Asianet News Hindi

सहेली के पति से दिल लगा बैठी थी Smriti Irani, खुद के बच्चों के साथ दोस्त की बेटी का भी करती हैं देखभाल

First Published Mar 23, 2021, 12:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. कैबिनेट मिनिस्टर और टीवी की तुलसी के नाम से फेमस स्मृति ईरानी (Smriti Irani) 45 साल की हो गई है। उनका जन्म 23 मार्च, 1976 को दिल्ली में हुआ था। एक्टिंग की दुनिया से लेकर सियासत के गलियारों तक अपना नाम बनाने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति आज किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं। स्मृति मल्होत्रा के नाम से जन्म लेने वाली लड़की आज लोगों के बीच में स्मृति ईरानी के नाम से जानी जाती हैं। स्मृति जैसे ही 16 साल की ईं उनके शौक बदलने लगे थे। उन्होंने गेम्स में हिस्सा लेना शुरू किया और फिर अपनी किस्मत आजमाने मुंबई चली गई थीं। कुछ ही समय बाद स्मृति का मिस इंडिया कॉन्टेस्ट में सेलेक्शन हो गया था, जिसमें उन्होंने टॉप 5 में जगह भी हासिल कर ली थी। यहीं से उनके मॉडलिंग करियर और स्ट्रगल की शुरुआत हुई थी। 

एक इंटरव्यू में स्मृति ने बताया था- मैंने 1998 में मिस इंडिया कॉन्टेस्ट में हिस्सा लिया था, मगर मेरे घरवालों को इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी। मैं देखने में इतनी सुंदर नहीं थीं और दिखने में किसी मॉडल के आस-पास भी नहीं थी, इसीलिए जब मुझे कॉन्टेस्ट के लिये शार्ट-लिस्ट कर लिया गया, तब मुझे काफी आश्चर्य हुआ और फिर मैं फाइनल्स के लिये मुंबई आई थी। 

एक इंटरव्यू में स्मृति ने बताया था- मैंने 1998 में मिस इंडिया कॉन्टेस्ट में हिस्सा लिया था, मगर मेरे घरवालों को इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी। मैं देखने में इतनी सुंदर नहीं थीं और दिखने में किसी मॉडल के आस-पास भी नहीं थी, इसीलिए जब मुझे कॉन्टेस्ट के लिये शार्ट-लिस्ट कर लिया गया, तब मुझे काफी आश्चर्य हुआ और फिर मैं फाइनल्स के लिये मुंबई आई थी। 

उन्होंने बताया था-पिता मेरे कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेने से इतने खुश नहीं थे। किसी को विश्वास नहीं था कि मै फाइनल में भी पहुंच सकती हूं। मैंने अपने पिता से 2 लाख रुपए यह कहकर उधार लिए कि ये पैसे मैं उन्हें वापस भी कर दूंगी। मैं मुंबई आई और पूरी इमानदारी के साथ फाइनल की तैयारियों में जुट गई थी। मेरे पास कॉन्टेस्ट के लिए आउटफिट था, जो मनीष मल्होत्रा ने डिजाइन किया था। मैंने अपने ट्रेनिंग सेशन और अपने खाने के पैसों का भुगतान किया। बाहर का खाना, मुंबई का सफर, टैक्सी का किराया और अकेले रहने की वजह से मेरा खर्चा बढ़ता जा रहा था। दुर्भाग्य से मैं आखिरी दौर तक आई, लेकिन वह कॉन्टेस्ट जीत नहीं पाई। 

उन्होंने बताया था-पिता मेरे कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेने से इतने खुश नहीं थे। किसी को विश्वास नहीं था कि मै फाइनल में भी पहुंच सकती हूं। मैंने अपने पिता से 2 लाख रुपए यह कहकर उधार लिए कि ये पैसे मैं उन्हें वापस भी कर दूंगी। मैं मुंबई आई और पूरी इमानदारी के साथ फाइनल की तैयारियों में जुट गई थी। मेरे पास कॉन्टेस्ट के लिए आउटफिट था, जो मनीष मल्होत्रा ने डिजाइन किया था। मैंने अपने ट्रेनिंग सेशन और अपने खाने के पैसों का भुगतान किया। बाहर का खाना, मुंबई का सफर, टैक्सी का किराया और अकेले रहने की वजह से मेरा खर्चा बढ़ता जा रहा था। दुर्भाग्य से मैं आखिरी दौर तक आई, लेकिन वह कॉन्टेस्ट जीत नहीं पाई। 

इसके बाद पैसा कमाने के लिए उन्होंने रेस्त्रां में फर्श साफ करने का काम किया। रेस्त्रां में नौकरी करते वक्त स्मृति की मुलाकात एक अमीर पारसी लड़की मोना ईरानी से हुई। बता दें कि मोना, जुबिन ईरानी की पहली पत्नी है। मोना, स्मृति से मिली तो दोनों की दोस्ती हुई। धीरे-धीरे ये दोस्ती बढ़ने लगी।

इसके बाद पैसा कमाने के लिए उन्होंने रेस्त्रां में फर्श साफ करने का काम किया। रेस्त्रां में नौकरी करते वक्त स्मृति की मुलाकात एक अमीर पारसी लड़की मोना ईरानी से हुई। बता दें कि मोना, जुबिन ईरानी की पहली पत्नी है। मोना, स्मृति से मिली तो दोनों की दोस्ती हुई। धीरे-धीरे ये दोस्ती बढ़ने लगी।

स्मृति की परेशानियों को देखते हुए मोना ईरानी ने कई बार उनके फ्लैट का किराया भी दिया। ऐसे में धीरे-धीरे दोनों की दोस्ती गहराती गई। इसके बाद मोना ने एक समय स्मृति को अपने घर में रहने का ऑफर दिया। मुश्किलों में जिंदगी गुजार रही स्मृति भी मान गई और मोना के घर आ गई। स्मृति की मोना के पति जुबिन से दोस्ती हुई और यह दोस्ती धीर-धीरे प्यार में बदल गई। हालांकि, जब स्मृति टीवी शो में काम करने लगी तो वे अलग रहने लगा।

स्मृति की परेशानियों को देखते हुए मोना ईरानी ने कई बार उनके फ्लैट का किराया भी दिया। ऐसे में धीरे-धीरे दोनों की दोस्ती गहराती गई। इसके बाद मोना ने एक समय स्मृति को अपने घर में रहने का ऑफर दिया। मुश्किलों में जिंदगी गुजार रही स्मृति भी मान गई और मोना के घर आ गई। स्मृति की मोना के पति जुबिन से दोस्ती हुई और यह दोस्ती धीर-धीरे प्यार में बदल गई। हालांकि, जब स्मृति टीवी शो में काम करने लगी तो वे अलग रहने लगा।

फिर दोनों आपसी रजामंदी से अलग हो गए और तलाक ले लिया। इसके बाद जुबिन ने स्मृति से शादी कर ली। जुबिन ने मार्च 2001 में स्मृति से शादी की। बता दें कि शादी के बाद स्मृति के बेटे जोहर का जन्म 2001 में उस वक्त हुआ था, जब वो सीरियल क्योंकि सास भी कभी बहू थी की शूटिंग कर रही थीं। इसके दो साल बाद 2003 में स्मृति बेटी जोइश की मां बनीं।

फिर दोनों आपसी रजामंदी से अलग हो गए और तलाक ले लिया। इसके बाद जुबिन ने स्मृति से शादी कर ली। जुबिन ने मार्च 2001 में स्मृति से शादी की। बता दें कि शादी के बाद स्मृति के बेटे जोहर का जन्म 2001 में उस वक्त हुआ था, जब वो सीरियल क्योंकि सास भी कभी बहू थी की शूटिंग कर रही थीं। इसके दो साल बाद 2003 में स्मृति बेटी जोइश की मां बनीं।

एक इंटरव्यू में स्मृति ने कहा था- मैंने जुबिन से शादी की, क्योंकि मुझे उनकी जरूरत थी। मैं उनसे सलाह लेती थी, उनसे बात करती थी, हम रोज मिलते थे। तो हमने सोचा कि क्यों ना हम एक-दूसरे से शादी कर लें और हमेशा के लिए एक अच्छे दोस्त और शादीशुदा कपल बन जाएं। मेरे और उनके, दोनों के घरवाले हमारी शादी से खुश थे और उन्होंने हमें अपना आशीर्वाद भी दिया। 

एक इंटरव्यू में स्मृति ने कहा था- मैंने जुबिन से शादी की, क्योंकि मुझे उनकी जरूरत थी। मैं उनसे सलाह लेती थी, उनसे बात करती थी, हम रोज मिलते थे। तो हमने सोचा कि क्यों ना हम एक-दूसरे से शादी कर लें और हमेशा के लिए एक अच्छे दोस्त और शादीशुदा कपल बन जाएं। मेरे और उनके, दोनों के घरवाले हमारी शादी से खुश थे और उन्होंने हमें अपना आशीर्वाद भी दिया। 

उन्होंने कहा था- मैं कभी भी अपने घरवालों के खिलाफ जाकर शादी नहीं करना चाहती थी, क्योंकि मेरा हमेशा से यह मानना था कि अपनी फैमिली को दुख देकर शादी करने से कोई भी कपल कभी खुश नहीं रह पाता और उनकी शादी भी बर्बाद हो जाती है।

उन्होंने कहा था- मैं कभी भी अपने घरवालों के खिलाफ जाकर शादी नहीं करना चाहती थी, क्योंकि मेरा हमेशा से यह मानना था कि अपनी फैमिली को दुख देकर शादी करने से कोई भी कपल कभी खुश नहीं रह पाता और उनकी शादी भी बर्बाद हो जाती है।

स्मृति ने बताया था- मैं बहुत खुश हूं कि जुबिन मेरे साथ हैं, वह मेरे लिए एक ऊर्जा की तरह हैं। लोगों को बड़ा आश्चर्य होता है कि मेरी शादी इतनी सफल है क्योंकि जुबिन का पहले तलाक हो चुका है। मगर जुबिन की पहली पत्नी मोना और उनकी बेटी शनेल से मेरी अच्छी दोस्ती है। उनके बीच की दूरियों से मेरा कोई नाता नहीं है। मेरा मतलब केवल जुबिन से और अपने बच्चों से है और यही मेरे लिए बहुत अच्छा है।

स्मृति ने बताया था- मैं बहुत खुश हूं कि जुबिन मेरे साथ हैं, वह मेरे लिए एक ऊर्जा की तरह हैं। लोगों को बड़ा आश्चर्य होता है कि मेरी शादी इतनी सफल है क्योंकि जुबिन का पहले तलाक हो चुका है। मगर जुबिन की पहली पत्नी मोना और उनकी बेटी शनेल से मेरी अच्छी दोस्ती है। उनके बीच की दूरियों से मेरा कोई नाता नहीं है। मेरा मतलब केवल जुबिन से और अपने बच्चों से है और यही मेरे लिए बहुत अच्छा है।

स्मृति ईरानी की एक सौतेली बेटी भी है। दरअसल, जुबिन ने स्मृति से पहले मोना ईरानी से शादी की थी। मोना से उन्हें शनेल नाम की बेटी है, जो अमेरिका की जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी से लॉ की पढ़ाई कर रही है।

स्मृति ईरानी की एक सौतेली बेटी भी है। दरअसल, जुबिन ने स्मृति से पहले मोना ईरानी से शादी की थी। मोना से उन्हें शनेल नाम की बेटी है, जो अमेरिका की जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी से लॉ की पढ़ाई कर रही है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios