा है कि, करीब 25,000 लोगों को अब तक चीनी सैनिक मार चुके हैं, ये सभी कोरोना वायरस से संक्रमित थे। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि, सशस्त्र पुलिस कर्मी किस तरह लोगों कोगलियों में ढूंढ़-ढूंढ़कर गोली से उड़ा रहे हैं। वीडियो में महिलाएं चीख-चिल्ला रही हैं। वहीं बहुत से शव जमीन पर पड़े हैं।

इन तस्वीरें और वीडियोज के साथ दावा किया गया है कि चीनी सरकार अब वुहान में कोरोनोवायरस से संक्रमित लोगों को मार रही है। वायरस को दूसरे में फैलने से रोकने के लिए संक्रमित लोगों को मारा जा रहा है। हालांकि इस वीडियो को लेकर जब हमने फैक्ट चेकिंग की तो माजरा कुछ और ही निकला।

इन तस्वीरें और वीडियोज के साथ दावा किया गया है कि चीनी सरकार अब वुहान में कोरोनोवायरस से संक्रमित लोगों को मार रही है। वायरस को दूसरे में फैलने से रोकने के लिए संक्रमित लोगों को मारा जा रहा है। हालांकि इस वीडियो को लेकर जब हमने फैक्ट चेकिंग की तो माजरा कुछ और ही निकला।

दरअसल वायरल हो रहे ये वीडियो कोरोना संक्रमित रोगियों को मारने के नहीं है। हमने गूगल सर्च में पाया कि, ये वीडियो इस वीडियो को लेकर खुद चीनी पुलिस ने बयान जारी किया। सीजीटीएन की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि वीडियो के अलग-अलग दृश्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है जबकि अधिकारी उस इलाके में एक पागल कुत्ते को पकड़ने गई थी जो लोगों को काट-काटकर घायल कर रहा था। ये एक पुराना वीडियो है।

दरअसल वायरल हो रहे ये वीडियो कोरोना संक्रमित रोगियों को मारने के नहीं है। हमने गूगल सर्च में पाया कि, ये वीडियो इस वीडियो को लेकर खुद चीनी पुलिस ने बयान जारी किया। सीजीटीएन की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि वीडियो के अलग-अलग दृश्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है जबकि अधिकारी उस इलाके में एक पागल कुत्ते को पकड़ने गई थी जो लोगों को काट-काटकर घायल कर रहा था। ये एक पुराना वीडियो है।

इसके अलावा दूसरा एक आग लगने की घटना का वीडियो इसमें जोड़ दिया गया। दो वीडियो मर्ज करके सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर फर्जी दावे किए जा रहे हैं।

इसके अलावा दूसरा एक आग लगने की घटना का वीडियो इसमें जोड़ दिया गया। दो वीडियो मर्ज करके सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर फर्जी दावे किए जा रहे हैं।

इससे पहले भी सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर कई तरह की भ्रामक जानकारी फैलाई गई है। जैसे- भांग को कोरोना के इलाज में रामबाण बताया गया, लहसुन के उबले पानी को पीने से कोरोना में आराम मिलेगा जैसे दावे किए गए जो फर्जी निकले।

इससे पहले भी सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर कई तरह की भ्रामक जानकारी फैलाई गई है। जैसे- भांग को कोरोना के इलाज में रामबाण बताया गया, लहसुन के उबले पानी को पीने से कोरोना में आराम मिलेगा जैसे दावे किए गए जो फर्जी निकले।

बीते दिनों कहा गया कि, कोरोना से संक्रमित रोगियों को चीनी सरकार मार डालेगी ये भी दावा पूरी तरह फर्जी निकला। चीन के वुहान शहर के मांस बाजार के झूठे दावे से भी एक वीडियो वायरल हुआ जबकि असल में वो वीडियो इंडोनेशिया का था।

बीते दिनों कहा गया कि, कोरोना से संक्रमित रोगियों को चीनी सरकार मार डालेगी ये भी दावा पूरी तरह फर्जी निकला। चीन के वुहान शहर के मांस बाजार के झूठे दावे से भी एक वीडियो वायरल हुआ जबकि असल में वो वीडियो इंडोनेशिया का था।

loader