Asianet News HindiAsianet News Hindi

World Physical Therapy day: कहीं सांड के स्पर्म से, तो कहीं पेशाब से होती है मसाज

आज पूरी दुनिया में वर्ल्ड फिजिकल थेरेपी डे मनाया जा रहा है। ऐसे में हम आपको बताते हैं, दुनि  या की कुछ वीयर्ड फिजिकल थेरेपी के बारे में।

World Physical Therapy day 2022: weird therapy around the world dva
Author
First Published Sep 8, 2022, 11:58 AM IST

हेल्थ डेस्क: हर साल 8 सितंबर को वर्ल्ड फिजिकल थेरेपी डे (World Physical Therapy day) मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य लोगों के अंदर फिजिकल थेरेपी को लेकर जागरूकता पैदा करना है। वर्ल्ड कन्फेडरेशन फॉर फिजिकल थेरेपी (WCPT) ने 1996 में वर्ल्ड फिजिकल थेरेपी डे की स्थापना की थी। तब से हर साल 8 सितंबर को पूरी दुनिया में ये दिन मनाया जाता है। ऐसें में आज हम आपको बताते हैं, दुनिया की ऐसी अजीब-गरीब को थेरेपी (weird therapy) के बारे में जिसे जानकार आप हैरान रह जाएंगे...

सांड का स्पर्म 
अमेरिका में लोग मजबूत और चमकदार बालों के लिए सांड के स्पर्म को बालों में लगाकर थेरेपी लेते हैं। यह थेरेपी कैलिफोर्निया के में सेंट मोनिका नाम के सलून में ग्राहकों को दी जाती है। कहा जाता है कि इससे बाल सिल्की स्मूथ और शाइनी होते हैं।

लीच थेरेपी
इस थेरेपी में जोंक या लीच नाम के कीड़े से शरीर का गंदा खून चुसवाया जाता है। कहा जाता है कि इससे दर्द को कम किया जा सकता है। साथ ही खूबसूरती पाने के लिए कई लोग इस थेरेपी का इस्तेमाल करते हैं। इससे शरीर का गंदा खून बाहर आ जाता है और आपको बेदाग निखरी त्वचा मिलती है।

घेंघा मसाज 
जी हां कई देशों में घेंघा नाम के कीड़े का तरल पदार्थ निकालकर मॉइस्चराइजर के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाता है। कहा जाता है कि घेंघा के लेप को लगाने से घाव जल्दी बढ़ जाते हैं।

पेशाब थेरेपी 
चाइना में अजीबोगरीब तरह के यूरिन थेरेपी की जाती है। यहां रोगियों को एक दूसरे का या खुद का पेशाब पीने के लिए कहा जाता है। कहा जाता है कि खुद का शराब पीने से हाइपर थायराइड की समस्या को ठीक करने में मदद मिलती है।

फायर थेरेपी 
फायर थेरेपी में मरीज के शरीर को कपड़े से ढक दिया जाता है फिर इसमें कोई ज्वलनशील पदार्थ डालकर आग लगा दी जाती है। कहते हैं कि फायर थेरेपी से ब्लड सर्कुलेशन सही होता है और इससे कई बीमारियों में निजात मिलती है।

एपीथेरेपी 
चीन में एपीथेरेपी नाम की एक थेरेपी होती है। जिसमें मधुमक्खी के जहर से बीमार व्यक्ति का इलाज किया जाता है। कहा जाता है कि इससे गठिया, माइग्रेन, पेट दर्द हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याओं को ठीक किया जा सकता है।

और पढ़ें: World Physical Therapy day:सर्जरी के बाद की परेशानी हो या पुराना दर्द, फिजिकल थेरेपी से मिलते हैं ये 4 फायदे

क्या हर बार काटने के बाद मीठा निकल जाता है आलू? मिठास दूर करने के लिए आजमाएं ये टिप्स

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios