लॉकडाउन तोड़ ईद की शॉपिंग करने निकले लोग, कोरोना बम फोड़ने की तैयारी? जानें वायरल वीडियो का सच

First Published 24, May 2020, 4:31 PM

नई दिल्ली.  रमजान खत्म हो गए हैं और इस पूरे चांद दिखने के बाद आज कहीं ईद मनाई जा रही है तो कहीं नहीं। हालांकि अधिकतर लोग 25 मई को लोग ईद मनाने वाले हैं। लॉकडाउन के बीच पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया में एक वीडियो शेयर हो रहा है जिसमें लोगों से खचाखच भरा एक मार्केट दिख रहा है। वीडियो को हैदराबाद का बताते हुए लोग लॉकडाउन पर सवाल उठा रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि ईद की खरीदारी करने के लिए काफ़ी भारी संख्या में लोग मार्केट में उमड़ आए हैं और सरेआम सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा रहे हैं। एक ही वीडियो को लोग कभी दिल्ली तो कभी हैदराबाद में ईद की शॉपिंग का बता रहे हैं। 

 

फैक्ट चेकिं में हमने इस वीडियो की सच्चाई जानने की कोशिश की- 

<p>यूज़र्स इस वीडियो को शेयर कर दावा कर रहे हैं कि हैदराबाद में लॉकडाउन की धज्जियां उड़ रही हैं। ये वीडियो भारत से लेकर पाकिस्तान तक जमकर वायरल हो रहा है लेकिन असलियत हम आपको बताएंगे। </p>

यूज़र्स इस वीडियो को शेयर कर दावा कर रहे हैं कि हैदराबाद में लॉकडाउन की धज्जियां उड़ रही हैं। ये वीडियो भारत से लेकर पाकिस्तान तक जमकर वायरल हो रहा है लेकिन असलियत हम आपको बताएंगे। 

<p><strong>वायरल पोस्ट क्या है? </strong></p>

<p> </p>

<p>दिनेश सिंह हज़ारी ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए इसे हैदराबाद का बताया है। ये वीडियो फ़ेसबुक पर पोस्ट किया था जिसे डिलीट किये जाने से पहले तक 8,700 बार देखा गया था। ये वीडियो यूट्यूब पर इसी दावे से अपलोड किया गया है। </p>

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

दिनेश सिंह हज़ारी ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए इसे हैदराबाद का बताया है। ये वीडियो फ़ेसबुक पर पोस्ट किया था जिसे डिलीट किये जाने से पहले तक 8,700 बार देखा गया था। ये वीडियो यूट्यूब पर इसी दावे से अपलोड किया गया है। 

<p><strong>क्या दावा किया जा रहा है? </strong></p>

<p> </p>

<p>ट्विटर यूज़र इशिता यादव ने इस वीडियो को दिल्ली के चांदनी चौक का बताते हुए ट्वीट किया था। यादव ने अब इस ट्वीट को डिलीट कर दिया है लेकिन ट्वीट के स्क्रीनशॉट को आप नीचे देख सकते है। इसके अलावा, ट्विटर यूज़र जनमजीत शंकर सिन्हा ने ये वीडियो ट्वीट किया। सिन्हा के इस ट्वीट को डिलीट किये जाने से पहले तक 8 हज़ार से ज़्यादा बार देखा गया था। इसके अलावा, ये वीडियो अहमदाबाद के ढालगरवाड़ मार्केट का बताकर भी शेयर हो रहा है। </p>

क्या दावा किया जा रहा है? 

 

ट्विटर यूज़र इशिता यादव ने इस वीडियो को दिल्ली के चांदनी चौक का बताते हुए ट्वीट किया था। यादव ने अब इस ट्वीट को डिलीट कर दिया है लेकिन ट्वीट के स्क्रीनशॉट को आप नीचे देख सकते है। इसके अलावा, ट्विटर यूज़र जनमजीत शंकर सिन्हा ने ये वीडियो ट्वीट किया। सिन्हा के इस ट्वीट को डिलीट किये जाने से पहले तक 8 हज़ार से ज़्यादा बार देखा गया था। इसके अलावा, ये वीडियो अहमदाबाद के ढालगरवाड़ मार्केट का बताकर भी शेयर हो रहा है। 

<p><strong>फ़ैक्ट-चेक</strong></p>

<p> </p>

<p>वीडियो के फ़्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च करने पर ट्विटर हैन्डल ‘@MishaalShaheen’ द्वारा शेयर किया गया ये वीडियो मिला, यूज़र का दावा है कि ये वीडियो पाकिस्तान में फ़ैसलाबाद के अनारकली बाज़ार का है। यूज़र ने बताया है कि लोग कोरोना वायरस के डर को भूल कर ईद की शॉपिंग कर रहे हैं। आगे की-वर्ड्स सर्च से हमने पाया कि पाकिस्तान का बताते हुए ये वीडियो खूब शेयर किया जा रहा है, पाकिस्तान के पत्रकार वकास ने ये वीडियो 18 मई 2020 को ट्वीट किया था।  <br />
 </p>

फ़ैक्ट-चेक

 

वीडियो के फ़्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च करने पर ट्विटर हैन्डल ‘@MishaalShaheen’ द्वारा शेयर किया गया ये वीडियो मिला, यूज़र का दावा है कि ये वीडियो पाकिस्तान में फ़ैसलाबाद के अनारकली बाज़ार का है। यूज़र ने बताया है कि लोग कोरोना वायरस के डर को भूल कर ईद की शॉपिंग कर रहे हैं। आगे की-वर्ड्स सर्च से हमने पाया कि पाकिस्तान का बताते हुए ये वीडियो खूब शेयर किया जा रहा है, पाकिस्तान के पत्रकार वकास ने ये वीडियो 18 मई 2020 को ट्वीट किया था।  
 

<p>इसके अलावा, कई पाकिस्तानी यूज़र्स भी ये वीडियो अनारकली बाज़ार का बताते हुए शेयर कर रहे हैं। पाकिस्तान के एक यूज़र अमन राजपूत ने भी ये वीडियो 18 मई को फ़ैसलाबाद के अनारकली बाजार का बताकर ट्वीट किया है। उन्होंने 19 मई को भी इसी बाजार का एक और वीडियो शेयर किया है। अमन राजपूत ने ट्विटर बायो में खुद को पत्रकार बताया है। साथ ही उन्होंने लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट के आर्डर के अनुसार बाज़ार खुला है, जिसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग भूल कर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। </p>

इसके अलावा, कई पाकिस्तानी यूज़र्स भी ये वीडियो अनारकली बाज़ार का बताते हुए शेयर कर रहे हैं। पाकिस्तान के एक यूज़र अमन राजपूत ने भी ये वीडियो 18 मई को फ़ैसलाबाद के अनारकली बाजार का बताकर ट्वीट किया है। उन्होंने 19 मई को भी इसी बाजार का एक और वीडियो शेयर किया है। अमन राजपूत ने ट्विटर बायो में खुद को पत्रकार बताया है। साथ ही उन्होंने लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट के आर्डर के अनुसार बाज़ार खुला है, जिसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग भूल कर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। 

<p><strong>ये निकला नतीजा </strong></p>

<p> </p>

<p>इस तरह पाकिस्तान के बाज़ार में सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो नहीं किए जाने का वीडियो हैदराबाद का बताते हुए शेयर हो रहा है। पहले भी 5 साल पुराने पाकिस्तान के वीडियो को शेयर कर मुस्लिम महिलाओं द्वारा लॉकडाउन में खरीदारी करने का झूठा दावा किया गया था। <br />
 </p>

ये निकला नतीजा 

 

इस तरह पाकिस्तान के बाज़ार में सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो नहीं किए जाने का वीडियो हैदराबाद का बताते हुए शेयर हो रहा है। पहले भी 5 साल पुराने पाकिस्तान के वीडियो को शेयर कर मुस्लिम महिलाओं द्वारा लॉकडाउन में खरीदारी करने का झूठा दावा किया गया था। 
 

loader