चीन में साइना नेहवाल को नहीं मिला था कोई शाकाहारी होटल, मजबूरन मछली और केकड़ा खाकर मिटाई थी भूख

First Published 25, Mar 2020, 7:59 PM IST

नई दिल्ली. दुनियाभर में लगातार कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। चीन के वुहान से शुरु हुए इस वायरस ने 100 से ज्यादा देशों को अपनी चपेट में ले लिया है। यह महामारी चीन से शुरु हुई है और लोगों का मानना है कि चीन का खान पान इसके लिए जिम्मेदार है। चमगादड़ और सांप खाने को लेकर चीन के लोग सबसे ज्यादा ट्रोल हो रहे हैं। भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल भी एक बार चीन के खान-पान से काफी परेशान हुई थी। और उन्हें मछली के साथ केकड़ा खाकर अपनी भूख मिटानी पड़ी थी। इसी दिन साइना ने पहली बार नॉन वेज खाया था और अब वो कभी कभार मीट खाती रहती हैं।  

साइना साल 2005 में अपने कोच के साथ बैडमिंटन प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए चीन पहुंची थी, पर यहां उन्हें कहीं भी शाकाहारी होटल नहीं मिला था।

साइना साल 2005 में अपने कोच के साथ बैडमिंटन प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए चीन पहुंची थी, पर यहां उन्हें कहीं भी शाकाहारी होटल नहीं मिला था।

काफी देर तक ढूढ़ने के बाद जब उन्हें वेज रेस्टोरेंट नहीं मिला तो उन्होंने मछली और केकड़ा खाने का निर्णय लिया।

काफी देर तक ढूढ़ने के बाद जब उन्हें वेज रेस्टोरेंट नहीं मिला तो उन्होंने मछली और केकड़ा खाने का निर्णय लिया।

इस दिन मछली और केकड़ा खाने के बाद साइना नॉन वेज हो गई थी।

इस दिन मछली और केकड़ा खाने के बाद साइना नॉन वेज हो गई थी।

साइना का जन्म एक शाकाहारी परिवार में हुआ था और वो अभी भी शाकाहारी खाना ही ज्यादा पसंद करती हैं।

साइना का जन्म एक शाकाहारी परिवार में हुआ था और वो अभी भी शाकाहारी खाना ही ज्यादा पसंद करती हैं।

साइना फिलहाल 90 फीसदी वेज हैं और अधिकतर मौकों पर नॉन वेज खाना खाने से बचती हैं।

साइना फिलहाल 90 फीसदी वेज हैं और अधिकतर मौकों पर नॉन वेज खाना खाने से बचती हैं।

साइना ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।

साइना ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।

साइना ने अपने खेल के दम पर भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ियों का नया रुतबा बनाया है। उनके बाद पीवी सिंधू ने भी अच्छा खेल दिखाकर इस खेल को नया मुकाम दिलाया है।

साइना ने अपने खेल के दम पर भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ियों का नया रुतबा बनाया है। उनके बाद पीवी सिंधू ने भी अच्छा खेल दिखाकर इस खेल को नया मुकाम दिलाया है।

साइना ने इसी साल फरवरी के महीने में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली है। शायद वो भविष्य में सक्रिय राजनीति में भी कदम रखना चाहती हैं।

साइना ने इसी साल फरवरी के महीने में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली है। शायद वो भविष्य में सक्रिय राजनीति में भी कदम रखना चाहती हैं।

साइना ने साल 2018 में बैडमिंटन प्लेयर पारुपल्ली कश्यप के साथ शादी की थी।

साइना ने साल 2018 में बैडमिंटन प्लेयर पारुपल्ली कश्यप के साथ शादी की थी।

साइना के साल 2016 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। इससे पहले वो पद्मश्री और अर्जुन अवॉर्ड भी जीत चुकी हैं।

साइना के साल 2016 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। इससे पहले वो पद्मश्री और अर्जुन अवॉर्ड भी जीत चुकी हैं।

loader