Asianet News HindiAsianet News Hindi

कुंडली का दूसरा भाव होता है खास, इससे जुड़े 7 योगों से जानिए आप धनवान बन पाएंगे या नहीं?

ज्योतिष की मान्यता है कि कुंडली में कुछ विशेष योग होते हैं, जिनके प्रभाव से कोई व्यक्ति धनवान बनता है।

Know from these 7 yogs if you will ever get rich or not KPI
Author
Ujjain, First Published Dec 18, 2019, 2:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. किसी भी व्यक्ति की कुंडली देखकर ये मालूम हो सकता है कि वह कभी अमीर बनेगा या नहीं। ज्योतिष की मान्यता है कि कुंडली में कुछ विशेष योग होते हैं, जिनके प्रभाव से कोई व्यक्ति धनवान बनता है। यहां जानिए ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार भृगु संहिता में बताए गए कुंडली में कुछ ऐसे योग जो व्यक्ति को धनवान बना सकते हैं...

कुंडली का दूसरा भाव बताता है धन से जुड़ी बातें
कुंडली का दूसरा घर या भाव धन का कारक है। व्यक्ति के पास कितनी स्थाई संपत्ति जैसे घर, भवन-भूमि होगी, दूसरे भाव से इस बात पर विचार किया जाता है।

ये हैं कुंडली के कुछ खास योग
1. अगर किसी व्यक्ति की कुंडली के दूसरे भाव में कोई शुभ ग्रह हो या शुभ ग्रहों की दृष्टि इस भाव पर हो तो उसे धन प्राप्त होता है।
2. किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह द्वितीय भाव में हो और उस पर चंद्रमा की दृष्टि पड़ रही हो तो व्यक्ति कड़ी मेहनत के बाद भी आसानी से अमीर नहीं बन पाता है।
3. जिस व्यक्ति की कुंडली के दूसरे भाव में चंद्रमा है, वह अपनी मेहनत से धनवान बनता है।
4. यदि द्वितीय भाव के चंद्र पर नीच के बुध की दृष्टि पड़ जाए तो उस व्यक्ति के परिवार का धन भी खत्म हो जाता है। अगर कुंडली में कोई शुभ योग न हो तो व्यक्ति गरीबी में जीता है।
5. यदि चंद्रमा अकेला हो और कोई भी ग्रह उससे द्वितीय या द्वादश न हो तो व्यक्ति आजीवन गरीब ही रहता है। ऐसे व्यक्ति को आजीवन अत्यधिक परिश्रम करना होता है, लेकिन वह अधिक पैसा नहीं प्राप्त कर पाता।
6. यदि दूसरे भाव में किसी पाप ग्रह की दृष्टि पड़ रही है तो व्यक्ति धनहीन होता है।
7. अगर सूर्य और बुध द्वितीय भाव में स्थित हो तो ऐसे व्यक्ति के पास पैसा नहीं टिकता है। व्यक्ति कितनी मेहनत कर ले, पैसा जमा नहीं कर पाता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios