उज्जैन. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, 9 ग्रहों में से मनुष्य जीवन को प्रभावित करने वाला प्रमुख ग्रह शनि है। क्योंकि यही ग्रह मनुष्य को उसके अच्छे-बुरे कर्मों का फल प्रदान करता है। इसलिए ज्योतिष शास्त्र में इसे न्यायाधीश भी कहा गया है। जब किसी राशि पर शनि की साढ़ेसाती और ढय्या का प्रभाव होता है तो ये समय उनके लिए परेशानियों भरा रहता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्‌ट के अनुसार इस समय शनि मकर राशि में गुरु के साथ है। साल 2021 में शनि की साढ़ेसाती और ढय्या का असर किस राशि पर होगा जानिए…  

इन 3 राशियों पर रहेगी शनि की साढ़ेसाती
 

धनु राशि
इस राशि वालों पर शनि की उतरती हुई साढ़ेसाती का प्रभाव रजतपाद से पैरों में रहेगा। जिसके कारण इन्हें सुख-संपत्ति की प्राप्ति होगी। परिवार में मांगलिक कार्यक्रमों की रूपरेखा बनेगी। पैरों में दर्द के कारण परेशानी हो सकती है। शनि की उतरती साढ़ेसाती शुभता में वृद्धि करेगी।

मकर राशि
इस राशि वालों को शनि का प्रभाव स्वर्णपाद से ह्रदय में मध्य की साढ़ेसाती रहेगी। इस कारण इन्हें परिश्रम ज्यादा करना होगा, लेकिन मनचाहा परिणाम फिर भी नहीं मिल पाएग। खर्च अधिक होने से मानसिक तनाव हो सकता है। बीमारी के कारण भी परेशानी का अनुभव होगा।

कुंभ राशि
इस राशि वालों को लौहपाद से साढ़ेसाती का प्रभाव मस्तक पर रहेगा। बीमारियों के कारण पैसा खर्च होगा। पुत्र की चिंता परेशान कर सकती है। व्यापारिक यात्राएं होंगी, लेकिन फायदा फिर भी नहीं मिल पाएगा। व्यापार में लाभ-हानि के मिले-जुले योग बनेंगे।

इन 2 राशियों पर रहेगी शनि की ढय्या

मिथुन राशि
इस राशिवालों को लौहपाद से शनि की ढय्या प्रभावित करेगी। शत्रु हावी होने की कोशिश करेंगे। पैसों से जुड़ी परेशानियां बनी रहेंगी। बनते हुए काम अंतिम समय पर बिगड़ सकते हैं। रक्त से जुड़ी बीमारियां इस समय आपको हो सकती है। परिवार में विवाद की स्थिति बन सकती है।

तुला राशि
इस राशि वालों को लौहपाद से शनि का ढय्या का प्रभाव रहेगा। परिवार में किसी बुजुर्ग की तबीयत अचानक खराब हो सकती है। वैवाहिक जीवन में भी उतार-चढ़ाव बने रहेंगे। जिन लोगों की कुंडली में शनि उच्च का है, उनके लिए ये समय विशेष उन्नति प्रदान करने वाला रहेगा।