Asianet News HindiAsianet News Hindi

समीर वानखेड़े की सफाई- मां ने बर्थ सर्टिफिकेट में लिखवा दिया था मुस्लिम धर्म, पिता को पता चला तो सुधार करवाया

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने गुरुवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) के मुस्लिम धर्म वाले बर्थ सर्टिफिकेट जारी किए तो जवाब में समीर वानखेड़े ने बॉम्बे हाईकोर्ट में सफाई दी। उन्होंने कहा है कि ये बचपन में मां ने स्कूल में उनका मुस्लिम धर्म लिखवा दिया था। बाद में पिता को पता चला तो उन्होंने इसमें सुधार करवाया। बता दें कि मलिक ने दोपहर में समीर का स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट जारी कर मुस्लिम होने का आरोप लगाया था। इस सर्टिफिकेट में मुस्लिम (Muslim) धर्म लिखा है। 

Aryan Khan Drugs Case Nawab malik Against birth certificate Sameer Wankhede Cleanliness of Bombay HC
Author
Maharashtra, First Published Nov 18, 2021, 1:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। आर्यन खान ड्रग्स केस (Aryan Khan Drugs Case) में महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Nawab malik) ने गुरुवार को एक नया खुलासा किया। उन्होंने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो  (NCB) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े  (Sameer Wankhede) का स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट (school leaving certificate) जारी किया है। मलिक ने इस सर्टिफिकेट के जरिए वानखेड़े पर मुस्लिम (Muslim) होने का आरोप लगाया। मलिक ने दो सर्टिफिकेट को पेश किए हैं, जो सेंट जोसेफ हाईस्कूल और सेंट पॉल हाईस्कूल का लिविंग सर्टिफिकेट है। यह दोनों सर्टिफिकेट समीर वानखेडे के हैं, जिनमें उनका पूरा नाम समीर दाऊद वानखेडे़ लिखा है। इसके अलावा मलिक ने वानखेड़े पर जाली नोट नेटवर्क के भी आरोप लगाए हैं। 

मलिक के नकली सर्टीफिकेट बनाकर नौकरी पाने के आरोप की वानखेड़े ने सफाई दी और कोर्ट में अपना बर्थ सर्टिफिकेट पेश किया है, जिसमें उनका नाम समीर ज्ञानदेव वानखेडे दर्ज है। वानखेडे के मुताबिक, उनकी माताजी मुस्लिम थीं, इसलिए शुरुआती दिनों में स्कूल में उन्होंने अपने बेटे का धर्म मुस्लिम लिखवाया था, लेकिन प्राइमरी के बाद उनके पिताजी ने तहसील ऑफिस से लेकर BMC तक इसका सुधार करवाया, जिसके डॉक्यूमेंट वानखेड़े ने कोर्ट को दिए हैं।

डॉक्यूमेंट में स्कूल का LC भी शामिल
डॉक्यूमेंट में वडाला के उस स्कूल का भी लीविंग सर्टिफिकेट शामिल है, जिसमें उन्हें मल्हार जाती यानि अनुसूचित जाति का बताया गया है और पिता का नाम ज्ञानदेव लिखा है। समीर के मुताबिक उस वक्त तो वो खुद नाबालिग थे, ऐसे में डॉक्यूमेंट्स में उनकी कोई भूमिका नहीं हो सकती थी। 

Aryan Khan Drugs Case Nawab malik Against birth certificate Sameer Wankhede Cleanliness of Bombay HC

नवाब ने आज ये आरोप लगाए थे
नवाब मलिक ने दोनों बर्थ सर्टिफिकेट को बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) में जमा कराया है। उन्होंने दावा किया है कि वानखेड़े के ‘वरिष्ठ’ ने एक मुस्लिम से शादी करने के लिए इस्लाम धर्म अपना लिया था और समीर समेत उनके बच्चों को मुस्लिम के रूप में पाला गया था। मलिक ने ये भी कहा था सिविल सेवा परीक्षा में आरक्षण लाभ लेने के लिए समीर अपने पिता के महार समुदाय में वापस आ गया, जो कि एक अनुसूचित जाति है। इन आरोपों का समर्थन करने के लिए उन्होंने वानखेड़े का जन्म प्रमाण पत्र पेश किया, जिसमें उनके पिता का नाम दाऊद वानखेड़े और धर्म वाले कॉलम में मुस्लिम लिखा था। दूसरी तरफ समीर का एक और फर्जीवाड़ा सामने आया है, जिसमें पड़ोस में रहने वाले एक आईपीएस अधिकारी से उनकी कुछ साल पहले अनबन हुई और इसके बाद उसके बेटे को 27 A के तहत फंसा दिया गया था।

Aryan Khan Drugs Case Nawab malik Against birth certificate Sameer Wankhede Cleanliness of Bombay HC

मलिक के खिलाफ समीर के पिता ने किया था केस
इस संबंध में समीर के पिता ज्ञानदेव वानखेड़े ने मलिक के खिलाफ मानहानि का केस दायर किया था, जिसमें मलिक के आरोपों के लिए 1.25 करोड़ रुपए हर्जाने की मांग की थी। वानखेड़े ने कोर्ट से मलिक को उनके या उनके परिवार के खिलाफ और 'मानहानिकारक आरोप' लगाने से रोकने के लिए कहा था।

Aryan Khan Drugs Case Nawab malik Against birth certificate Sameer Wankhede Cleanliness of Bombay HC

नवाब मलिक ने लगाया था आरोप 

  • मंत्री नवाब मलिक ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने ट्विटर पर शेयर किए सर्टिफिकेट को वानखेड़े का असली बर्थ सर्टिफिकेट बताया है। मलिक ने दो ट्वीट किए हैं। पहले ट्वीट में उन्होंने वानखेड़े की एक फोटो शेयर की। इस फोटो को शेयर करते हुए मलिक ने लिखा- पहचान कौन? जबकि एक अन्य ट्वीट में उन्होंने नगर निगम के प्रमाण पत्र की तस्वीर शेयर की। इस सर्टिफिकेट में समीर के पिता का नाम 'दाउद क. वानखेड़े' लिखा है। वहीं, धर्म की जगह पर 'मुस्लिम' लिखा है।
  • इससे पहले मंगलवार को मलिक ने पूछा था कि मुंबई एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े और काफिश खान के बीच क्या संबंध हैं? वो ये जानना चाहते हैं कि एनसीबी क्रूज पार्टी के आयोजकों में से एक काशिफ खान को क्यों बचा रही हैं? 
  • मलिक ने दावा किया था कि खान और वानखेड़े के बीच मजबूत रिश्ता है। मलिक ने एनसीबी के गवाह केपी गोसावी और दिल्ली के एक ‘मुखबिर’ के कथित चैट को भी ट्वीट किया, जिसमें कहा गया ‘वे उन लोगों को फंसाने की योजना बना रहे थे जो कॉर्डेलिया क्रूज पर पार्टी में शामिल होने जा रहे थे।’ 
  • ड्रग्स केस में आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से मलिक लगातार समीर पर हमलावर हैं। हालांकि, आर्यन की जेल से रिहाई हो चुकी है और वानखेड़े भी फिलहाल इस मामले की जांच से बाहर हैं। इसके बावजूद मलिक आए-दिन वानखेड़े पर अलग-अलग तरह के आरोप लगाकर घेराबंदी कर रहे हैं।

 

Malik Vs Wankhede: मलिक बोले- देखते हैं कौन वानखेड़े की कोठरी से कंकाल निकालता है, निजी सेना को बेनकाब करेगा 

मलिक का नया खुलासा : समीर वानखेड़े के स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट पर भी धर्म की जगह लिखा है 'मुस्लिम'

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios