Asianet News HindiAsianet News Hindi

हथेली पर जिस स्थान या रेखा पर होता है तारे का चिह्न, बढ़ा देता है उसके शुभ फल

हस्तरेखा शास्त्र (Palmistry) एक बहुत ही प्राचीन विधा है, जिसमें हथेली में बनी रेखाओं का आंकलन करके व्यक्ति के भविष्य के संबंध में जानकारी दी जाती है। हथेली की रेखाएं सदैव एक जैसी नहीं रहती हैं। ये समय समय पर बदलती रहती हैं। जिसके कारण हथेली में कई प्रकार के चिह्नों का निर्माण होता है। कई बार ये चिह्न अशुभ होते हैं तो कई बार ये व्यक्ति का भाग्य चमका देते हैं।

Astrology Jyotish Palmistry Shubh Fal Palm Lines
Author
Ujjain, First Published Nov 12, 2021, 7:30 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. हस्तरेखा (Palmistry) में एक ऐसे ही चिह्न का जिक्र किया गया है। यदि यह चिह्न किसी के हाथ में बनता है तो बेहद ही शुभ माना जाता है। हस्तरेखा शास्त्र कहता है कि यह चिह्न व्यक्ति को जीवन में लोकप्रियता दिला सकता है। हथेली में यह चिह्न जिस स्थान पर बना होता है, उसी के अनुसार फल भी प्रदान करता है। तो चलिए जानते हैं कि कौन-सा वह चिह्न और कैसे वह चमका सकता है आपकी किस्मत…

हथेली में ‘तारा’ की चिह्न
हथेली में रखाओं की आकृति से बहुत से चिह्न बनते हैं जिनमें से एक चिह्न होता है तारा। हस्तरेखा शास्त्र में इस चिह्न को बहुत ही खास माना गया है। यदि यह चिह्न किसी रेखा के अंतिम छोर पर बनता है तो उस रेखा के प्रभाव को बहुत बढ़ा देता है। इसी तरह से यदि यह चिह्न हथेली के किसी पर्वत पर स्थित होता है तो उस पर्वत के शुभ प्रभाव को भी कई गुना ज्याद बढ़ा देता है। 

सूर्य पर्वत पर तारे का चिह्न
सूर्य पर्वत पर तारे चिह्न होने का मतलब माना जाता है कि व्यक्ति को उच्च पद की प्राप्ति हो सकती है साथ ही यश-कीर्ति और धन लाभ (Financial Benefits) भी होता है, लेकिन व्यक्ति को मानसिक रूप से खुशी प्राप्त नहीं हो पाती है। ऐसे लोगों को कदम-कदम पर पिता का सहयोग मिलता है और वे अपने पिता के सहयोग से ही जीवन में आगे बढ़ते हैं।

चंद्र पर्वत पर तारे का चिह्न
यदि किसी व्यक्ति की हथेली में चंद्र पर्वत पर तारे का निशान है तो व्यक्ति जीवन में लोकप्रियता प्राप्त करता है। ऐसे लोग लोकप्रिय कलाकार आदि बन सकते हैं। इसके अलावा विज्ञान (Science) के क्षेत्र में अप्रत्याशित सफलता प्राप्त होने के योग भी रहते हैं। इन लोगों का भाग्य भी साथ देता है।

गुरु पर्वत पर तारे का चिह्न
यदि किसी व्यक्ति की हथेली में गुरु पर्वत पर तारे का चिह्न बनता है तो माना जाता है कि व्यक्ति को शक्ति और प्रतिष्ठा दोनों प्राप्त होती हैं। व्यक्ति के मान-सम्मान (Respect) में वृद्धि होती है। ऐसे लोग जीवन के हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त करते हैं और उच्च शिक्षित होते हैं। गुरु के प्रभाव से ये लोग श्रेष्ठ जीवन यापन करते हैं।

शुक्र और शनि पर्वत पर तारे का चिह्न
यदि किसी व्यक्ति की हथेली में शुक्र पर्वत पर तारे का चिन्ह बना हुआ है तो उसे प्रेम की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही आर्थिक स्थिति भी सही रहती है। यदि किसी व्यक्ति की हथेली में शनि पर्वत पर तारे का चिन्ह बना हुआ है तो ऐसे व्यक्ति को कार्यों में सफलता तो अवश्य प्राप्त होती है लेकिन उन्हें सफलता के लिए संघर्ष करना पड़ता है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios