Asianet News HindiAsianet News Hindi

बीएस येदियुरप्पा ने दिया इस्तीफाः समर्थकों में निराशा, विरोध में दूकानें और बाजार बंद

बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। येदियुरप्पा के इस्तीफा के बाद उनके समर्थकों में निराशा और गुस्सा दोनों देखने को मिल रहा है। येदियुरप्पा के इस्तीफा के बाद उनके गृह जिले में लोगों ने दुकानें और बाजार बंद करके बीजेपी के प्रति अपना रोष प्रकट किया है। 

BS Yediyurappa resigns: Disappointment among supporters, shops and markets closed in protest DHA
Author
Bengaluru, First Published Jul 26, 2021, 7:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बेंगलुरू। बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। येदियुरप्पा के इस्तीफा के बाद उनके समर्थकों में निराशा और गुस्सा दोनों देखने को मिल रहा है। येदियुरप्पा के इस्तीफा के बाद उनके गृह जिले में लोगों ने दुकानें और बाजार बंद करके बीजेपी के प्रति अपना रोष प्रकट किया है। 

उधर, बालेहोसर मठ के स्वामी दिंगलेश्वर स्वामी ने बीजेपी को इस इस्तीफा का परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है. उन्होंने कहा कि बीजेपी को पुन: समीक्षा करने की जरूरत है. 

 

गृह जिले में हुआ विरोध प्रदर्शन

बीएस येदियुरप्पा के गृह जिला शिवमोग्गा के शिकारीपुरा में सोमवार को सभी दुकानों और प्रतिष्ठानों को बंद रखा गयाा। उनके इस्तीफा से लोग नाराज हैं और विरोध स्वरूप दूकानों को बंद रखा। 

येदियुरप्पा के करीबी एक दर्जन मंत्रियों पर भी गिर सकती है गाज

येदियुरप्पा जब मुख्यमंत्री बने थे तो जेडीएस और कांग्रेस के ढेर सारे विधायक उनके नेतृत्व में आ गए थे। 12 खास विधायकों को येदियुरप्पा ने मंत्री पद दिया था। लेकिन उनके हटने के बाद इन विधायकों का राजनीतिक भविष्य थोड़ा मुश्किलों भरा दिखने लगा है। माना जा रहा है कि नए मुख्यमंत्री के ऐलान के साथ कई मंत्रियों की छुट्टी हो जाएगी। राज्य में कई उप मुख्यमंत्रियों को भी हटाया जाएगा। 

आठ बार से विधायक हैं येदियुरप्पा, लिगांयत समाज उनके पक्ष में 

बीएस येदियुरप्पा ने शिकारीपुरा में पुरसभा अध्यक्ष के रूप में अपनी चुनावी राजनीति की शुरूआत की थी। वह पहली बार 1983 में शिकारीपुरा से कर्नाटक विधानसभा के लिए चुने गए थे। इसके बाद से वह लगातार आठ बार से इस सीट से जीत रहे हैं। लिंगायत समुदाय के नेता के रूप में येदियुरप्पा की छवि बेहद दमदार है। वह कर्नाटक भाजपा के सबसे ताकतवर नेता माने जाते रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: 

येदियुरप्पा का इस्तीफाः बीजेपी का मास्टर स्ट्रोक या कर्नाटक कांग्रेस को गोल्डन चांस

पेगासस कांड पर ममता का मास्टर स्ट्रोकः आयोग का किया गठन, दो पूर्व न्यायाधीश करेंगे जांच

Tokyo Olympics 2020: मीराबाई चानू का Silver बन सकता है Gold

Pegasus Spyware कांडः बयान देकर बुरे फंसते नजर आ रहे सुवेंदु अधिकारी, पश्चिम बंगाल में केस दर्ज

ममता बनर्जी का आरोपः मोदी सरकार ने लोकतंत्र को सर्विलांस स्टेट में बदल दिया, फोन से जासूसी करा रहा केंद्र

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios