Asianet News HindiAsianet News Hindi

सिर्फ 9 महीने में घटाया 40 किलो वजन, सड़क किनारे बेचे पराठे, फिर बनीं फिटनेस ट्रेनर

वजन कम करने के लिए लोग क्या कुछ नहीं करते जिम में पसीना बहाते हैं, रनिंग करते हैं। ऐसे में आज हम आपको बताते हैं कि ऐसी महिला की कहानी जो वाकई बेहद इंस्पिरेशनल है और इनसे सभी को सीख लेनी चाहिए।

Weight loss journey of a woman who loses 40 kg weight in 9 months dva
Author
First Published Sep 7, 2022, 1:45 PM IST

हेल्थ डेस्क : अक्सर उन लोगों की फिटनेस जर्नी हमें बहुत आकर्षित करती है, जो लोग बहुत कम समय में अपना ज्यादा से ज्यादा वजन कम कर लेते हैं। इसके लिए मोटिवेशन और डेडीकेशन होना जरूरी है। कुछ इसी तरह का समर्पण दिखाया है इस महिला ने जिसका शादी के बाद वजन 110 किलो हो गया था, लेकिन जब उन्हें एहसास हुआ कि उन्हें अपने लिए कुछ करना चाहिए फिर उन्होंने जिस जज्बे के साथ अपनी वेट लॉस जर्नी स्टार्ट की आज वह सब के लिए इंस्पिरेशन बन गई हैं। आइए आज हम आपको मिलाते हैं ऐसी ही महिला से जिन्होंने 9 महीने में 40 किलो वजन कम किया ।

कौन है तूलिका सिंह
यह है नेशनल गेम्स की तैयारी करने वाले बच्चों को ट्रेनिंग देने वाली तूलिका सिंह, जो आज अपनी फिटनेस और स्ट्रगल की वजह से चर्चा में है। लेकिन तूलिका का सफर इतना आसान नहीं था कभी 110 किलो की हो चुकी तूलिका ने कड़ी मेहनत कर अपनी बॉडी को मेंटेन किया और इसके लिए उन्होंने तपती धूप से लेकर झमाझम बरसात में तक रनिंग की और 9 महीने के अंदर 40 किलो वजन घटा लिया। आज उनकी फिटनेस जर्नी सभी के लिए प्रेरणा है। लेकिन तूलिका बताती है कि उन्हें अपनी मां रुकमणी सिंह से प्रेरणा मिली।

110 किलो की हो गई थी तूलिका
तूलिका बताती है कि मैं बचपन से ही काफी हेल्दी थी। 2004 में मैंने पत्रकारिता के लिए वाराणसी छोड़ नोएडा का रुख किया। मैंने काफी स्ट्रगल किया। हार कर वापस घर न जाना पड़े इसलिए मैंने पराठे तक बेचे। इसके बाद मुझे 3 हजार रुपए की नौकरी मिली। इसके कुछ समय बाद मेरी शादी डॉ दिग्विजय सिंह से हुई। लेकिन शादी के बाद हार्मोनल चेंज की वजह से मेरा वजन काफी तेजी से बढ़ने लगा और मैं 110 किलो की हो गई। कई लोग मुझे वजन को लेकर ताने मारते मेरा मजाक उड़ाते। 2017 में मेरी सास की मौत के बाद अचानक मेरा वजन बढ़ने लगा और इसके चलते में डिप्रेशन का शिकार हो गई। मैंने घर से बाहर निकलना बंद कर दिया। हम मुंबई से दिल्ली शिफ्ट हो गए। उन्होंने बताया कि मेरा वजन इतना बढ़ गया था कि मैं सीढ़ी चढ़-उतर भी नहीं पाती थी। इतना ही नहीं बढ़े हुए वजन के कारण मेरे पीरियड बंद हो गए थे और हार्मोन असंतुलित हो गए थे।

डांस क्लास से की शुरुआत 
डिप्रेशन से निकलने के लिए तूलिका ने एक डांस क्लास ज्वाइन की, जिससे उन्हें पॉजिटिव वाइब्स मिली। इसके बाद उन्होंने अपनी वेट लॉस जर्नी को स्टार्ट किया. उन्होंने बताया कि सबसे पहले मैंने एक डाइट प्लान बनाया और खाने में कैलोरी को कट करना शुरू किया। उन्होंने बताया कि बीच-बीच में खाना खाने की वजह से मोटापा और ज्यादा बढ़ रहा था। इसकी जगह उन्होंने सीड्स, फ्रूट्स और हेल्दी फूड आइटम लेना शुरू किया।

पति से मिला पूरा सपोर्ट 
तूलिका बताती हैं कि उनके पति ने उनकी वेट लॉस जर्नी में उन्हें खूब मोटिवेट किया। उन्होंने बताया कि पति के कहने पर मैंने जिम जॉइन की। मैंने हेवी वर्क आउट करने की जगह सिर्फ कार्डियो पर फोकस किया और फिर 3 महीने बाद हेवी वेट ट्रेनिंग और योग शुरू किया। इतना ही नहीं रात के समय जब घर के नीचे कोई नहीं होता था, तो मैं रनिंग करती वॉक करती ताकि लोगों की नजर मुझ पर नहीं पड़े। 2 महीने की कड़ी मेहनत के अंदर ही 13 किलो तक वजन मैंने कम कर लिया और 9 महीने में 40 किलो वजन घटा लिया।

ऐसे मिली फिटनेस ट्रेनर बनने की इंस्पिरेशन 
तूलिका बताती है कि वेट ट्रेनिंग के दौरान उन्हें फिटनेस कोच बनने का विचार आया और उन्होंने इसे फील्ड के रूप में चुना और सर्टिफिकेट कोर्स किया। साथ ही अपनी ट्रेनिंग भी जारी रखी। आज वह नेशनल गेम्स की तैयारी कर रहे बच्चों को ट्रेनिंग दे रही है। अपनी फिटनेस जर्नी और लोगों को इंस्पिरेशन देते हुए तूलिका कहती हैं कि हमें खुद से प्यार करना चाहिए तभी हम खुश रह पाएंगे। आपका शरीर ही आपके लिए सब कुछ है इसलिए इसका ध्यान रखें।

और पढ़ें: इस उम्र में बढ़ जाता है कैंसर का सबसे ज्यादा खतरा- स्टडी में हुआ खुलासा

Health tips: अगर आपको ये 5 बीमारियां हैं तो भूलकर भी ना करें घी का सेवन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios