Asianet News Hindi

ऐसी धाकड़ हैं भारत की ये छोरिया, किसी ने 100 तो किसी ने 200 मीटर में जीता गोल्ड

First Published Feb 26, 2021, 7:22 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क : भारत के लिए गुरुवार का दिन बहुत की यादगार साबित हुआ। एक तरफ भारतीय क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में शानदार जीत दर्ज की तो वहीं, दूसरी तरफ पटियाला में नेताजी सुभाष राष्ट्रीय क्रीडा संस्थान में आयोजित भारतीय ग्रैंड प्रिक्स 2 में भारत की हिमा दास और दुती चंद ने अपनी जीत का लोहा मनवाया। जहां महिला भारतीय एथलीट (Indian athlete) हिमा दास (Hima Das) ने 200 मीटर की रेस में जीत हासिल की, तो वहीं दुती चंद ने 100 मीटर की रेस में गोल्ड मैडल हासिल किया। 

भारत की स्टार धाविका हिमा दास ने नेताजी सुभाष राष्ट्रीय खेल संस्थान परिसर में आयोजित इंडियन ग्रैंड प्रिक्स 2 में महिलाओं की 200 मीटर की दौड़ में गोल्ड मैडल हासिल किया। लगभग 1 साल के बाद किसी प्रतियोगिता में हिस्सा लेने आईं हिमा ने महज 23.31 सेकेंड में जीत हासिल कर ली।  21 साल की उम्र में ही हिमा 5 गोल्ड मेडल अपने नाम कर चुकी हैं और ये उनका छठा मैडल हैं।

भारत की स्टार धाविका हिमा दास ने नेताजी सुभाष राष्ट्रीय खेल संस्थान परिसर में आयोजित इंडियन ग्रैंड प्रिक्स 2 में महिलाओं की 200 मीटर की दौड़ में गोल्ड मैडल हासिल किया। लगभग 1 साल के बाद किसी प्रतियोगिता में हिस्सा लेने आईं हिमा ने महज 23.31 सेकेंड में जीत हासिल कर ली।  21 साल की उम्र में ही हिमा 5 गोल्ड मेडल अपने नाम कर चुकी हैं और ये उनका छठा मैडल हैं।

9 जनवरी 2000 में असम के ढिंग गांव में जन्मीं हिमा रणजीत दास IAAF वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैम्पियनशिप की 400 मीटर दौड़ में गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं। बता दें कि उन्होंने ये महज 51.46 सेकेंड में पूरी की थी। इसके साथ ही उन्होंने जुलाई 2019 में नोव मेस्टो एथलेटिक्स मीट में 5वां स्थान हासिल किया था। हिमा ने टाबर एथलेटिक मीट में भी 200 मीटर में स्वर्ण पदक जीता था। 

9 जनवरी 2000 में असम के ढिंग गांव में जन्मीं हिमा रणजीत दास IAAF वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैम्पियनशिप की 400 मीटर दौड़ में गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं। बता दें कि उन्होंने ये महज 51.46 सेकेंड में पूरी की थी। इसके साथ ही उन्होंने जुलाई 2019 में नोव मेस्टो एथलेटिक्स मीट में 5वां स्थान हासिल किया था। हिमा ने टाबर एथलेटिक मीट में भी 200 मीटर में स्वर्ण पदक जीता था। 

हाल ही में उन्होंने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कैबिनेट बैठक में उन्हें डीएसपी बनाने का फैसला किया है। बता दें कि असम की इस धावक को ढिंग एक्सप्रेस के नाम से भी जाना जाता है। 

हाल ही में उन्होंने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कैबिनेट बैठक में उन्हें डीएसपी बनाने का फैसला किया है। बता दें कि असम की इस धावक को ढिंग एक्सप्रेस के नाम से भी जाना जाता है। 

इंडियन ग्रैंड प्रिक्स 2 में हुई 100 मीटर रेस की बात की जाए, तो यहां दुती चंद ने अपनी जीत का ढंका बजाया है। इस एथलीट ने 100 मीटर रेस को 11.44 सेकेंड में पूरा कर गोल्ड मैडल जीता। 

इंडियन ग्रैंड प्रिक्स 2 में हुई 100 मीटर रेस की बात की जाए, तो यहां दुती चंद ने अपनी जीत का ढंका बजाया है। इस एथलीट ने 100 मीटर रेस को 11.44 सेकेंड में पूरा कर गोल्ड मैडल जीता। 

3 फरवरी 1996 को उड़ीसा के छोटे से गांव गोपालपुर की रहने वाली इस महिला एथलिट ने कई अवॉर्ड्स अपने नाम किए है। 2012 में अंडर -18 कैटेगरी में दुती नेशनल चैंपियन बनीं। उन्होंने 100 मीटर रेस में 11.2 सेकंड का समय लिया। इसके बाद उन्होंने पुणे में आयोजित एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2013 में 'महिला 200 मीटर इवेंट' में कांस्य मैडल जीता था। उसी साल वर्ल्ड यंग चैंपियनशिप में 100 मीटर एथलेटिक्स के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय भी बनीं।

3 फरवरी 1996 को उड़ीसा के छोटे से गांव गोपालपुर की रहने वाली इस महिला एथलिट ने कई अवॉर्ड्स अपने नाम किए है। 2012 में अंडर -18 कैटेगरी में दुती नेशनल चैंपियन बनीं। उन्होंने 100 मीटर रेस में 11.2 सेकंड का समय लिया। इसके बाद उन्होंने पुणे में आयोजित एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2013 में 'महिला 200 मीटर इवेंट' में कांस्य मैडल जीता था। उसी साल वर्ल्ड यंग चैंपियनशिप में 100 मीटर एथलेटिक्स के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय भी बनीं।

दुती ने इटली में जुलाई 2019 में वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में उन्होंने इतिहास रच दिया। वह महिलाओं के ट्रैक एंड फील्ड इवेंट्स में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली महिला बनीं। दुती ने 100 मीटर रेस को महज 11.32 सेकंड में पूरा कर लिया था।

दुती ने इटली में जुलाई 2019 में वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में उन्होंने इतिहास रच दिया। वह महिलाओं के ट्रैक एंड फील्ड इवेंट्स में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली महिला बनीं। दुती ने 100 मीटर रेस को महज 11.32 सेकंड में पूरा कर लिया था।

ये खिलाड़ी उस वक्त सुर्खियों में आई थी जब उन्होंने खुलासा किया था कि वह समलैंगिक है और पिछले पांच सालों से एक लड़की के साथ रिलेशन में हैं। 
 

ये खिलाड़ी उस वक्त सुर्खियों में आई थी जब उन्होंने खुलासा किया था कि वह समलैंगिक है और पिछले पांच सालों से एक लड़की के साथ रिलेशन में हैं। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios