Asianet News Hindi

बेटी को नहीं दिया दूध तो पत्नी को मार डाला, 6 माह से साथ रहकर भी नहीं बोलते थे पति-पत्नी

First Published Jun 8, 2021, 5:15 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कौशांबी (Uttar Pradesh) । बेटी को दूध देने के लिए कहने पर पत्नी नहीं बोली। इससे गुस्साए पति ने उसकी हत्या कर दी। इसके बाद शव के पास ही पति बेसुध होकर पड़ा रहा। वहीं, बच्चों के रोने पर हुई जानकारी के बाद घरवालों ने पुलिस को खबर दी, जिसके आने पर आरोपी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। साथ ही घटना की पूरी कहानी सबके सामने सुनाई, जिसे सुनकर हर कोई हैरान रह गया। यह घटना कोखराज थाना क्षेत्र के जलालपुर टेगाई गांव की है। 

राकेश चौहान उर्फ बब्बन की शादी आठ वर्ष पहले सोनभद्र जिले के बहुगरा गांव की लक्ष्मी (30) से की थी। दोनों से बेटा रंजीत चौहान (5) और बेटी रोशनी (1) हुए है। वैवाहिक जीवन हंसी-खुशी बीत रहा है.


 

राकेश चौहान उर्फ बब्बन की शादी आठ वर्ष पहले सोनभद्र जिले के बहुगरा गांव की लक्ष्मी (30) से की थी। दोनों से बेटा रंजीत चौहान (5) और बेटी रोशनी (1) हुए है। वैवाहिक जीवन हंसी-खुशी बीत रहा है.


 

पुलिस के मुताबिक राकेश ने बताया कि पत्नी लक्ष्मी से बातचीत का सिलसिला बंद हुए छह महीने का समय बीत चुका था। हालांकि दोनों एक साथ रहते थे। राकेश ने उसे मनाने की कोशिश की पर वह नहीं मानी।

पुलिस के मुताबिक राकेश ने बताया कि पत्नी लक्ष्मी से बातचीत का सिलसिला बंद हुए छह महीने का समय बीत चुका था। हालांकि दोनों एक साथ रहते थे। राकेश ने उसे मनाने की कोशिश की पर वह नहीं मानी।

पुलिस के मुताबिक सोमवार रात बेटी रोशनी दूध के लिए रोने लगी। राकेश ने लक्ष्मी से बोतल में बेटी को दूध देने को कहा। लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। गुस्से में आकर उसने पत्नी के सिर पर नुकीले औजार से वार कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। 

पुलिस के मुताबिक सोमवार रात बेटी रोशनी दूध के लिए रोने लगी। राकेश ने लक्ष्मी से बोतल में बेटी को दूध देने को कहा। लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। गुस्से में आकर उसने पत्नी के सिर पर नुकीले औजार से वार कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। 

बच्चों की रोने की आवाज सुनकर परिजनों ने दरवाजा खुलवाने की कोशिश की, लेकिन पत्नी की लाश के पास बेसुध बैठे राकेश ने दरवाजा नहीं खोला। खिड़की से बिस्तर पर बिखरा खून देख परिवार वाले सकते में आ गए।

बच्चों की रोने की आवाज सुनकर परिजनों ने दरवाजा खुलवाने की कोशिश की, लेकिन पत्नी की लाश के पास बेसुध बैठे राकेश ने दरवाजा नहीं खोला। खिड़की से बिस्तर पर बिखरा खून देख परिवार वाले सकते में आ गए।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने दवाजा तोड़वाया। जहं कमरे में राकेश बेहोश की हालत में पत्नी के शव के पास मिला। प्राथमिक उपचार के बाद उसे होश में लेकर पूछताछ की गई है। उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने दवाजा तोड़वाया। जहं कमरे में राकेश बेहोश की हालत में पत्नी के शव के पास मिला। प्राथमिक उपचार के बाद उसे होश में लेकर पूछताछ की गई है। उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios