उज्जैन. सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन लोगों की 6 उंगलियां होती हैं, वे दूसरे लोगों से अधिक लकी यानी किस्मत वाले होते हैं। कुछ लोगों के हाथों में लिटिल फिंगर के पास छठी उंगली होती है। वहीं कुछ हाथों में अंगूठे से जुड़ी होती है। इन दोनों ही स्थितियों को शुभ माना गया है।

1. सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार, जिन हाथों में 1 अतिरिक्त उंगली होती है वो अगर लिटिल फिंगर के पास है तो उस पर बुध पर्वत का ही प्रभाव रहेगा। इसके अलावा अंगुठे से जुड़ी उंगली पर शुक्र पर्वत का ही प्रभाव रहेगा। हस्तरेखा में ऐसी उंगलियों के लिए अलग से किसी पर्वत का उल्लेख नहीं है। यानी इस अतिरिक्त अंगुली का अपना स्वतत्रं अस्तित्व नहीं होता है।

2. हस्तरेखा और सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन लोगों के हाथ में छः अंगुलियां होती हैं, वो भाग्यशाली होते हैं। जिस व्यक्ति के हाथ में 10 से अधिक उंगलियां हैं, वह अधिक फायदा कमाने वाला और हर काम में छानबीन करने वाला होता है।

3. ऐसे लोगों का दिमाग तेज चलता है। ये लोग अपना काम पूरी ईमानदारी और मेहनत से करते हैं, लेकिन ये दूसरे के कामों में हमेशा कमी निकालते हैं। इसलिए कभी-कभी अन्य लोगों से इनके संबंध बिगड़ जाते हैं। ऐसे लोग अच्छे आलोचक भी माने जाते हैं।

4. सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार हाथों की उंगलियों की संख्या और बनावट इंसान के मस्तिष्क को प्रभावित करती है। इसलिए प्राचीन काल से ही ऋषि-मुनि उंगलियों और अंगूठे को आपस में मिलकर अलग-अलग मुद्रा बना कर ध्यान लगाते थे।