Asianet News Hindi

बचपन में ठीक से बोल नहीं पाते, एक्सीडेंट में पत्नी-बेटी और ब्रेन कैंसर से बेटे को खोया, पढ़ें 10 किस्से

First Published Jan 20, 2021, 2:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कहते हैं कि हर कामयाबी के पीछे बड़ा संघर्ष छुपा होता है। कोई भी मुकाम सरलता से नहीं मिलता। अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बने जो बाइडेन भी इसी का उदाहरण हैं। दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र अमेरिका के सबसे उम्रदराज प्रेसिडेंट बाइडेन संघर्ष की जीती-जागती मिसाल हैं। बचपन से उन्हें जिंदगी में कई कड़ी परीक्षा देनी पड़ीं। एक बीमारी के चलते वे ठीक से बोल नहीं पाते थे। अस्थमा उन्हें परेशान करता था। सबकुछ जैसे-तैसे चल रहा था कि एक हादसे में पत्नी और बेटे को गंवा दिया। लेकिन कहते हैं कि जो टूटता नहीं है, वो ही इतिहास रचता है। बाइडेन ने यह कर दिखाया। पढ़िए बाइडेन की प्रेरक कहानी और देखिए कुछ पुराने फोटोज....

78 वर्षीय जो बाइडेन का जन्म 20 नवंबर, 1942 को हुआ था। बाइडेन तीसरी कोशिश में अमेरिका के राष्ट्रपति बन सके। इससे पहले 1987 और 2008 में उन्होंने डेमोक्रेट पार्टी से उम्मीदवारी की थी। हालांकि उन्हें समर्थन नहीं मिला था। वे दो बार वाइस प्रेसिडेंट रहे। बराक ओबामा ने बाइडेन को अमेरिकी इतिहास का ‘बेस्ट वाइस प्रेसिडेंट’ बताया था।

पत्नी डॉ. जिल बिडेन के साथ नौजवान जो बिडेन। यह तस्वीर ट्वीटर पर पोस्ट की गई थी।

 

78 वर्षीय जो बाइडेन का जन्म 20 नवंबर, 1942 को हुआ था। बाइडेन तीसरी कोशिश में अमेरिका के राष्ट्रपति बन सके। इससे पहले 1987 और 2008 में उन्होंने डेमोक्रेट पार्टी से उम्मीदवारी की थी। हालांकि उन्हें समर्थन नहीं मिला था। वे दो बार वाइस प्रेसिडेंट रहे। बराक ओबामा ने बाइडेन को अमेरिकी इतिहास का ‘बेस्ट वाइस प्रेसिडेंट’ बताया था।

पत्नी डॉ. जिल बिडेन के साथ नौजवान जो बिडेन। यह तस्वीर ट्वीटर पर पोस्ट की गई थी।

 

बाइडेन की दो शादियां हुईं। पहली शादी 1966 में नेलिया से हुई थी। बाइडेन अकसर किस्सा सुनाते हैं कि जब उनकी सास ने पूछा कि तुम काम क्या करते हो, तब उन्होंने जवाब दिया था कि वे एक दिन अमेरिका के राष्ट्रपति बनकर दिखाएंगे। बाइडेन 36 साल सीनेटर और 8 साल वाइस प्रेसिडेंट रहे। 

बीच पर बिडेन अपने बच्चे के साथ। 

बाइडेन की दो शादियां हुईं। पहली शादी 1966 में नेलिया से हुई थी। बाइडेन अकसर किस्सा सुनाते हैं कि जब उनकी सास ने पूछा कि तुम काम क्या करते हो, तब उन्होंने जवाब दिया था कि वे एक दिन अमेरिका के राष्ट्रपति बनकर दिखाएंगे। बाइडेन 36 साल सीनेटर और 8 साल वाइस प्रेसिडेंट रहे। 

बीच पर बिडेन अपने बच्चे के साथ। 

बाइडेन को बचपन से संघर्ष करना पड़ा। जब वे 10 साल के थे, तब उनका परिवार फिलाडेल्फिया के सेरेंटन से डेलावेयर के विलमिंग्टन में शिफ्ट हो गया था। तब से उनका परिवार यही रह रहा है। बाइडेन को बचपन में बोलने में दिक्कत थी। उन्हें उच्चारण संबंधी बीमारी (stutter) थी। इसलिए उनके दोस्त मजाक उड़ात थे।

यह तस्वीर तब की है, जब बिडेन 10 साल के थे।

बाइडेन को बचपन से संघर्ष करना पड़ा। जब वे 10 साल के थे, तब उनका परिवार फिलाडेल्फिया के सेरेंटन से डेलावेयर के विलमिंग्टन में शिफ्ट हो गया था। तब से उनका परिवार यही रह रहा है। बाइडेन को बचपन में बोलने में दिक्कत थी। उन्हें उच्चारण संबंधी बीमारी (stutter) थी। इसलिए उनके दोस्त मजाक उड़ात थे।

यह तस्वीर तब की है, जब बिडेन 10 साल के थे।

स्कूल टाइम में बाइडेन फुटबाल के बेहतर खिलाड़ी रहे हैं। वे मानते हैं कि फुटबॉल ने उन्हें संघर्ष करना सिखाया।

यह तस्वीर बिडेन के ग्रेजुएशन के बाद की है। तब वे फुटबॉल खेला करते थे।

स्कूल टाइम में बाइडेन फुटबाल के बेहतर खिलाड़ी रहे हैं। वे मानते हैं कि फुटबॉल ने उन्हें संघर्ष करना सिखाया।

यह तस्वीर बिडेन के ग्रेजुएशन के बाद की है। तब वे फुटबॉल खेला करते थे।

बाइडेन ने सायराकस यूनिवर्सिटी से लॉ किया है। जब वे कॉलेज से बाहर निकले, तब अमेरिका और वियतनाम के बीच युद्ध शुरू हो गया था। बाइडेन युद्ध में शामिल होना चाहते थे, लेकिन अस्थमा की बीमारी के चलते उन्हें यह मौका नहीं मिला। 
यह तस्वीर तब की है, जब बिडेन करीब 20 साल के थे।

बाइडेन ने सायराकस यूनिवर्सिटी से लॉ किया है। जब वे कॉलेज से बाहर निकले, तब अमेरिका और वियतनाम के बीच युद्ध शुरू हो गया था। बाइडेन युद्ध में शामिल होना चाहते थे, लेकिन अस्थमा की बीमारी के चलते उन्हें यह मौका नहीं मिला। 
यह तस्वीर तब की है, जब बिडेन करीब 20 साल के थे।

बाइडेन ने जब 1987 और फिर 2008 में डेमोक्रेट पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद के लिए दावेदारी पेश की, तो पांचवें नंबर पर रहे। यानी तब कोई नहीं चाहता था कि बाइडेन राष्ट्रपति बनें।
 

यह तस्वीर 1968 की है, जब बिडेन लॉ की पढ़ाई कर रहे थे।

बाइडेन ने जब 1987 और फिर 2008 में डेमोक्रेट पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद के लिए दावेदारी पेश की, तो पांचवें नंबर पर रहे। यानी तब कोई नहीं चाहता था कि बाइडेन राष्ट्रपति बनें।
 

यह तस्वीर 1968 की है, जब बिडेन लॉ की पढ़ाई कर रहे थे।

1972 में एक कार हादसे में उनकी पत्नी नेलिया और बेटी नाओमी की मौत हो गई। लेकिन कार में सवार दोनों बेटे बो और हंटर बच गए। बाइडेन बेटों के सहारे इस सदमे से उबरने की कोशिश कर रहे थे कि 2015 में बो की ब्रेन कैंसर से मौत हो गई।

यह तस्वीर 70 के दशक की है। जो बिडेन अपने बेटे बो के साथ बॉस्केटबॉल गेम देखते हुए। 

1972 में एक कार हादसे में उनकी पत्नी नेलिया और बेटी नाओमी की मौत हो गई। लेकिन कार में सवार दोनों बेटे बो और हंटर बच गए। बाइडेन बेटों के सहारे इस सदमे से उबरने की कोशिश कर रहे थे कि 2015 में बो की ब्रेन कैंसर से मौत हो गई।

यह तस्वीर 70 के दशक की है। जो बिडेन अपने बेटे बो के साथ बॉस्केटबॉल गेम देखते हुए। 

बाइडेन ने 1977 में जिल ट्रेसी जैकब्स से दूसरी शादी की। इससे उन्हें बेटी एश्ले हुई। बाइडेन अब अपने परिवार के साथ खुश हैं। जिल प्रोफेसर हैं। 1975 में दोनों पहली बार मिले थे। बाइडेन ने उन्हें पांच बार प्रपोज किया था।

अपनी पत्नी जिल, दो बेटों, बेटी और नाती-पोतों के साथ बाइडेन

बाइडेन ने 1977 में जिल ट्रेसी जैकब्स से दूसरी शादी की। इससे उन्हें बेटी एश्ले हुई। बाइडेन अब अपने परिवार के साथ खुश हैं। जिल प्रोफेसर हैं। 1975 में दोनों पहली बार मिले थे। बाइडेन ने उन्हें पांच बार प्रपोज किया था।

अपनी पत्नी जिल, दो बेटों, बेटी और नाती-पोतों के साथ बाइडेन

2008 में एक इंटरव्यू में बाइडेन ने खुलासा किया था कि‘चेरियेट्स ऑफ फायर’ उनकी पसंदीदा फिल्म है। इस फिल्म को वे सीखने का बढ़िया जरिया बताते हैं। 2016 में बाइडेन ने अपनी पसंद और नापसंद की चीजों के बारे में बताया था। उन्हें आइसक्रीम बहुत पसंद है, लेकिन शराब और स्मोकिंग से दूर रहते हैं।

यह तस्वीर स्कूल टाइम की है। जब बिडेन क्लास में प्रेसिडेंट हुआ करते थे।

2008 में एक इंटरव्यू में बाइडेन ने खुलासा किया था कि‘चेरियेट्स ऑफ फायर’ उनकी पसंदीदा फिल्म है। इस फिल्म को वे सीखने का बढ़िया जरिया बताते हैं। 2016 में बाइडेन ने अपनी पसंद और नापसंद की चीजों के बारे में बताया था। उन्हें आइसक्रीम बहुत पसंद है, लेकिन शराब और स्मोकिंग से दूर रहते हैं।

यह तस्वीर स्कूल टाइम की है। जब बिडेन क्लास में प्रेसिडेंट हुआ करते थे।

बाइडेन को डॉग्स काफी पसंद हैं। 1967 में उन्होंने अपनी पत्नी के लिए पपी खरीदा था। अभी बाइडेन के पास दो दो जर्मन शेफर्ड डॉग्स हैं। इनके नाम मेजर और चैम्प हैं। बाइडेन अपनी मां जीन के काफी करीब रहे हैं। जिनका 2010 में निधन हो गया था।

ये भी पढ़ें :

इसे उड़ता 'व्हाइट हाउस' कहते हैं, न्यूक्लियर बम भी इसका कुछ नहीं बिगाड़ सकता, जानें 11 फैक्ट ...

आज अमेरिका में 150 साल पुराना रिकॉर्ड टूटेगा, जानिए इस बार कितना बदला है राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण समारोह

बचपन में ठीक से बोल नहीं पाते, एक्सीडेंट में पत्नी-बेटी और ब्रेन कैंसर से बेटे को खोया, पढ़ें 10 किस्से

बच्चों को लॉन में खेलने से रोकने पर 13 साल की उम्र में कमला हैरिस ने कर दिया था आंदोलन 

दुनिया के सबसे ताकतवर आदमी के घर 'व्हाइट हाउस' के डरावने और चौंकाने वाले 12 किस्से ...

कमला हैरिस के गांव में ओलंपिक जीतने जैसी खुशी, लोग बोले- अगर वे भारत का समर्थन करेंगी तो राष्ट्रपति 

अमेरिका: बाइडेन 35 शब्दों में लेंगे शपथ, सुरक्षा के लिए 25 हजार सैनिकों ने वॉशिंगटन को किले में तब्दील

दुनिया के सबसे ताकतवर आदमी के यूं होते हैं ठाठबाट, जानिए कितनी मिलती है सैलरी 

बाइडेन को डॉग्स काफी पसंद हैं। 1967 में उन्होंने अपनी पत्नी के लिए पपी खरीदा था। अभी बाइडेन के पास दो दो जर्मन शेफर्ड डॉग्स हैं। इनके नाम मेजर और चैम्प हैं। बाइडेन अपनी मां जीन के काफी करीब रहे हैं। जिनका 2010 में निधन हो गया था।

ये भी पढ़ें :

इसे उड़ता 'व्हाइट हाउस' कहते हैं, न्यूक्लियर बम भी इसका कुछ नहीं बिगाड़ सकता, जानें 11 फैक्ट ...

आज अमेरिका में 150 साल पुराना रिकॉर्ड टूटेगा, जानिए इस बार कितना बदला है राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण समारोह

बचपन में ठीक से बोल नहीं पाते, एक्सीडेंट में पत्नी-बेटी और ब्रेन कैंसर से बेटे को खोया, पढ़ें 10 किस्से

बच्चों को लॉन में खेलने से रोकने पर 13 साल की उम्र में कमला हैरिस ने कर दिया था आंदोलन 

दुनिया के सबसे ताकतवर आदमी के घर 'व्हाइट हाउस' के डरावने और चौंकाने वाले 12 किस्से ...

कमला हैरिस के गांव में ओलंपिक जीतने जैसी खुशी, लोग बोले- अगर वे भारत का समर्थन करेंगी तो राष्ट्रपति 

अमेरिका: बाइडेन 35 शब्दों में लेंगे शपथ, सुरक्षा के लिए 25 हजार सैनिकों ने वॉशिंगटन को किले में तब्दील

दुनिया के सबसे ताकतवर आदमी के यूं होते हैं ठाठबाट, जानिए कितनी मिलती है सैलरी 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios