Asianet News Hindi

हवा में दूर तक जा सकता है कोरोना वायरस, जानिए कैसे फैलता है और बचने का सबसे अच्छा उपाय

 जर्नल द लांसेट ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया था कि कोरोना वायरस का ट्रांसमिशन ज्यादातर हवा के जरिए होता है। रिपोर्ट में गाइडलाइन में बदवाल की बात भी कही गई थी। 

Corona virus can go far in the air, know how to spread and the best way to escape Pwa
Author
New Delhi, First Published May 8, 2021, 12:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण (Covid-19) की दूसरी लहर का सबसे ज्यादा असर भारत में दिखाई दे रहा है। बीते एक साल से इस बात पर चर्चा हो रही है कि कोरोना वायरस फैलता कैसे है। इसे लेकर दुनियाभर में कई तरह की रिसर्च की गई हैं। हवा से वायरस फैलने की बात को अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी मान लिया है। इससे पहले WHO ने इन दावों को सही नहीं माना था। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, वायरस वहां फैल सकता है जहा वेंटिलेशन सही नहीं है। बंद जगह जहां भीड़ हो वहां भी इसके फैलने की संभावना है। हवा में एक मीटर से भी ज्यादा दूर तक वायरस जा सकता है।

इसे भी पढ़ें- कोरोना से ठीक होने पर सबसे पहले बदलें अपना टूथब्रश, जानें टूथब्रश-टंग क्लीनर कैसे फैलाते हैं संक्रमण?

WHO ने दिया जवाब
कोरोना वायरस से जुड़े सवालों का जवाब देते हुए WHO ने माना कि कोरोना वायरस हवा के जरिए फैल सकता है। कोरोना वायरस कैसे फैलता है इसको लेकर कई तरह के सवाल पूछे जा रहे थे। एक साल पहले WHO ने हवा में वायरस फैलने के दावे को गलत बताते हुए कहा था-पर्याप्त सबूत नहीं हैं कि कोरोना हवा से भी फैलता है।

जर्नल द लांसेट ने किया था दावा
हाल ही में जर्नल द लांसेट ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया था कि कोरोना वायरस का ट्रांसमिशन ज्यादातर हवा के जरिए होता है। रिपोर्ट में गाइडलाइन में बदवाल की बात भी कही गई थी। एक्सपर्ट ने दावा किया था कि कोविड-19 मामलों में 33 प्रतिशत से 59 प्रतिशत तक मामलों में एसिम्प्टोमैटिक या प्रिजेप्टोमैटिक ट्रांसमिशन जिम्मेदार हो सकते हैं जो खांसने या छींकने वाले नहीं हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि वायरस का ट्रांसमिशन आउटडोर (बाहर) की तुलना में इंडोर (अंदर) में अधिक होता है और इंडोर में अगर वेंटिलेशन हो तो संभावना काफी कम हो जाती है। 

जुलाई 2020 में कहा था हवा से नहीं फैलता वायरस
जुलाई 2020 में कई एक्सपर्ट्स ने कहा था कि कोरोना वायरस हवा से भी फैलता है। इस पर WHO की तरफ से ये कहा गया था कि कोरोना वायरस हवा से फैलता है इस बात का कोई सबूत नहीं। जुलाई 2020 की गाइडलाइन में भी यही कहा गया था कि कोरोना वायरस संक्रमित से संपर्क में आने, उसके मुंह या नाक से निकलने वाले ड्रॉपलेट्स के जरिए फैलता है।

इसे भी पढ़ें- माउथवॉश से गरारा करने से खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? जानिए क्या कहती है ये स्टडी

क्या कहना है भारत के वैज्ञानि सलाहकार का
हाल ही में केंद्र सरकार के वैज्ञानिक सलाहकार विजय राघवन ने कहा था कि देश में कोरोना की तीसरी लहर जरूर आएगी। साथ ही उन्होंने कहा था कि हवा से कोरोना नहीं फैलता है। नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने कहा कि यह बीमारी जानवरों से नहीं फैल रही है। यह इंसानों से इंसानों के बीच का ट्रांसमिशन है। 

कैसे करें सुरक्षा
कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाना अनिवार्य है। बिना मास्क के घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।

 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आईए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios