ढ़ोल नगाडों और मिठाई के साथ बिजली दफ्तर पहुंची ये बुजुर्ग महिला, बोली- सरकार के नाम करना है अपना घर, जानें वजह

| Nov 30 2022, 02:12 PM IST

ढ़ोल नगाडों और मिठाई के साथ बिजली दफ्तर पहुंची ये बुजुर्ग महिला, बोली- सरकार के नाम करना है अपना घर, जानें वजह

सार

हरियाणा के पानीपत में बिजली दफ्तर में उस समय लोग स्तब्ध रह गए जब एक बुजुर्ग महिला ढोल-नगाड़ों के साथ हाथ मे मिठाई का डिब्बा लेकर पहुंच गई। लोगों को समझ नहीं आया कि आखिरकार बिजकी दफ्तर में इस तरह से आने वाली ये महिला कौन है।

पानीपत(Haryana). हरियाणा के पानीपत में बिजली दफ्तर में उस समय लोग स्तब्ध रह गए जब एक बुजुर्ग महिला ढोल-नगाड़ों के साथ हाथ मे मिठाई का डिब्बा लेकर पहुंच गई। लोगों को समझ नहीं आया कि आखिरकार बिजकी दफ्तर में इस तरह से आने वाली ये महिला कौन है। अफसरों को भी जब कुछ समझ नही आया तो उन्होंने महिला से इस तरह आने की वजह पूछी। महिला ने जब वजह बताई तो अफसरों समेत दफ्तर में आए उपभोक्ताओं के भी होश उड़ गए।

हरियाणा के पानीपत के संतनगर इलाके में बुजुर्ग महिला सुमन 60 वर्ग गज के दो कमरों के मकान में रहती है। सुमन पास ही स्थित मित्तल फैक्टरी में मजदूरी करती है। वह परिवार में अकेली है और मजदूरी से मिले पैसे ही उसकी जीविका का साधन हैं। इस महीने जब सुमन के घर बिजली का बिल आया तो उसके होश फाख्ता हो गए। दरअसल विभाग ने सुमन के घर का बिल 21 लाख 89 हजार रुपए भेजा था। इतना भारी-भरकम बिल देख सुमन परेशान हो गई। उसने अफसरों को उनकी गलती याद दिलाने और उसके सुधार के लिए ये तरकीब निकाली और ढोल नगाड़े लेकर बिजली दफ्तर पहुंच गई।

Subscribe to get breaking news alerts

इसके पहले भी आया था 12 लाख का बिल
साल 2019 में बुजुर्ग महिला सुमन का बिजली बिल अचानक 12 लाख रुपये आया था, जबकि एक महीने पहले ही उसने सारा बिल भर दिया था। सुमन ने बताया कि 12 लाख रुपये उसके पास नहीं है, जिसके कारण वे बिल नहीं भर पाईं और लगातार इस बिल पर ब्याज लगता जा रहा है। अफसरों से सुमन ने कई बार उनकी गलती सुधारने के ये शिकायत भी की लेकिन उसकी शिकायत हर बार अनसुनी कर दी गई।

99 हजार लिखी है बिल में मीटर रीडिंग
सुमन के मुताबिक बिजली के बिल में देखा गया तो उसमें 99 हजार रीडिंग आई हुई थी, जबकि 2 किलोवाट कनेक्शन मीटर में इतनी रीडिंग साल भर में भी नहीं आ सकती है। महिला का कहना है कि उसके पास आखिरी उपाय केवल घर बेचना है, वह भी शायद इतने रुपये में नहीं बिकेगा कि वह बिल भर लें। अब सुमन अधिकारियों के ऑफिसेज का चक्कर लगाने को मजबूर है।

अधिकारी बोले- बिल देखने से लग रहा हुई है गलती
पानीपत सबडिवीजन बिजली निगम के एसडीओ नरेंद्र जागलान का कहना है कि महिला का जो बिजली बिल का कनेक्शन है, वह उनकी डिवीजन के अंदर नहीं आता है। इसलिए वह बिजली बिल को ठीक नहीं कर सकते हैं। महिला को अपना बिजली बिल ठीक करवाने के लिए किला स्थित डिवीजन पर जाना पड़ेगा और तभी उनका बिजली का बिल ठीक होगा। प्रथम दृष्टया देखने से लग रहा है कि बिजली बिल में कुछ त्रुटि हुई है।