Asianet News Hindi

तस्वीरों में देखिए गणेश विसर्जन: CM शिवराज ने पत्नी के साथ घर में कुंड बनाकर बप्पा को ऐसे किया विदा

First Published Sep 1, 2020, 3:38 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल. हर साल अनंत चतुर्दशी के दिन गणपति बप्पा की मूर्तियों का विसर्जन होता है। जहां सभी लोग ढोल-नगाड़ों के बीच धूमधाम से उनको विदा करते हैं और कहते हैं बप्पा अगले बरस तू जल्दी आ। लेकिन इस बार कोरोना के कहर के चलते शांति से ही अधिकतर लोग घर में ही अस्थाई कुंड बनाकर गणेशजी का विसर्जन कर रहे हैं। महामारी की वजह से कोई बड़े आयोजन नहीं हो रहे हैं। हलांकि कहीं-कहीं लोग सरकारी नियमों का पालन करते हुए नदी-तालाब में भी विसर्जन कर रहे हैं। वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पत्नी पत्नी साधना सिंह और पूरे परिवार के साथ सीएम हाउस में कुंड में बनाकर गणपति जी का विसर्जन किया। इसके अलावा उन्होंने प्रदेश के लोगों से अपील की वह कोरोनाकाल की गाइडलाइन का पालन करें।

मुख्यमंत्री निवास में  गणेश विसर्जन के दौरान सीएम शिवराज सिंह ने लोगों से अपील करते हुए कहा- बप्पा को घर में विसर्जित करें और वहां पर एक पौधा लगाएं, ताकि बप्पा के जाने के बाद उनका आर्शीवाद मिले।

मुख्यमंत्री निवास में  गणेश विसर्जन के दौरान सीएम शिवराज सिंह ने लोगों से अपील करते हुए कहा- बप्पा को घर में विसर्जित करें और वहां पर एक पौधा लगाएं, ताकि बप्पा के जाने के बाद उनका आर्शीवाद मिले।


मुख्यमंत्री निवास में  गणेश विसर्जन के दौरान अपने परिवार के साथ बप्पा की आरती करते  हुए सीएम शिवराज।


मुख्यमंत्री निवास में  गणेश विसर्जन के दौरान अपने परिवार के साथ बप्पा की आरती करते  हुए सीएम शिवराज।


मुख्यमंत्री निवास में  गणेश विसर्जन के दौरान सीएम शिवराज  के साथ उनके परिवार के साथ स्टाफ मेंबर भी शामिल थे।
 


मुख्यमंत्री निवास में  गणेश विसर्जन के दौरान सीएम शिवराज  के साथ उनके परिवार के साथ स्टाफ मेंबर भी शामिल थे।
 


बता दें कि इस बार कोरोना के चलते और सरकार के नियम को देखते हुए ज्यादातर प्रतिमाएं एक फीट से दो फीट की थीं।


बता दें कि इस बार कोरोना के चलते और सरकार के नियम को देखते हुए ज्यादातर प्रतिमाएं एक फीट से दो फीट की थीं।

कोरोना की गाइडलाइन को देखते  हुए गणेश विसर्जन के समय ज्यादा भीड़ नहीं रही, परिवार के एक दो लोगों ने ही  बप्पा का जयकारों के साथ विसर्जन किया।

कोरोना की गाइडलाइन को देखते  हुए गणेश विसर्जन के समय ज्यादा भीड़ नहीं रही, परिवार के एक दो लोगों ने ही  बप्पा का जयकारों के साथ विसर्जन किया।


प्रशासन की तरह से भोपाल और इंदौर शहर में इस तरह से  बप्पा के विसर्जन के लिए अस्थाई कुंड बनाय गए हैं।


प्रशासन की तरह से भोपाल और इंदौर शहर में इस तरह से  बप्पा के विसर्जन के लिए अस्थाई कुंड बनाय गए हैं।


बता दें कि ग्रामीण इलाकों में लोग नदी-तालाब में भी विसर्जन कर रहे हैं।  लेकिन लोग भीड़ नहीं लगा रहे हैं, कोरोना के सारे नियमों का पालन हो रहा है।
 


बता दें कि ग्रामीण इलाकों में लोग नदी-तालाब में भी विसर्जन कर रहे हैं।  लेकिन लोग भीड़ नहीं लगा रहे हैं, कोरोना के सारे नियमों का पालन हो रहा है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios