Asianet News HindiAsianet News Hindi

सोमवार को लगाएं रातरानी और मंगलवार को चंदन का इत्र, इन उपायों से भी दूर हो सकते हैं ग्रहों के दोष

कुंडली में ग्रहों से संबंधित दोष होते हैं तो व्यक्ति के वर्चस्व में कमी आती है। ग्रहों के सहयोग के बिना व्यक्ति सम्मान प्राप्त नहीं कर सकता है।

Apply ratrani perfume on Monday and sandalwood perfume on Tuesday, these remedies can also remove planetary defects KPI
Author
Ujjain, First Published Dec 30, 2019, 8:00 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. ज्योतिष में ऐसी परिस्थितियों के लिए भी उपाय बताए गए हैं। इन उपायों से व्यक्ति का आकर्षण बढ़ता है और उसे हर जगह सम्मान मिल सकता है। आकर्षण बढ़ाने के लिए और ग्रहों के दोष दूर करने के लिए इत्र के उपाय बताए गए हैं। जानिए उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार हमें किस दिन कौन-सा इत्र लगाना चाहिए, जिससे ग्रहों के दोष दूर हो और हमारा आकर्षण बढ़ सके...

सोमवार- सोमवार का कारक चंद्र है। इस दिन चंद्रमा से संबंधित फूलों के इत्र लगा सकते हैं। सोमवार को चमेली और रातरानी के इत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं।

मंगलवार- मंगल ग्रह इस दिन का कारक है। इस दिन लाल चंदन का इत्र लगाने से मंगलदेव का साथ मिलता है।

बुधवार- बुध ग्रह से शुभ के लिए चंपा के फूल का इत्र लगाना चाहिए। इससे बुध ग्रह के दोष दूर होते हैं।

गुरुवार- गुरु ग्रह के लिए केसर और केवड़े का इत्र लगाना चाहिए। गुरु की कृपा पाई जा सकती है।

शुक्रवार- शुक्र के दोष दूर करने के लिए सफेद फूल, चंदन और कर्पूर की सुगंध लाभदायक होती है। इस दिन इन चीजों के इत्र लगा सकते हैं।

शनिवार- शनि से कृपा पाने के लिए शनिवार को कस्तुरी का इत्र लगा सकते हैं।

रविवार- रविवार को सूर्यदेव की कृपा पाने के लिए लाल या पीले फूलों के इत्र लगा सकते हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios