मंत्रिमंडल विस्तार से पहले सामने आया शिवराज का दर्द, देखिए ऐसी ही तस्वीरें जो बहुत कुछ कहती हैं

First Published 2, Jul 2020, 10:09 AM


भोपाल (मध्य प्रदेश). आखिरकार मध्य प्रदेश सरकार बनने के 100 दिन बीतने के बाद शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल का गुरुवार को विस्तार होने जा रहा है। मंत्री पद की दौड़ में शामिल विधायकों का इंतज़ार भी अब खत्म हो गया। लंबी मशक्कत के बाद उन विधायकों की लिस्ट भी फाइनल हो गई जिन्हें मंत्री बनाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि राज्य के गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा को उपमुख्‍यमंत्री बनाया जा सकता है। इस विस्तार में ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया खेमे से 9 और कांग्रेस से भाजपा में आए 3 और भारतीय जनता पार्टी के 16 विधायकों को जगह मिलने वाली है। वहीं पार्टी के कई सीनियर विधायकों और पुराने चेहरों को इस केबिनेट में जगह नहीं मिली है। मंत्री मंडल के विस्तार से एक दिन पहले सीएम की ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जिसमें वह चिंता में दिखाई दे रहे हैं। जिनको देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह कुछ परेशान हैं।

<p> इस बीच मंत्रीमंडल से एक दिन पहले यानि बुधवार को शिवराज सिंह चौहान का दर्द सामने आ गया है। किल कोरोना अभियान के कार्यक्रम में उन्होंने कहा था समुद्र मंथन से अमृत तो निकलता ही  है, लेकिन इससे निकले विष को शिव ही पीते हैं।<br />
 </p>

 इस बीच मंत्रीमंडल से एक दिन पहले यानि बुधवार को शिवराज सिंह चौहान का दर्द सामने आ गया है। किल कोरोना अभियान के कार्यक्रम में उन्होंने कहा था समुद्र मंथन से अमृत तो निकलता ही  है, लेकिन इससे निकले विष को शिव ही पीते हैं।
 

<p>बताया जाता है कि इस मंत्रीमंडल विस्तार में सीएम की नहीं चली, वह दिल्ली जो लिस्ट लेकर पहुंचे थे उसको केंद्रीय नेतृत्व नकार दिया है। इस दौरान उनकी कुछ तस्वीरों सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, जिसमें वह तनाव में दिख रहे हैं।</p>

बताया जाता है कि इस मंत्रीमंडल विस्तार में सीएम की नहीं चली, वह दिल्ली जो लिस्ट लेकर पहुंचे थे उसको केंद्रीय नेतृत्व नकार दिया है। इस दौरान उनकी कुछ तस्वीरों सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, जिसमें वह तनाव में दिख रहे हैं।

<p><br />
बता दें कि शिवराज सिंह चौहान की पुरानी केबिनेट में साथी रहे मंत्रियों की इस मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिल पाई है। जिनमें, सीएम के चहते रामपाल सिंह, संजय पाठक, पारस जैन, गौरीशंकर बिसेन, राजेंद्र शुक्ला, जालम सिंह पटेल और सुरेंद्र पटवा आदी शामिल हैं। इनके नामों पर सहमति नहीं बन पाई है। </p>


बता दें कि शिवराज सिंह चौहान की पुरानी केबिनेट में साथी रहे मंत्रियों की इस मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिल पाई है। जिनमें, सीएम के चहते रामपाल सिंह, संजय पाठक, पारस जैन, गौरीशंकर बिसेन, राजेंद्र शुक्ला, जालम सिंह पटेल और सुरेंद्र पटवा आदी शामिल हैं। इनके नामों पर सहमति नहीं बन पाई है। 

<p> शिवराज कैबिनेट में इस बार ज्योतिरादित्य सिंधिया का वर्चस्व देखने को मिलेगा। रहेगा। उनके 2 समर्थक विधायक पहले ही मंत्री हैं। इसके साथ 8 आज शपथ और लेंगे। कुल मिलाकर सिंधिया के 13 एमएलए मंत्री बन जाएंगे।</p>

 शिवराज कैबिनेट में इस बार ज्योतिरादित्य सिंधिया का वर्चस्व देखने को मिलेगा। रहेगा। उनके 2 समर्थक विधायक पहले ही मंत्री हैं। इसके साथ 8 आज शपथ और लेंगे। कुल मिलाकर सिंधिया के 13 एमएलए मंत्री बन जाएंगे।

<p>यह तस्वीर बुधवार के दिन की है, जब मंत्रीमंडल के विस्तार से एक दिन पहले सीएम शिवराज किल कोरोना अभियान में गए थे। जहां उन्होंने समुंद्र मंथन से निकलने वाला बयान दिया था।<br />
 </p>

यह तस्वीर बुधवार के दिन की है, जब मंत्रीमंडल के विस्तार से एक दिन पहले सीएम शिवराज किल कोरोना अभियान में गए थे। जहां उन्होंने समुंद्र मंथन से निकलने वाला बयान दिया था।
 

loader