उज्जैन. दिसंबर माह की शुरुआत 1 तारीख रविवार से होगी। इस माह में 8, 15, 22, 29 को भी रविवार पड़ेंगे। इसी क्रम में 2 दिसंबर को सोमवार पड़ेगा जो 9, 16, 23, 30 तारीख को पुन: आएगा। इसी तरह 3 दिसंबर सहित 10, 17, 24 व 31 तारीख को मंगलवार पड़ेगा।

5 रविवार होने का प्रभाव
उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं प्रवीण द्विवेदी के अनुसार सूर्य को राजनीति से जोड़कर देखा जाता है। पांच रविवार एक महीने में पड़ना इस बात का सूचक है कि राजनीति के क्षेत्र में कुछ विशेष घटित हो सकता है जो आम लोगों की उम्मीद के विपरीत हो। इस मामले पर यह कह सकते हैं कि सरकार और प्रशासन से जुड़े बड़े फैसले इस महीने में होने की संभावना है। इस महीने देश के राज्यों की सरकार और राजनीतिक दलों में बड़े बदलाव भी हो सकते हैं।

5 मंगलवारों का प्रभाव
मंगलवार वैसे भी उग्रता का प्रतीक होता है। ऐसे में उस संयोग के चलते अंदेशा है कि पड़ोसी देशों के साथ कुछ खटपट हो सकती है। घुसपैठ से लेकर आतंकी साजिश या कोई बड़ी दुर्घटना जैसी घटनाओं की आशंका भी बन रही है, पर राहत की बात यह है कि पांच सोमवार के पड़ने से यह नकारत्मकता को थोड़ा कम हो सकती है। चूंकि सोमवार को शुभ माना जाता है और चंद्रमा मन का कारक होता है, ऐसे में सभी अनिश्चिताओं को दूर होने की भी प्रबल संभावनाएं बनती हैं।

5 सोमवार का असर
ज्योतिष में सोमवार चंद्रमा का दिन माना जाता है। इस महीने 5 सोमवार होने से धान्य और द्रव्य यानी दूध, पानी और अन्य खाद्य लिक्विड के भाव बढ़ सकते हैं। चंद्रमा के प्रभाव से इस महीने देश और दुनिया में मौसम संबंधी अनचाहे बदलाव आने की संभावना है। बर्फबारी के साथ देश के कुछ  हिस्सों में बारीश की संभावना है। चंद्रमा के प्रभाव से बिमारियां बढ़ सकती हैं। इस महीने 5 सोमवार होने से चंद्रमा का प्रभाव बढ़ेगा। गोचर स्थिति में चंद्रमा के पीड़ित होने से कई लोग मानसिक तनाव से परेशान भी रहेंगे।