Asianet News HindiAsianet News Hindi

पितृ पक्ष से शरद पूर्णिमा तक 16 दिन शुभ मुहूर्त, इनमें खरीदारी और इन्वेस्टमेंट करने से होगा फायदा

इस बार श्राद्ध पक्ष (Shradh Paksha 2021) से लेकर नवरात्र (Navaratri 2021) और शरद पूर्णिमा (Sharad Purnima 2021) तक 16 दिन शुभ मुहूर्त रहेंगे। इन मुहूर्त में प्रॉपर्टी खरीदी और रियल एस्टेट में निवेश करना शुभ रहेगा। साथ ही वाहन, इलेक्ट्रॉनिक सामान, ज्वेलरी और कपड़ों की खरीदारी की जा सकेगी।

Pitru Paksha to Sharad Purnima 2021, there are 16 shubh muhurat for purchasing and investment
Author
Ujjain, First Published Sep 24, 2021, 6:28 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. श्राद्ध पक्ष से लेकर शरद पूर्णिमा तक 6 सर्वार्थसिद्धि और 11 रवियोग के साथ एक-एक द्विपुष्कर, त्रिपुष्कर और अमृतसिद्धि योग रहेंगे। वहीं, पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग भी बनेगा। इन शुभ योगों में खरीदी और इन्वेस्टमेंट करने से फायदा ही फायदा होगा।

पितृ पक्ष (Shradh Paksha 2021) में खरीदारी से दोष नहीं
- पितृ पक्ष 6 अक्टूबर तक रहेगा। इस दौरान रियल एस्टेट में निवेश के साथ ही खरीदारी और नए कामों की शुरुआत करने से भी दोष नहीं लगता है। इनके लिए श्राद्ध पक्ष में 7 दिन शुभ मुहूर्त रहेंगे।
- पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र के अनुसार, श्राद्ध पक्ष में किसी भी तरह की खरीदारी की मनाही नहीं है। इस दौरान नए कामों की भी शुरुआत की जा सकती है।
- केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय तिरुपति के ज्योतिषाचार्य डॉ. कृष्णकुमार भार्गव बताते हैं कि पितृ पक्ष में सिर्फ मांगलिक काम नहीं किए जाते हैं लेकिन खरीदी की जा सकती है।
- इस बार सर्वपितृ अमावस्या पर सर्वार्थसिद्धि योग बन रहा है। इस योग में किए गए कामों में सफलता मिलने की पूरी संभावना होती है।

पुष्य नक्षत्र (Pushya Nakshatra 2021) का संयोग
- 1 अक्टूबर को पुष्य नक्षत्र (Pushya Nakshatra 2021) पूरे दिन रहेगा। शुक्रवार होने से इस दिन ज्वेलरी, फर्नीचर, कपड़े, सजावटी सामान और हर तरह की भौतिक सुख-सुविधाओं की खरीदारी करना शुभ रहेगा। पुष्य नक्षत्र में की गई खरीदारी लंबे समय तक सुख देने वाली मानी जाती है।
- इस दिन चंद्रमा अपनी ही राशि में होने से बृहस्पति के साथ दृष्टि संबंध बनाएगा। जिससे गजकेसरी नाम का राजयोग दिनभर रहेगा। साथ ही शिव और सिद्ध योग भी होने से ये दिन और भी शुभ हो गया है।

दशहरे (Dussehra 2021) तक 6 बड़े शुभ मुहूर्त
- 7 अक्टूबर को घट स्थापना के साथ नवरात्र शुरू हो जाएंगे। इस बार तिथियों की घट-बढ़ होने से शक्ति उपासना के लिए नौ की जगह 8 दिन ही मिलेंगे। इस नवरात्रि में 5 दिन रवियोग रहेंगे।
- दशहरे पर अबूझ मुहूर्त होने के साथ रवियोग भी बन रहा है। इस तरह 15 अक्टूबर तक हर तरह की खरीदारी, रियल एस्टेट में निवेश और नए कामों की शुरुआत के लिए 6 बड़े मुहूर्त रहेंगे।

दशहरे (Dussehra 2021) से शरद पूर्णिमा (Sharad Purnima 2021) तक 3 शुभ योग
- दशहरे के बाद शरद पूर्णिमा तक 5 दिनों में 3 शुभ मुहूर्त रहेंगे। इनमें एक सर्वार्थसिद्धि, एक त्रिपुष्कर और एक रवियोग रहेगा।
- इन तीनों ही शुभ योगों में नए कामों की शुरुआत के साथ मांगलिक कामों की खरीदारी भी जा सकती है।

श्राद्ध पक्ष के बारे में ये भी पढ़ें 

24 सितंबर को किया जाएगा महाभरणी श्राद्ध, इस शुभ योग में तर्पण करने से पितृ होते हैं प्रसन्न

राजस्थान में है श्राद्ध के लिए ये प्राचीन तीर्थ स्थान, यहां गल गए थे पांडवों के हथियार

कुंवारा पंचमी 25 सितंबर को: इस दिन करें अविवाहित मृत परिजनों का श्राद्ध, ये है विधि

Shradh Paksha: उत्तराखंड में है ब्रह्मकपाली तीर्थ, पांडवों ने यहीं किया था अपने परिजनों का पिंडदान

Shradh Paksha: सपने में पितरों का दिखना होता है खास संकेत, जानिए ऐसे सपनों का अर्थ

Shradh Paksha: तर्पण करते समय कौन-सा मंत्र बोलना चाहिए, अंगूठे से ही क्यों देते हैं पितरों को जल?

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios