Asianet News Hindi

कुंडली में चंद्र और मंगल की युति बनाती है राजयोग, कैंसर का कारण भी बन सकते हैं ये 2 ग्रह

यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में मंगल और चंद्र की युति होती है तो ये बहुत शुभ मानी जाती है। 

Raja Yoga is made by combination of lunar and Mars in the horoscope, these 2 planets can also cause cancer KPI
Author
Ujjain, First Published Jun 13, 2020, 9:15 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. ज्योतिष शास्त्र में इसे धनलक्ष्मी योग कहते है, इस युति से व्यक्ति भाग्यशाली होता है। ये राजयोग भी है। चंद्र मंगल का परम मित्र है। यह मंगल के शुभ असर में वृद्धि करता है। जानिए इस योग से जुड़ी कुछ खास बातें…

1. यदि कुंडली मंगलिक है और चंद्र-मंगल की युति है तो मांगलिक दोष खत्म हो जाता है।
2. मंगल उग्र ग्रह है और चंद्र शीतलता देता है। ऐसे में मंगल की नकारात्मक ऊर्जा को चंद्र सकारात्मक बनाता है।
3. मंगल-चंद्र आमने-सामने हो तो केमद्रुम योग भंग होकर लक्ष्मी योग बनता है।
4. इन दोनों ग्रहों में से कोई एक ग्रह स्वग्रही या उच्च का हो तो महालक्ष्मी योग बनता है।
5. महालक्ष्मी योग से व्यक्ति हर सुख-सुविधाएं प्राप्त करता है। यह युति अच्छे भाव में हो तो शुभ फलों में कई गुना वृद्धि हो जाती है।
6. मेष, वृष, कर्क, वृश्चिक और मकर राशि में मंगल-चंद्र की युति हो या आमने-सामने हो तो लक्ष्माधिपति योग बनता है।
7. चंद्र-मंगल की युति से कैंसर होने की संभावनाएं रहती हैं। इस योग से शुभ फल पाने के लिए भगवान चंद्रमौलेश्वर की पूजा करनी चाहिए।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios