Asianet News HindiAsianet News Hindi

Covid-19 booster shots: कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज के साइड इफेक्ट्स, इस तरह करें बचाव

कोविड के टीके और बूस्टर शॉट्स लोगों को गंभीर बीमारी और मृत्यु से बचा सकते हैं, लेकिन इसके कुछ दुष्प्रभाव भी हैं। आइए आपको बताते हैं।

Covid 19 vaccine: side effects of booster shots, know how to prevent them dva
Author
New Delhi, First Published Jan 11, 2022, 12:59 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हेल्थ डेस्क : देश में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के बीच सोमवार से कोविड वैक्सीन (Corona Vaccine) की बूस्टर डोज यानी एहतियती खुराक (Precautions Dose) की शुरुआत हो गई। पहले ही दिन 9.68 लाख लोगों को वैक्सीन का बूस्टर शॉट दिया गया। दुनिया भर में कई देश बूस्टर शॉट्स को आशा के साथ देख रहे हैं क्योंकि ये ओमीक्रॉन (Omicron) के खतरे को कम कर सकता है। कोविड के टीके लोगों को गंभीर बीमारी और मृत्यु से बचा सकते हैं, हालांकि इसके कुछ दुष्प्रभाव भी हैं। आइए आपको बताते हैं, बूस्टर डोज के साइड इफेक्ट्स और इससे बचाव के तरीके...

बूस्टर डोज के साइड इफेक्ट्स
बुखार, सिरदर्द, थकान, दर्द और इंजेक्शन स्थल पर सूजन बूस्टर डोज के सामान्य साइड इफेक्ट्स हैं। हालांकि, डॉक्टर्स का कहना है कि ये साइड इफेक्ट्स हल्के होते हैं और किसी को चिंता नहीं करनी चाहिए। आप डॉक्टर की सलाह पर पेरासिटामोल या अन्य कोई दवा ले सकते हैं।

क्यों होता है टीके का दुष्प्रभाव
बता दें कि जब भी कोई टीकाकरण होता है, तो टीके के आधार पर हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार के वायरल एंटीजन पेश किए जाते हैं। ये एंटीजन कुछ एंटीबॉडी प्रतिक्रिया पैदा करने के लिए होते हैं ताकि जब वास्तविक वायरस हमला करें, तो हमारे पहले से मौजूद एंटीबॉडी इसे बेअसर कर सकें, इसलिए वैक्सीन के बाद हल्का बुखार, सिरदर्द या बदन दर्द होना आम बात है।

बूस्टर शॉट से पहले और बाद में बरते ये सावधानी
याद रखें कि कोविड वैक्सीन का बूस्टर शॉट लेने के लिए खाली पेट जाने से बचना चाहिए। वैक्सीन से पहले हेल्दी और हेवी डाइट लेनी चाहिए। इसके अलावा बूस्टर डोज लेने के पहले या बाद में धूम्रपान या शराब का सेवन न करें और कैफीनयुक्त पेय पदार्थों का सेवन करने से बचें।

इसके अलावा आप बूस्टर शॉट से पहले और बाद में खूब सारा पानी पिएं, ताकि आप हाइड्रेटेड रहें। साथ ही प्रोटीन और आसानी से पचने वाले भोजन जैसे दही, फ्रूट्स और दाल-खिचड़ी खाएं।

अपनी डाइट में प्रोबायोटिक्स या प्रीबायोटिक्स और फाइबर की मात्रा बढ़ाएं। इसके लिए अधिक मौसमी चीजें और संपूर्ण खाद्य पदार्थ जैसे साबुत अनाज और बाजरा, साबुत दालें आदि अपनी डाइट में शामिल करें। एक बार खाने की वजह आप छोटी-छोटी मील्स लें।

ये भी पढ़ें- Covid 19 Live Updates : दिल्ली में सभी प्राइवेट ऑफिस बंद, घर से काम करेंगे कर्मचारी, कई पाबंदियां लागू

सर्जिकल, N-95 या कपड़े का मास्क? Omicron से बचने के लिए कौन सा है सही, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios