उज्जैन. ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, इसके लिए आपको अपनी जन्म तारीख को सिंगल डिजीट में निकलना होगा, यानी अगर आपकी जन्म तारीख 12 हैं तो आपका मूलांक होगा 1+2= 3, यदि आपकी जन्म तारीख 29 है तो आपका मूलांक होगा 2+9=11, रिजल्ट दो अंकों में आने पर इन दोनों अंकों को फिर से आपस में जोड़ दे 1+1=2।

अंक 1
मूलांक 1 वालों की शुभ दिशा पूर्व और संबंधित ग्रह सूर्य है। इस अंक वाले व्यक्ति को पूर्व दिशा में बांसुरी रखनी चाहिए।

अंक 2
उत्तर-पश्चिम दिशा से संबंधित ग्रह चंद्रमा है। मूलांक 2 वाले लोगों को इस दिशा में सफेद रंग का कोई शोपीस रखना चाहिए।

अंक 3
बृहस्पति से संबंधित दिशा उत्तर-पूर्व है। 3 मूलांक वाले लोगों को उत्तर-पूर्व दिशा में रुद्राक्ष रखना चाहिए।

अंक 4
दक्षिण-पश्चिम दिशा का स्वामी राहू है। 4 मूलांक के लोगों को इस दिशा में कांच की कोई वस्तु रखनी चाहिए।

अंक 5
उत्तर दिशा का स्वामी बुध ग्रह है। जिनका मूलांक 5 हो वो अपने घर की उत्तर दिशा में लक्ष्मी या कुबेरजी की मूर्ति लगाएं।

अंक 6
शुक्र का संबंध दक्षिण-पूर्व दिशा से है। जिन लोगों का मूलांक 6 हो वे इस दिशा में मोर पंख रखें।

अंक 7
जिनका मूलांक 7 है, वे उत्तर-पूर्व दिशा में रुद्राक्ष रखें। इस दिशा का स्वामी बृहस्पति हैं।

अंक 8
जिन लोगों का मूलांक 8 हो, वे अपने घर की पश्चिम दिशा में काले रंग का क्रिस्टल रखें। ये दिशा शनि ग्रह से संबंधित है।

अंक 9
जिनका मूलांक 9 हो वे घर की दक्षिण दिशा में पिरामिड रखें। ये दिशा मंगल ग्रह से संबंधित है।