Asianet News Hindi

इस दिवाली ऐसे बनाएं बिना तेल और घी के मोयन के नमक पारे, प्लेट भर खाने से भी नहीं पड़ेगा हेल्थ पर बुरा असर

First Published Nov 11, 2020, 4:00 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फूड डेस्क : दीपावली का त्योहार हो और नमकीन-मिठाई की बात न हो, यह कैसे हो सकता है? लगभग सभी के घरों में दिवाली पर बनने वाले पकवानों की लिस्ट बनकर तैयार हो गई होगी। इसमें नमक पारे या नमकीन मठरी का नाम तो जरूर होगा? लेकिन हम सब जानते हैं कि नमक पारे बनाने के लिए तेल बहुत ज्यादा इस्तेमाल होता है। साथ ही मैदा सेहत पर भी बुरा असर डालता है। ऐसे में इसे खाने से कई लोग परहेज करते हैं, तो चलिए आज हम आपको बताते हैं बिना तेल और घी के मोयन डाले बाजार से भी ज्यादा खस्ता नमक पारे बनाने की रेसिपी, वो भी बिना मैदे के।

चाय-कॉफी के साथ नमक पारे खाना हर किसी को बहुत पसंद होता है। इसका करारापन सभी को भाता है। लेकिन अक्सर तेल और मैदा होने की वजह से लोग इसे खाने से परहेज करते हैं।

चाय-कॉफी के साथ नमक पारे खाना हर किसी को बहुत पसंद होता है। इसका करारापन सभी को भाता है। लेकिन अक्सर तेल और मैदा होने की वजह से लोग इसे खाने से परहेज करते हैं।

आज हम आपको बताते हैं, बिना मैदा, तेल और घी के मोयन के खस्ता नमक पारे। इसके लिए आप 2 कप सूजी, आधा चम्मच कलोंजी, स्वादानुसार नमक, अजवाइन और तलने के लिए बहुत थोड़ा सा तेल लें।

आज हम आपको बताते हैं, बिना मैदा, तेल और घी के मोयन के खस्ता नमक पारे। इसके लिए आप 2 कप सूजी, आधा चम्मच कलोंजी, स्वादानुसार नमक, अजवाइन और तलने के लिए बहुत थोड़ा सा तेल लें।

सबसे पहले आप सूजी को एक मिक्सी के जार में डालकर बारिक पीस लें और इसे एक आटे की तरह कर लें।

सबसे पहले आप सूजी को एक मिक्सी के जार में डालकर बारिक पीस लें और इसे एक आटे की तरह कर लें।

इसके बाद इसे एक बड़े बर्तन में निकाल लें और स्वाद अनुसार नमक डालें। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें कलोंजी या अजवाइन डाल दें।

इसके बाद इसे एक बड़े बर्तन में निकाल लें और स्वाद अनुसार नमक डालें। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें कलोंजी या अजवाइन डाल दें।

फिर इसमें मोयन नहीं डालें और सिर्फ पानी से इसका सॉफ्ट डो तैयार कर लें। याद रहे कि हमें इसमें तेल या घी की एक बूंद भी नहीं डालनी हैं।
 

फिर इसमें मोयन नहीं डालें और सिर्फ पानी से इसका सॉफ्ट डो तैयार कर लें। याद रहे कि हमें इसमें तेल या घी की एक बूंद भी नहीं डालनी हैं।
 

आटा लगाते समय ध्यान दें कि मैदा की अपेक्षा सूजी ज्यादा पानी पीती है, तो हमें ज्यादा पानी का इस्तेमाल करके इसका आटा गूथना हैं।

आटा लगाते समय ध्यान दें कि मैदा की अपेक्षा सूजी ज्यादा पानी पीती है, तो हमें ज्यादा पानी का इस्तेमाल करके इसका आटा गूथना हैं।

आप चाहें तो आप आटा गूथने के दौरान कसूरी मेथी भी डाल सकते हैं। इससे स्वाद और भी बढ़िया हो जाता है।

आप चाहें तो आप आटा गूथने के दौरान कसूरी मेथी भी डाल सकते हैं। इससे स्वाद और भी बढ़िया हो जाता है।

आटा लगाने के बाद इसे कम से कम 20 से 25  मिनट के लिए सेट होने रख दें। इसके बाद हाथों से इसे अच्छे से मसल कर चिकना कर लें।

आटा लगाने के बाद इसे कम से कम 20 से 25  मिनट के लिए सेट होने रख दें। इसके बाद हाथों से इसे अच्छे से मसल कर चिकना कर लें।

इसके बाद इसकी बॉल बनाकर रोटी की तरह बेल लें और मनचाहे शेप में इसे काट लें।

इसके बाद इसकी बॉल बनाकर रोटी की तरह बेल लें और मनचाहे शेप में इसे काट लें।

इस दौरान एक कढ़ाई में तेल गर्म होने रख दें। याद रहें कि हमें नमक पारे को धीमी आंच में ही तलना हैं, नहीं तो यह ऊपर से सुनहरे हो जाएंगे लेकिन अंदर से कच्चे रहेंगे।

इस दौरान एक कढ़ाई में तेल गर्म होने रख दें। याद रहें कि हमें नमक पारे को धीमी आंच में ही तलना हैं, नहीं तो यह ऊपर से सुनहरे हो जाएंगे लेकिन अंदर से कच्चे रहेंगे।

धीमी आंच पर पकने ले लिए ये 10 से 15 मिनट लेंगे। इसके बाद इन्हें ठंड़ा कर किसी एयर टाइट जार में भरकर रख दें और दिवाली पर घर आए महमानों को इसे सर्व करें।
 

धीमी आंच पर पकने ले लिए ये 10 से 15 मिनट लेंगे। इसके बाद इन्हें ठंड़ा कर किसी एयर टाइट जार में भरकर रख दें और दिवाली पर घर आए महमानों को इसे सर्व करें।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios