Asianet News Hindi

रिटायर्ड कैप्‍टन पिता के शव के साथ 5 दिन से रह रहा था बेटा, बोला-पापा सो रहे खाना खाने के लिए उठेंगे

पुलिस ने  विक्षिप्त बेटा प्रवीण से पूछताछ की तो वह कहने लगा सर पापा अभी सो रहे हैं, वो खाना खाने के लिए उठेंगे। आलम यह था कि बेटा अपने पिता का नाम तक नहीं बता पा रहा था। 

haryana news emotional and shocking story of  retired army captain dead body found in yamunanagar KPR
Author
Yamunanagar, First Published Jan 14, 2021, 7:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

यमुनानगर. हरियाणा में एक ऐसी भयावहता वाली मार्मिक घटना सामने आई है, जिसे जानकर हर किसी का कलेजा फट गया। सब यही बोले कि भगवान ऐसी मौत और किसी को ना दे। यहां यमुनानगर में एक सेना से रिटायर्ड कैप्‍टन 80 साल के राम सिंह की मौत हो गई थी। हैरानी की बात यह थी कि पिछले पांच से दिन से शव के साथ मृतक का बेटा सो रहा था। जब लोगों ने उसे उठाया तो कहने लगा शांत रहो पापा जी सो रहे हैं, उठकर वह खाना खाएंगे।

मृतक के परिवार के बारे में कोई कुछ नहीं जानता
दरअसल, यह दर्दनाक घटना यमुनानगर शहर के सेक्टर-17 की है। जहां कैप्‍टन रैंक से रिटायर्ड 80 साल के राम सिंह अपने मानसिक विक्षिप्त बेटे प्रवीण कुमार के साथ रहते थे। कुछ सालों पहले उनकी पत्नी की बीमारी के चलते मौत हो चुकी है। आसपास के लोग इन दोनों के अलावा परिवार में और किसी को नहीं जानते थे। 

कैप्‍टन के सड़े-गले शव के साथ सो रहा था बेटा
बताया जाता है कि कैप्‍टन राम सिंह की मौत आज से पांच दिन पहले हुई है। गुरुवार को उनका शव घर से गली-सड़ी हालत में बरामद किया गया। पास में ही मृतका विक्षिप्त बेटा प्रवीण कुमार भी लेटा हुआ था। शुरुआती जांच में सामने आया है कि बुजुर्ग की मौत ठंड लगने की वजह से हुई होगी। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है।

ऐसे हुआ कैप्टन की मौत का खुलासा
 रिटायर्ड कैप्‍टन के पड़ोसियों ने बताया कि गुरुवार सुबह बुजुर्ग का बेटा प्रवीण छत पर कपड़ों में आग लगा रहा था। तभी पड़ोस में रहने वाली एक महिला ने देख लिया और पुलिस को सूचित देकर बुलाया। इसके बाद जब पड़ोसियों ने मृतक के घ र जाना चाहा तो इसी दौरान कमरे से बदबू आने लगी।  पुलिस ने अंदर घुसकर रजाई उठाकर देखा तो उसके नीचे सड़ी गली हालत में बुजुर्ग का शव पड़ा हुआ था। वहीं पास में उसका बेटा प्रवीण का बिस्तर लगा था।

बेटे की बात सुनते हर कोई हुआ भावुक
जब पुलिस ने  विक्षिप्त बेटा प्रवीण से पूछताछ की तो वह कहने लगा सर पापा अभी सो रहे हैं, वो खाना खाने के लिए उठेंगे। आलम यह था कि बेटा अपने पिता का नाम तक नहीं बता पा रहा था। पुलिस से लेकर वहां पर मौजूद हर शख्स भावुक हो गया। कहने लगा है भगवान तेरा ये कैसा न्याय है कि पिता की मौत को पांच दिन हो गए और पास में रह रहे बेटे को पता तक नहीं चला। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios