Asianet News HindiAsianet News Hindi

Aaj Ka Panchang 30 दिसंबर का पंचांग दैनिक पंचांग: ये है आज के शुभ मुहूर्त व राहु काल का समय

हिंदू धर्म में हर काम शुभ मुहूर्त देखकर ही किया जाता है और मुहूर्त की जानकारी पंचांग से मिलती है। हिंदू पंचांग को वैदिक पंचांग के नाम से जाना जाता है। पंचांग के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है।

jyotish aaj ka panchang 30 December panchang daily panchang MMA
Author
Ujjain, First Published Dec 30, 2021, 6:30 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. पंचांग मुख्य रूप से पांच अंगों से मिलकर बना होता है। ये पांच अंग तिथि, नक्षत्र, वार, योग और करण है। यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, राहुकाल, सूर्योदय और सूर्यास्त का समय, तिथि, करण, नक्षत्र, सूर्य और चंद्र ग्रह की स्थिति, हिंदू मास एवं पक्ष आदि की जानकारी देते हैं। आगे जानिए 30 दिसंबर, गुरुवार के शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय आदि संपूर्ण जानकारी…

आज की तिथि और पर्व
30 दिसंबर, गुरुवार को विक्रम संवत 2078, जिसका नाम आनन्द है, के पौष मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि है। इसे सफला एकादशी कहते हैं। सफल एकादशी 29 दिसंबर की शाम 4.12 से शुरू होकर 30 दिसंबर, गुरुवार दोपहर 1.40 तक रहेगी। इसके बाद द्वादशी तिथि शुरू होगी जो 31 दिसंबर सुबह 10.39 तक रहेगी।

शुभ योग और मुहूर्त
30 दिसंबर, गुरुवार को विशाखा नक्षत्र दिन भर रहेगा। गुरुवार को विशाखा नक्षत्र होने से आनंद नाम का शुभ योग इस दिन बन रहा है। इसके अलावा इस दिन सर्वार्थसिद्धि नाम का एक अन्य शुभ योग भी बन रहा है। 30 दिसंबर को ब्रह्म मुहूर्त सुबह 05:35 से 06:23 तक रहेगा। अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12:08 से 12:50 तक रहेगा। अमृत काल शाम 04:32 से 05:59 तक रहेगा। अभिजीत और अमृत काल में शुभ काम किए जा सकते हैं।

ये है राहु काल का समय
30 दिसंबर, गुरुवार को राहूकाल दोपहर 1:48 से 3:08 तक रहेगा। इसके अलावा यम गण्ड सुबह 7:11 से 8:31 तक, कुलिक सुबह 9:50 से 11:09 तक, दुर्मुहूर्त सुबह 10:43 से 11:25 तक रहेगा। ये सभी अशुभ काल है यानी इस दौरान कोई भी शुभ काम न करें। 

ग्रहों की स्थिति
30 दिसंबर, गुरुवार को शाम 7 बजे तक चंद्रमा तुला राशि में रहेगा। इसके बाद वृश्चिक राशि में प्रवेश कर जाएगा। (चंद्रमा हर सवा 2 दिन में राशि बदलता है, इसलिए राशियों पर इसका प्रभाव कम ही देखने को मिलेगा।)  सूर्य धनु राशि में रहेगा। बुध मकर राशि में, शुक्र वक्री अवस्था में धनु राशि में प्रवेश करेगा और शनि मकर राशि में, गुरु कुंभ राशि में, राहु वृषभ और केतु व मंगल वृश्चिक राशि में रहेंगे। 

इस दिशा में न करें यात्रा
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, गुरुवार को दक्षिण दिशा की यात्रा नहीं करनी चाहिए। यदि करनी पड़े तो दही या जीरा मुंह में डाल कर निकलें।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios