Asianet News Hindi

सब्र की इतंहा: किसानों ने हरियाणा के CM खट्टर की गाड़ी पर बरसाए डंडे, टूटे कांच और गिर गईं पगड़ियां

 यह मामला अंबाला का है, जहां सीएम खट्टर नगर निगम चुनाव को लेकर बैठक करने के लिए पहुंचे थे। जैसे ही उनका काफिला किसानों के सामने से गुजरा तो किसानों ने मुख्यमंत्री की गाड़ियों पर डंडे बरसाने शुरू कर दिए।

haryan news angry farmers attack on haryana cm manohar lal car by poles in ambala kpr
Author
Ambala, First Published Dec 22, 2020, 4:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अंबाला (हिरायाणा). केंद्र सरकार के लाए नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है। मंगलवार को अन्नदाताओं की नारजगी का सामना हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को करना पड़ा। किसानों ने खट्टर के काफिले पर हमला कर दिया और उनकी गाड़ी पर जमकर डंडे बरसाए। इस बीच पुलिसकर्मियों की धक्क-मुक्की भी हो गई।

सीएम को देखते ही भड़क गए किसान
दरअसल, यह मामला अंबाला का है, जहां सीएम खट्टर नगर निगम चुनाव को लेकर बैठक करने के लिए पहुंचे थे। जैसे ही उनका काफिला किसानों के सामने से गुजरा तो किसान मुख्यमंत्री को शांतिपूर्वक काले झंडे दिखाने लगे। प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने सीएम की गाड़ियों को दूसरे रास्ते की और मोड़ दिया। बस इसी बात से गुस्साए किसान उनके खिलाफ नारेबाजी करने लगे। जब पुलिस ने उनको शांत कराने की कोशिश की तो देखते ही देखते किसान और भड़क गए और जिस गाड़ी में खट्टर सवार थे उसपर डंडे बरसाना शुरू कर दिया। 

(अंबाला में जब मुख्यमंत्री खट्टर का काफिला किसानों के सामने निकला तो वह गाड़ी पर डंडे बरसाने लगे)
 

बिफरे किसान, गिर गईं पगड़ियां...
डंडे बरसाने के साथ-साथ किसानों ने सीएम खट्टर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जिसके चलते कई सरदार किसानों की पगड़ियां गिर गईं, जिससे किसान और ज्यादा भड़क गए और पुलिस से धक्का-मुक्की पर उतर आए। पुलिस के साथ हुई   धक्का-मुक्की में कई किसानों को चोटें भी आई हैं।

कड़ाके की ठंड में 27 दिन से डटे हैं अन्नदाता
बता दें कि  दिल्ली की सिंधु बॉडर्र पर किसान आंदोलन का आज 27वां दिन है। अबी तक किसानों से सरकार ने कई बार बातचीत की, लेकिन वह बेनतीजा रही। बताया जा रहा है कि आज मंगलवार शाम के एक बार फिर सरकार किसानों से चर्चा करने वाली है। हालांकि किसान पहले ही कह चुके हैं कि जब तक तीनों कानूनों को वापस नहीं किया जाता तब तक आंदोलन चलता रहेगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios