Asianet News HindiAsianet News Hindi

Pulwama में तैनात CRPF जवान करता था नक्सलियों को हथियार सप्लाई, ATS ने तीन को किया अरेस्ट

एटीएस एसपी (ATS SP) प्रशांत आनंद (Prashant Anand) ने बताया कि आरोपियों ने स्वीकार किया है कि AK-47 जैसे हथियार तक की सप्लाई करते थे। तीनों की निशानदेही पर 450 राउंड जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं।
 

Jharkhand ATS arrested CRPF personal alleged for supply of arms to Naxals, was deployed in Pulwama, Know all about DVG
Author
Ranchi, First Published Nov 16, 2021, 10:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रांची। सीआरपीएफ (CRPF) जवान के तार नक्सलियों और माफिया को हथियार सप्लाई करने वाले वाले गैंग से जुड़े हैं। झारखंड (Jharkhand) राज्य की एटीएस (ATS) ने नक्सलियों को हथियार सप्लाई करने के आरोप में सीआरपीएफ जवान समेत तीन लोगों को अरेस्ट किया है। CRPF का जवान पुलवामा (Pulwama) में तैनात था। 

450 राउंड कारतूस बरामद

एटीएस एसपी (ATS SP) प्रशांत आनंद (Prashant Anand) ने बताया कि पुलवामा में तैनात CRPF के एक जवान अविनाश कुमार ऊर्फ चुन्नू (Avinash Kumar alias Chunnu) को अरेस्ट किया गया है। यह बिहार (Bihar) का रहने वाला है। इसके साथ दो अन्य लोगों पटना के ऋषि कुमार (Rishi Kumar) और मुजफ्फरपुर के पंकज कुमार (Pankaj Kumar) को भी गिरफ्तार किया है। तीनों की निशानदेही पर 450 राउंड जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं। एटीएस ने बताया कि आरोपियों ने स्वीकार किया है कि AK-47 जैसे हथियार तक की सप्लाई करते थे। 

दस साल से CRPF में है अविनाश

अरेस्ट जवान अविनाश कुमार सीआरपीएफ के 182वीं बटालियन में कांस्टेबल था। बताया जा रहा है कि वह पिछले 4 महीने से अपनी ड्यूटी से गायब था। करीब दस साल पहले, 24 अगस्त 2011 को मोकामा ग्रुप सेंटर से सीआरपीएफ में उसका सलेक्शन हुआ था। वह 112 बटालियन CRPF लातेहार और 204 बटालियन कोबरा जगदलपुर में भी रहा। 2017 से 182 बटालियन जगदलपुर में तैनात है।

ठेकेदारी की आड़ में कर रहा था तस्करी

एसपी प्रशांत ने बताया कि ऋषि कुमार हटिया रांची में ट्रांसपोर्टेशन और एयरपोर्ट रोड में भवन निर्माण का कार्य करता था। इसी दौरान वह ठेकेदार संजय सिंह और मुजाहिर के संपर्क में आया, जो सरायकेला और चाईबासा क्षेत्र में सड़क निर्माण का कार्य कर रहा था। इन ठेकेदारों को माओवादियों की कारतूस उपलब्ध कराने की जिम्मेवारी दी गई थी।

इन ठेकेदारों ने बैंक खाते में रुपये जमा करवाकर कई बार कारतूस उपलब्ध कराए हैं। आरोपी पंकज कुमार सिंह धनबाद के भूली में रहकर कोयला और जमीन का कारोबार कर रहा था। संजय सिंह झारखंड और बिहार के अलावा असम और नागालैंड में हथियार और कारतूस कारोबारियों के संपर्क में था। उनके माध्यम से ऋषि के साथ अन्य व्यक्तियों को भी हथियार और कारतूस उपलब्ध कराता था।

यह भी पढ़ें:

West Bengal विधानसभा में केंद्र के विरोध में एक और प्रस्ताव: BSF jurisdiction बढ़ाने के खिलाफ बिल पेश

Money Laundering case: ईडी ने किया बिजनेस टाइकून Lalit Goyal को arrest, पेंडोरा पेपर्स लीक में था नाम

China बना दुनिया का सबसे अमीर देश: America से 30 बिलियन डॉलर अधिक, India से नौ गुना संपत्ति ज्यादा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios