Fact Check: तमिलनाडु में पुलिस कस्टडी में बाप-बेटे की मौत के दावे से वायरल हुआ वीडियो, जानें सच

First Published 28, Jun 2020, 4:37 PM

फैक्ट चेक डेस्क. Tamilnadu Father Son Death In Police Custody Viral video Fact Check: तमिलनाडु के तूतीकोरिन में पुलिस ने 19 जून 2020 को एक पिता-पुत्र को गिरफ़्तार किया था जिसके 4 दिन बाद न्यायिक हिरासत में इन दोनों की मौत हो गई थी। मीडिया में ये खबरें तेजी से रिपोर्ट की जा रही हैं और पूरे देश में मामले पर लोगों का गुस्सा फूट रहा है। पुलिस पर आरोप हैं कि दोनों बाप-बेटे के साथ बर्बता की गई। थाने में दोनों को बेरहमी से पीटा गया और उनके प्राइवेट तक तहस-नहस कर दिए गए। इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में एक शख्स को रस्सी से लटकाकर पीटा जा रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स का दावा है कि ये वीडियो तमिलनाडु मामले से जुड़ा है। 

 

फैक्ट चेकिंग में हम इस वीडियो की जांच-पड़ताल कर रहे हैं- 

<p>रिपोर्ट के मुताबिक, ये बाप-बेटे एक मोबाईल की दुकान चलाते थे। एक दिन पुलिस उन्हें पकड़ कर ले गई। उनपर आरोप लगाया गया कि वो निर्धारित समय से ज़्यादा देर तक दुकान चलाते हैं। पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद इन दोनों की काफ़ी पिटाई की। पिटाई के बाद इन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया लेकिन गंभीर चोटों के कारण उनकी मौत गई। पुलिस पिटाई के कारण कुछ दिन बाद ही दोनों की मौत हो गई। हालांकि पुलिस ने मौत का कारण बुखार और हार्ट अटैक दिया। इस मामले में 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है।तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामि ने इस मामले में खेद जताया है।</p>

रिपोर्ट के मुताबिक, ये बाप-बेटे एक मोबाईल की दुकान चलाते थे। एक दिन पुलिस उन्हें पकड़ कर ले गई। उनपर आरोप लगाया गया कि वो निर्धारित समय से ज़्यादा देर तक दुकान चलाते हैं। पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद इन दोनों की काफ़ी पिटाई की। पिटाई के बाद इन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया लेकिन गंभीर चोटों के कारण उनकी मौत गई। पुलिस पिटाई के कारण कुछ दिन बाद ही दोनों की मौत हो गई। हालांकि पुलिस ने मौत का कारण बुखार और हार्ट अटैक दिया। इस मामले में 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है।तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामि ने इस मामले में खेद जताया है।

<p><strong>वायरल पोस्ट क्या है? </strong></p>

<p> </p>

<p>इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फुट पड़ा. इस मामले में आरोपी पुलिसकर्मियों को सख़्त से सख़्त सज़ा देने की मांग होने लगी। इसी बीच ट्विटर हैन्डल ‘@DMK4TN’ ने 27 जून 2020 को तमिलनाडु के तूतीकोरिन की घटना का बताते हुए एक वीडियो शेयर किया। वीडियो में कुछ लोग एक व्यक्ति को छत से लटकाकर उसकी पिटाई कर रहे हैं और उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाल रहे है।</p>

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फुट पड़ा. इस मामले में आरोपी पुलिसकर्मियों को सख़्त से सख़्त सज़ा देने की मांग होने लगी। इसी बीच ट्विटर हैन्डल ‘@DMK4TN’ ने 27 जून 2020 को तमिलनाडु के तूतीकोरिन की घटना का बताते हुए एक वीडियो शेयर किया। वीडियो में कुछ लोग एक व्यक्ति को छत से लटकाकर उसकी पिटाई कर रहे हैं और उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाल रहे है।

<p><strong>क्या दावा किया जा रहा है? </strong></p>

<p> </p>

<p>वायरल वीडियो की संवेदनशीलता को देखते हुए हम इसे नहीं दिखा रहे हैं। वीडियो के साथ दावा है कि ये तमिलनाडु के हाल-फिलहाल मामले का लीक वीडियो है। जिसमें पुलिस कस्टडी में पिता और बेटे को पुलिस पीट रही है। आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 6,600 बार देखा और 200 से ज़्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है। फ़ेसबुक पर ये वीडियो इसी दावे से काफ़ी शेयर किया जा रहा है।</p>

क्या दावा किया जा रहा है? 

 

वायरल वीडियो की संवेदनशीलता को देखते हुए हम इसे नहीं दिखा रहे हैं। वीडियो के साथ दावा है कि ये तमिलनाडु के हाल-फिलहाल मामले का लीक वीडियो है। जिसमें पुलिस कस्टडी में पिता और बेटे को पुलिस पीट रही है। आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 6,600 बार देखा और 200 से ज़्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है। फ़ेसबुक पर ये वीडियो इसी दावे से काफ़ी शेयर किया जा रहा है।

<p><strong>फ़ैक्ट-चेक</strong></p>

<p> </p>

<p>वायरल हो रहा ये वीडियो तमिलनाडु के तूतीकोरिन में हुई घटना का नहीं है। जांच में हमने पाया था कि ये वीडियो महाराष्ट्र में हुई एक घटना का है जिसमें एक ट्रांसपोर्ट सर्विस का मालिक और उसके साथी ट्रांसपोर्टर ने विक्की आगलावे नाम के एक ड्राइवर को बड़ी बेरहमी से पीटा था। छत से लटकाकर उसके साथ बर्बरता की गई। 29 जुलाई 2019 की ‘नवभारत टाइम्स’ की रिपोर्ट में बताया गया है कि इस मामले में नागपुर, के आंध्र-कर्नाटक ट्रांसपॉर्ट के मालिक अखिल पोहानकर और ट्रांसपोर्टर अमित ठाकरे को गिरफ़्तार किया गया था। उनपर आरोप था कि उन्होंने अपने ड्राइवर विक्की आगलावे की पिटाई की है। विक्की अखिल पोहानकर के यहां काम करता था।</p>

फ़ैक्ट-चेक

 

वायरल हो रहा ये वीडियो तमिलनाडु के तूतीकोरिन में हुई घटना का नहीं है। जांच में हमने पाया था कि ये वीडियो महाराष्ट्र में हुई एक घटना का है जिसमें एक ट्रांसपोर्ट सर्विस का मालिक और उसके साथी ट्रांसपोर्टर ने विक्की आगलावे नाम के एक ड्राइवर को बड़ी बेरहमी से पीटा था। छत से लटकाकर उसके साथ बर्बरता की गई। 29 जुलाई 2019 की ‘नवभारत टाइम्स’ की रिपोर्ट में बताया गया है कि इस मामले में नागपुर, के आंध्र-कर्नाटक ट्रांसपॉर्ट के मालिक अखिल पोहानकर और ट्रांसपोर्टर अमित ठाकरे को गिरफ़्तार किया गया था। उनपर आरोप था कि उन्होंने अपने ड्राइवर विक्की आगलावे की पिटाई की है। विक्की अखिल पोहानकर के यहां काम करता था।

<p><strong>ये निकला नतीजा </strong></p>

<p> </p>

<p>जुलाई 2019 में महाराष्ट्र के नागपुर में ट्रांसपोर्ट कंपनी के मालिक ने अपने ड्राइवर की बड़ी बेरहमी से पिटाई की थी जिसका वीडियो तमिलनाडु के तूतीकोरिन में हुई हालिया घटना का बताकर सोशल मीडिया में शेयर किया जा रहा है। वायरल वीडियो तमिलनाडु की हाल की घटना का नहीं है। फर्जी खबरों से सचेत रहें।</p>

ये निकला नतीजा 

 

जुलाई 2019 में महाराष्ट्र के नागपुर में ट्रांसपोर्ट कंपनी के मालिक ने अपने ड्राइवर की बड़ी बेरहमी से पिटाई की थी जिसका वीडियो तमिलनाडु के तूतीकोरिन में हुई हालिया घटना का बताकर सोशल मीडिया में शेयर किया जा रहा है। वायरल वीडियो तमिलनाडु की हाल की घटना का नहीं है। फर्जी खबरों से सचेत रहें।

loader