Asianet News Hindi

Fact Check: राहुल गांधी बोले सैनिकों के बजाय किसानों को बॉर्डर पर तैनात कर दो! वायरल क्लिप का ये है सच

First Published Mar 2, 2021, 8:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फैक्ट चेक डेस्क. Rahul Gandhi Fake News: इस समय सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी जमकर छाए हुए हैं। उनके पुशअप वीडियो और एब्स की तस्वीरें जमकर शेयर की जा रही हैं। इस बीच बीते कुछ दिनों से राहुल गांधी का एक वीडियो शेयर किया जा रहा है। वीडियो को शेयर करते हुए यूजर्स दावा कर रहे हैं कि राहुल गांधी ने चीन की सीमा पर सैनिकों के बजाय किसानों, मजदूरों को तैनात करने का सुझाव दिया है। FACT CHECK में आइए जानते हैं कि आखिर सच क्या है?

 

गांधी के भाषण का एक छोटा-सा अंश काटकर उसे गलत संदर्भ में वायरल किया जा रहा है। राहुल गांधी अपने संबोधन में भारत के मजदूरों, किसानों को चीन से लड़ने बॉर्डर पर तैनात करने को कह रहे हैं।

 

गांधी के भाषण का एक छोटा-सा अंश काटकर उसे गलत संदर्भ में वायरल किया जा रहा है। राहुल गांधी अपने संबोधन में भारत के मजदूरों, किसानों को चीन से लड़ने बॉर्डर पर तैनात करने को कह रहे हैं।

 

क्या हो रहा है वायरल

 

Horsestable13 नाम के ट्विटर हैंडल ने 25 सेकंड का ये वीडियो ट्वीट किया गया है। इस वीडियो में राहुल गांधी बोलते हैं- इस ट्वीट के साथ अंग्रेजी में लिखे टेक्स्ट की हिंदी कुछ यूं है, ‘जब राहुल गांधी सोचते हैं कि भारतीय सेना की बजाय किसान और मजदूर तैनात हो सकते हैं तो हम अमित शाह जी से निवेदन करते हैं कि कृपया राहुल गांधी की वीआईपी सुरक्षा हटा ली जाए और उसकी जगह भारतीय किसान और मजदूर तैनात कर दिए जाएं।’

क्या हो रहा है वायरल

 

Horsestable13 नाम के ट्विटर हैंडल ने 25 सेकंड का ये वीडियो ट्वीट किया गया है। इस वीडियो में राहुल गांधी बोलते हैं- इस ट्वीट के साथ अंग्रेजी में लिखे टेक्स्ट की हिंदी कुछ यूं है, ‘जब राहुल गांधी सोचते हैं कि भारतीय सेना की बजाय किसान और मजदूर तैनात हो सकते हैं तो हम अमित शाह जी से निवेदन करते हैं कि कृपया राहुल गांधी की वीआईपी सुरक्षा हटा ली जाए और उसकी जगह भारतीय किसान और मजदूर तैनात कर दिए जाएं।’

फैक्ट चेक

सबसे पहले हमने ट्वीट में मौजूद वीडियो को गौर से सुना। 25 सेकंड के इस वीडियो में राहुल गांधी कह रहे हैं, ‘आप चीन से सुरक्षा के लिए भारतीय सेना, नौसेना, एयरफोर्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। अगर आप भारतीय मजदूरों, किसानों, कामगारों का इस्तेमाल करें तो आपको सेना, नेवी और एयरफोर्स को वहां खड़े होने की जरूरत नहीं होगी। चीन में अंदर आने की हिम्मत नहीं होगी।’

 

इसी क्लिप के आधार पर हमने जरूरी कीवर्ड्स की मदद से इस दावे को इंटरनेट पर सर्च किया। हमें 24 जनवरी 2021 को हिंदुस्तान टाइम्स की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। यह रिपोर्ट पिछले महीने राहुल गांधी की तमिलनाडु यात्रा पर आधारित है। इस रिपोर्ट में इस्तेमाल की गई तस्वीर में राहुल गांधी का पहनावा वायरल वीडियो के पहनावे से हुबहू मेल खाता है। साथ ही, इस रिपोर्ट में बिल्कुल वही लाइनें भी लिखी गईं हैं, जो राहुल वायरल वीडियो में बोल रहे हैं।

फैक्ट चेक

सबसे पहले हमने ट्वीट में मौजूद वीडियो को गौर से सुना। 25 सेकंड के इस वीडियो में राहुल गांधी कह रहे हैं, ‘आप चीन से सुरक्षा के लिए भारतीय सेना, नौसेना, एयरफोर्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। अगर आप भारतीय मजदूरों, किसानों, कामगारों का इस्तेमाल करें तो आपको सेना, नेवी और एयरफोर्स को वहां खड़े होने की जरूरत नहीं होगी। चीन में अंदर आने की हिम्मत नहीं होगी।’

 

इसी क्लिप के आधार पर हमने जरूरी कीवर्ड्स की मदद से इस दावे को इंटरनेट पर सर्च किया। हमें 24 जनवरी 2021 को हिंदुस्तान टाइम्स की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। यह रिपोर्ट पिछले महीने राहुल गांधी की तमिलनाडु यात्रा पर आधारित है। इस रिपोर्ट में इस्तेमाल की गई तस्वीर में राहुल गांधी का पहनावा वायरल वीडियो के पहनावे से हुबहू मेल खाता है। साथ ही, इस रिपोर्ट में बिल्कुल वही लाइनें भी लिखी गईं हैं, जो राहुल वायरल वीडियो में बोल रहे हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि राहुल गांधी चीन से निपटने के बारे में बात कर रहे थे। रिपोर्ट के मुताबिक राहुल गांधी ने कहा कि भारत की असल ताकत किसानों, मजदूरों और बुनकरों में निहित है। अगर इन्हें मजबूत कर दिया गया तो देश की सीमाओं की रक्षा के लिए जवानों की जरूरत नहीं पड़ेगी।

रिपोर्ट में बताया गया है कि राहुल गांधी चीन से निपटने के बारे में बात कर रहे थे। रिपोर्ट के मुताबिक राहुल गांधी ने कहा कि भारत की असल ताकत किसानों, मजदूरों और बुनकरों में निहित है। अगर इन्हें मजबूत कर दिया गया तो देश की सीमाओं की रक्षा के लिए जवानों की जरूरत नहीं पड़ेगी।

इस वीडियो को ट्वीट करते हुए एएनआई ने अंग्रेजी में टेक्स्ट लिखा है, जिसका हिंदी अनुवाद कुछ इस तरह है, ‘… अगर भारत के मजदूर, किसान और बुनकर मजबूत होने और उन्हें मौके दिए जाते तो चीन कभी भी भारत के अंदर आने की हिम्मत नहीं करेगा।’

इस वीडियो को ट्वीट करते हुए एएनआई ने अंग्रेजी में टेक्स्ट लिखा है, जिसका हिंदी अनुवाद कुछ इस तरह है, ‘… अगर भारत के मजदूर, किसान और बुनकर मजबूत होने और उन्हें मौके दिए जाते तो चीन कभी भी भारत के अंदर आने की हिम्मत नहीं करेगा।’

हमें यह वीडियो राहुल गांधी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर भी मिला। यह वीडियो 1 घंटा एक मिनट 40 सेकंड का है और तमिलनाडु के इरोड में बुनकर समुदाय से राहुल गांधी की बातचीत पर आधारित है। इस वीडियो 25 सेकंड की क्लिप फर्जी दावों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है।

 

हमें यह वीडियो राहुल गांधी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर भी मिला। यह वीडियो 1 घंटा एक मिनट 40 सेकंड का है और तमिलनाडु के इरोड में बुनकर समुदाय से राहुल गांधी की बातचीत पर आधारित है। इस वीडियो 25 सेकंड की क्लिप फर्जी दावों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है।

 

ये निकला नतीजा  

 

पड़ताल में ये साबित हो जाता है कि राहुल गांधी को लेकर किया जा रहा दावा झूठा निकला है। राहुल गांधी के भाषण का एक छोटा-सा अंश काटकर उसे गलत संदर्भ में वायरल किया जा रहा है। वायरल क्लिप के साथ किया गया दावा फर्जी है।

ये निकला नतीजा  

 

पड़ताल में ये साबित हो जाता है कि राहुल गांधी को लेकर किया जा रहा दावा झूठा निकला है। राहुल गांधी के भाषण का एक छोटा-सा अंश काटकर उसे गलत संदर्भ में वायरल किया जा रहा है। वायरल क्लिप के साथ किया गया दावा फर्जी है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios