Asianet News Hindi

राहु है शूल योग का स्वामी, गरीब और दिल से कठोर होता है इस योग में जन्मा व्यक्ति

वैदिक ज्योतिष में अनेक शुभ-अशुभ योगों के बारे में बताया गया है। अशुभ योग में यदि कोई काम शुरू किया जाए तो उसमें असफलता मिलती है और परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। ऐसा ही एक अशुभ योग है शूल।

People born in Shul Yoga are poor and heartless, know special things about them KPI
Author
Ujjain, First Published Mar 6, 2021, 11:41 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जब सातों ग्रह किन्हीं तीन भाव में स्थित हों तो शूल योग बनता है। शूल एक प्रकार का अस्त्र है और इसके चूभने से बहुत पीड़ा होती है। वैसे तो इस योग में कोई काम कभी पूरा होता ही नहीं परंतु यदि अनेक कष्ट सहने पर पूरा हो भी जाए तो शूल की तरह हृदय में एक चुभन सी पैदा करता रहता है। आगे जानिए कैसा होता है इस योग में जन्में व्यक्ति का स्वभाव…

1. शूल योग का स्वामी राहु है। इस योग में जन्मे व्यक्ति का शरीर पतला होता है। ऐसा व्यक्ति माता के लिए कष्टकारक होता है।
2. इस अशुभ योग में जन्मा व्यक्ति धन से वंचित और दिल से कठोर होता है। यह भी कहा जाता है कि ऐसा व्यक्ति रोगी और कुकर्मी भी हो सकता है।
3. जन्म कुंडली में भी शूल योग विद्यमान हो तो व्यक्ति उदरशूली होता है। अर्थात् ऐसे मनुष्य के विभिन्न रोगों के कारण पेट में बहुत दर्द होता है।
4. यदि वह ननिहाल खानदान और पिता परिवार के लिए बुरा सोचता है तो क्लेश का कारण बनता है। ऐसे व्यक्ति के कारण पारिवार में बिखराव हो जाता है।
5. ऐसे व्यक्ति को ऊंचे स्थान से कूदने या चढ़ने से शरीर हानि की आशंका बनी रहती है। उसके प्रति सभी लोग आशंकित ही रहते हैं।
5. हालांकि इसका कभी सकारात्मक पक्ष भी देखा गया है कि इस योग में जन्मे लोग कवि, अत्यन्त बली, सभी का आदर करने वाला होता है।
6. शुभ ग्रहों के प्रभावित होने पर ऐसा व्यक्ति प्रतापी, शूरवीर, कला के तत्व को जानने वाला और सभी का प्रिय भी हो सकता है।
7. शुभ ग्रहों का प्रभाव होने पर ऐसे व्यक्ति भाग्यशाली और भरोसेमंद भी होते हैं। साथ ही सांसारिक और आध्यात्मिक ज्ञान में निपुण भी होते हैं।

ज्योतिष में स्वाभाव के बारे में ये भी बताया गया है, पढ़ें

मूल नक्षत्र में जन्में लोगों पर रहता है राहु और गुरु का प्रभाव, जानिए इनके नेचर से जुड़ी खास बातें

लिखने और पढ़ने के शौकीन होते हैं मीन राशि के लोग, बेकार का दिखावा पसंद नहीं करते

बुद्धिमान और व्यवहारकुशल होते हैं कुंभ राशि के लोग, गंभीरता से करते हैं हर काम

आसानी से मित्र नहीं बनाते मकर राशि के लोग, यात्रा करना होता है पसंद

खुले विचारों वाले होते हैं धनु राशि के लोग, ये अपने पैतृक व्यवसाय को आगे बढ़ाते हैं

जिद्दी लेकिन आत्मविश्वास से भरे होते हैं वृश्चिक राशि के लोग, इन्हें धोखा देना आसान नहीं होता

आकर्षक व्यक्तित्व के होते हैं तुला राशि के लोग, मुश्किल हालातों में भी नहीं मानते हार

महत्वकांक्षी और भावुक होते हैं कन्या राशि के लोग, अपनी योग्यता से पाते हैं सफलता

शाही जीवन जीना पसंद करते हैं सिंह राशि के लोग, सूर्य है इस राशि का स्वामी

कर्क राशि के स्वामी है चंद्रमा, कल्पनाशील और श्रेष्ठ बुद्धि वाले होते हैं इस राशि के लोग

बुध है मिथुन राशि का स्वामी, सफल पत्रकार या लेखक होते हैं इस राशि के लोग

परिश्रमी, धैर्यवान और शांत स्वभाव के होते हैं वृष राशि के लोग, शुक्र है इस राशि का स्वामी

मंगल की राशि है मेष, जानिए इस राशि के लोगों के नेचर से जुड़ी 15 खास बातें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios