Asianet News HindiAsianet News Hindi

Amazon पर ऑनलाइन बिक रहा था गांजा, MP पुलिस ने डायरेक्टर्स पर दर्ज की FIR..गृहमंत्री ने दी कड़ी चेतावनी

मध्य प्रदेश के भिंड जिले की पुलिस ने अमेजन कंपनी के डायरेक्टर्स पर NDPS एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की है। क्योंकि अमेजन पर ऑनलाइन गांजा बेचने का आरोप लगा है। 

Madhya Pradesh newscase filed against amazon directors for supply and delivery hemp in Bhind
Author
Bhind, First Published Nov 22, 2021, 7:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भिंड (मध्य प्रदेश). ऑनलाइन शॉपिंग ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन (Amazon) के खिलाफ मध्य प्रदेश के भिंड जिले में केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने कंपनी के डायरेक्टर्स पर NDPS एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की है। क्योंकि अमेजन पर ऑनलाइन गांजा बेचने का आरोप लगा है। बता दें कि मामला दर्ज होने से पहले प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने अमेजन को चेतावनी दी थी कि जांच में सहयोग करे, नहीं तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अमेजन की मदद से करते थे तस्करी
दरअसल, एक सप्ताह पहले 13 नवंबर को भिंड जिले की गोहद पुलिस ने गांजा तस्करी का खुलासा किया था। जहां पुलिस ने दो युवक सूरज पवैया और एक ढाबा संचालक विजेंद्र तोमर को गिरफ्तार किया था। इनके पूछाताछ के बाद आरोपी मुकुल जायसवाल और गांजा खरीदने वाले ग्राहक चित्रा को भी पकड़ा था। जहां उन्होंने पुलिस को बताया था कि यह तस्करी वह अमेजन साइट की मदद से करते थे।

पुलिस ने जब्त किया 21 किलो गांजा
मामले की जानकारी देते हुए भिंड एसपी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने Amazon के जरिए गांजे की होम डिलीवरी किए जाने के मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया था, जिनमें एक कस्टमर भी था। इनके पास से पुलिस ने करीब 21 किलो 734 ग्राम गांजा भी बरामद किया था। फिलहाल चारों से पूछताछ की जा रही है। पता लगाया जा रहा है कि इसके तार और कहां-कहां तक जुड़े हैं।
 
अमेजन से ऑनलाइन बुलाते थे गांजा
जांच में सामने आया कि पकड़े गए आरोपी सूरज और मुकुल जायसवाल ने BABU TEX कंपनी बनाकर उसे Amazon पर सेलर के रूप में रजिस्टर करवाया था। वह दोनों विशाखापत्तनम से ऑनलाइन गांजा बुलवाकर ग्राहकों को डिलीवर करते थे। लेकिन जब पुलिस ने अमेजन कंपनी के अधिकारियों से बात कि तो उनके जवाब और जांच में काफी अंतर था। इसके लिए मामले की बारीकी से जांच की गई तो यह निकलकर सामने आया।

एक्शन में आए एमपी के गृहमंत्री मिश्रा
इस मामल पर एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा- ऑनलाइन गांजा बेचने के मामले में चेतावनी देने के बाद भी अमेजन के अधिकारी मामले की जांच में कोई सहयोग नहीं कर रहे थे जिसके बाद FIR दर्ज करने की कार्रवाई की गई है। ऑनलाइन नशे का व्यापार साइबर क्राइम से भी अधिक गंभीर अपराध है और प्रदेश में इस तरह के क्राइम को बढ़ावा नहीं दिया जाएगा।

ये कैसी मां: पहले बच्चों से किया प्यार फिर हाथ से पिलाया पानी, अगले ही पल दोनों को मार डाला..खुद भी मर गई

-UP News: युवती ने तालिबान पर की टिप्पणी तो पोर्न साइट से आने लगे अश्लील कॉल, जानिए! क्या है मामला

UP: जिंदा शख्स को 3 अस्पतालों ने मृत बताकर मोर्चुरी में रखवा दिया, पोस्टमॉर्टम से पहले चलने लगीं सांसें

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios