Asianet News HindiAsianet News Hindi

नवरात्रि में छिन गईं खुशियां: नींद में ही 2 भाई और एक बहन की दर्दनाक मौत, .माता-पिता भी हुए लहूलुहान..

मध्य प्रदेश के दमोह से बड़े हादसे की खबर सामने आई है। जहां नवरात्रि की खुशियों के बीच एक परिवार में मातम पसर गया।  ट्राला पलटने से दो सगे भाई एक बहन समेत चार लोगों की मौत हो गई।

Madhya Pradesh, accident in damoh, brother sisters died and parents inhured
Author
Damoh, First Published Oct 9, 2021, 12:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

दमोह. मध्य प्रदेश के दमोह से बड़े हादसे की खबर सामने आई है। जहां नवरात्रि की खुशियों के बीच एक परिवार में मातम पसर गया।  ट्राला पलटने से दो सगे भाई एक बहन समेत चार लोगों की मौत हो गई। मृतकों में एक व्यक्ति की पहचान नहीं हो पाई है। वहीं माता-पिता भी गंभीर रुप से घायल हैं।

ट्राला पलटते ही जमींदोज हो गया मकान
दरअसल, यह दर्दनाक हादसा दमोह जिले के आंजनी टपरिया गांव में हुआ। जहां अचानक गिट्टी से भरा एक ट्राला अनियंत्रित होकर सड़क किनारे बने एक कच्चे माकान पर जा पलटा। घर के अंदर मौजूद परिवार में तीन लोगों की मौत हो गई, वहीं अन्य गंभीर रुप से घायल हैं। जिनको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें-Shocking: महाराष्ट्र के इगतपुरी-कसारा स्टेशन के बीच 'पुष्पक' में लूटपाट और लड़की से गैंगरेप; 4 बदमाश अरेस्ट

नींद में ही 2 भाई-बहन की दर्दनाक मौत
बता दें कि यह भयानक हादसा शुक्रवार देर रात का बताया जा रहा है।  बटियागढ़ की तरफ से आ रहा ट्राला  हरिराम के कच्चे घर के ऊपर पलट गया। इस दौरान सभी लोग अंदर थे और बताया जा रहा है कि वह सो रहे थे। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को निकाला गया। साथ ही घायलों के जिला अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं सूचना मिलते ही इलाके की विधायक  रामबाई भी मौके पर पहुंची।

यह भी पढ़ें-कांग्रेस नेता को सड़क पर गिराया और बेदम होने तक पीटा, 10 फ्रैक्चर आए, दोनों पैर टूटे, बिलखता रहा परिवार

प्रत्यक्षदर्शी ने सुनाई हादसे की पूरी कहानी
चश्मदीद ने बताया कि हादसे के वक्त हरिराम और उसकी पत्नी घर में ही बीड़ी बना रही थीं। वहीं उनके तीनों बच्चे आकाश (17), मनीषा (19), ओमकार (16) मकान की दीवार के पास सो रहे थे। इसी दौरान तेज आवाज आई तो मैं पास पहुंचा। साथ ही आसपास के लोग भी भागकर मौके पर पहुंचे। देखा तो कच्चा मकान पूरी तरह से सड़क पर गिरा पड़ा था, वहीं ट्राला भी उल्टा हुआ था। हम लोग बच्चों और परिवार के लोगों को तलाशने लगे। करीब एक घंटे तक गिट्टी और मलबे के नीचे बच्चे और उनके माता पिता दबे रहे। काफी देर बाद उनको निकाला, लेकिन तब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी थी।

यह भी पढ़ें-मां का प्यार बना बेटी के लिए अभिशाप, प्रेमी ने रेप की दी धमकी, भाई ने नहीं दिया साथ, चाची ने निभाया फर्ज

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios