Asianet News Hindi

सूर्य के कारण पिता और चंद्रमा के कारण माता से होता है विवाद, जानिए कौन-सा ग्रह किस रिश्ते को करता है प्रभावित

First Published Jun 8, 2021, 9:20 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, हर रिश्ते का संबंध किसी न किसी ग्रह से जरूर होता है। माना जाता है कि जब ग्रहों की स्थिति अनुकूल होती है तो रिश्तें और भी गहरे हो जाते हैं और जब ग्रहों की स्थिति विपरीत होती है तो संबंध टूटने लगते हैं। आगे जानिए रिश्तों का ग्रहों से संबंध और क्या उपाय करके रिश्तों को मधुर बना सकते हैं…
 

1. बुध कमजोर होने से इसका प्रभाव ननिहाल पक्ष के रिश्तों पर पड़ सकता है। बुध को मजबूत बनाने के लिए हरी चीजों का दान करना चाहिए और पौधे लगाने चाहिए। अपने ननिहाल से संबंधों को मधुर रखने की कोशिश करनी चाहिए।
 

1. बुध कमजोर होने से इसका प्रभाव ननिहाल पक्ष के रिश्तों पर पड़ सकता है। बुध को मजबूत बनाने के लिए हरी चीजों का दान करना चाहिए और पौधे लगाने चाहिए। अपने ननिहाल से संबंधों को मधुर रखने की कोशिश करनी चाहिए।
 

2. ज्योतिष में चंद्रमा को मां से जोड़कर देखा जाता है। कुंडली में चंद्रमा की स्थिति ठीक न हो तो स्त्री पक्ष से कष्ट हो सकता है। मां के स्वास्थ्य पर भी प्रभाव पड़ता है। चंद्रमा को मजबूत बनाने के लिए शिव जी की पूजा करनी चाहिए और अपनी माता का सदैव सम्मान करना चाहिए।
 

2. ज्योतिष में चंद्रमा को मां से जोड़कर देखा जाता है। कुंडली में चंद्रमा की स्थिति ठीक न हो तो स्त्री पक्ष से कष्ट हो सकता है। मां के स्वास्थ्य पर भी प्रभाव पड़ता है। चंद्रमा को मजबूत बनाने के लिए शिव जी की पूजा करनी चाहिए और अपनी माता का सदैव सम्मान करना चाहिए।
 

3. गुरु की स्थिति ठीक न हो तो गुरुजनों से विवाद होने की स्थिति बन सकती है। इससे बचने के लिए गुरुवार को केले के वृक्ष में जल चढ़ाना चाहिए और शुद्ध घी का दीपक जलाना चाहिए। अपने गुरूजनों और बड़े बुजुर्गों का सम्मान एवं सेवा करनी चाहिए।
 

3. गुरु की स्थिति ठीक न हो तो गुरुजनों से विवाद होने की स्थिति बन सकती है। इससे बचने के लिए गुरुवार को केले के वृक्ष में जल चढ़ाना चाहिए और शुद्ध घी का दीपक जलाना चाहिए। अपने गुरूजनों और बड़े बुजुर्गों का सम्मान एवं सेवा करनी चाहिए।
 

4. मंगल प्रतिकूल हो तो व्यक्ति का अपने भाई बहनों के साथ झगड़ा बना रहता है। मंगल से शुभ फल पाने के लिेए लाल चीजों का दान करना चाहिए साथ ही अपने व्यवहार को नम्र रखना चाहिए। खासतौर पर अपने बड़े भाई से हमेशा सम्मान से बात करनी चाहिए।
 

4. मंगल प्रतिकूल हो तो व्यक्ति का अपने भाई बहनों के साथ झगड़ा बना रहता है। मंगल से शुभ फल पाने के लिेए लाल चीजों का दान करना चाहिए साथ ही अपने व्यवहार को नम्र रखना चाहिए। खासतौर पर अपने बड़े भाई से हमेशा सम्मान से बात करनी चाहिए।
 

5. किसी की कुंडली में शुक्र कमजोर हो तो उसके प्रेम संबंध और दांपत्य जीवन में दरार आने लगती है। शुक्र को मजबूत बनाने के लिए स्त्री का सम्मान करना चाहिए और अपने तन के साथ मन को भी स्वच्छ रखना चाहिए।
 

5. किसी की कुंडली में शुक्र कमजोर हो तो उसके प्रेम संबंध और दांपत्य जीवन में दरार आने लगती है। शुक्र को मजबूत बनाने के लिए स्त्री का सम्मान करना चाहिए और अपने तन के साथ मन को भी स्वच्छ रखना चाहिए।
 

6. सूर्य का संबंध पिता है। यदि कुंडली में सूर्य की स्थिति सही न हो तो उसे मान-सम्मान की हानि होती है साथ ही पिता के साथ मतभेद बने रहते हैं। ऐसे में प्रतिदिन सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए और अपने पिता एवं गुरूजनों की सम्मान करना चाहिए।
 

6. सूर्य का संबंध पिता है। यदि कुंडली में सूर्य की स्थिति सही न हो तो उसे मान-सम्मान की हानि होती है साथ ही पिता के साथ मतभेद बने रहते हैं। ऐसे में प्रतिदिन सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए और अपने पिता एवं गुरूजनों की सम्मान करना चाहिए।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios