Asianet News HindiAsianet News Hindi

MP शिक्षा विभाग के एक सर्कुलर से उड़ी शिक्षकों की नींद, जिससे जा सकती है हजारों टीचर की नौकरी!

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने एक सर्कुलर जारी किया है, जिसकी वजह से अब सरकारी टीचर की नौकरी संकट में आ सकती है। अब विभाग शिक्षकों से उनकी संतान के बारे में जानकारी मांग रहा है। अगर किसी के तीन बच्चे हैं तो उनकी नौकरी खतरे में पड़ सकती है।

madhya pradesh school education department circular to teachers crisis on job kpr
Author
Bhopal, First Published Aug 25, 2020, 12:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल. मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने एक सर्कुलर जारी किया है, जिसकी वजह से अब सरकारी टीचर की नौकरी संकट में आ सकती है। अब विभाग  शिक्षकों से उनकी संतान के बारे में जानकारी मांग रहा है। अगर किसी के तीन बच्चे हैं तो उनकी नौकरी खतरे में पड़ सकती है।

सभी टीचर को देनी होगी ये जानकारी
दरअसल, मध्य प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों ने सभी शिक्षकों को एक प्रपत्र भेजा है, जिसमें उनको अपने परिवार के बारे में जानकारी भरकर जमा करना हैं। खासतौर से अपने संतान के बारे में कि उनको कितने बच्चे हैं। 

इस आधार पर अपात्र माने जाएंगे शिक्षक
बता दें कि  जिला शिक्षा अधिकारी की तरफ से आए इस फार्म में 7 कॉलम दिए गए हैं। जहां पहले ही कॉलम में शिक्षकों को 26 जनवरी 2001 के बाद अपनी संतान की संख्या लिखनी है। अगर 2001 के बाद से तीन संतानें होंगी तो उन्हें अपात्र माना जा सकता है। 

जिस स्कूल में रिजल्ट अच्छा नहीं, होगी कार्रवाई
वहीं इसके अलावा मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग हाल ही में आए एमपी बोर्ड का खराब रिजल्ट के चलते ऐसे शिक्षकों पर कार्रवाई करने की सोच रहा है, जिनके स्कूल का परिणाम अच्छा नहीं रहा। इसको लेकर शिक्षक संघ ने प्रमुख सचिव और आयुक्त को ज्ञापन सौंपा है। जिसमें शिक्षक वेतन देरी से मिलने, वेतन वृद्धि और डीए रुकने की मांग रखी गई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios