Asianet News HindiAsianet News Hindi

Cyclone Jawad ने कोलकाता में वो किया जो 40 साल में कभी नहीं हुआ... बिन बुलाई बारिश ने कर दिया ये काम

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के मुताबिक चक्रवात की वजह से हुई बारिश ने कोलकाता की हवा में घुले जहर को खत्म कर दिया। इसके बाद से कोलकाता की एयर क्वालिटी में 90 फीसदी तक का सुधार आया है। 

Cyclone Jawad did what was not done in Kolkata in 40 years, for the first time the air of the city was so clean
Author
Kolkata, First Published Dec 7, 2021, 1:38 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता। पिछले दिनों आए चक्रवात जवाद (Cyclone Jawad) ने पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और ओडिशा का जनजीवन प्रभावित किया, लेकिन इसने कोलकाता (Kolkata) के लोगों को वायु प्रदूषण (Air Pollution) से काफी राहत पहुंचाई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के अधिकारियों का कहना है कि पिछले दिनों चक्रवात की वजह से हुई बारिश ने कोलकाता की हवा में घुले जहर को खत्म कर दिया। इसके बाद से कोलकाता की एयर क्वालिटी में 90 फीसदी तक का सुधार आया है। 

जहां का AQI बहुत खराब था, अब वहां अच्छा
सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के मुताबिक मंगलवार सुबह 7 बजे कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 20 दर्ज किया गया। यह अच्छे की श्रेणी में आता है। इसी तरह बालीगंज में 43 (अच्छा), रवींद्र सरोबार में 33 (अच्छा), और रवींद्र भारती विश्वविद्यालय में एक्यूआई 51 (संतोषजनक) दर्ज किया गया। चक्रवात से पहले 3 दिसंबर को सुबह 9 बजे विक्टोरिया मेमोरियल में एक्यूआई 185 (मध्यम), बालीगंज में 212 (खराब), रवींद्र सरोबार में 163 (मध्यम) और रवींद्र भारती विश्वविद्यालय में 307 (बहुत खराब) था। 

90 फीसदी तक सुधरी हवा 
प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों को देखें तो कोलकाता के एक्यूआई में 80 से लेकर 90 फीसदी तक का सुधार हुआ है। यह पिछले 40 साल का रिकॉर्ड है, जब दिसंबर के महीने में कोलकाता की हवा इतनी साफ रही हो। पश्चिम बंगाल प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (डब्लूबीपीसीबी) के अध्यक्ष कल्याण रुद्र का कहना है कि एक्यूआई में सुधार बहुत उत्साहजनक था। बेमौसम बारिश ने निश्चित ही इसमें भूमिका निभाई। हालांकि, उनका कहना है कि चार दशक पहले एक्यूआई मापने के लिए ऐसे आधुनिक उपकरण भी नहीं थे। 

दिल्ली की हवा बहुत खराब श्रेणी में 
तमाम प्रतिबंधों के बाद भी Delhi-NCR की हवा साफ नहीं हो रही है। SAFAR-India के डेटा के अनुसार दिल्ली में मंगलवार को एक्यूआई 314 रहा। यह बहुत खराब श्रेणी में है। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों प्रदूषण की विकराल होती स्थिति को देखते हुए दिल्ली और केंद्र सरकार को फटकार भी लगाई थी। इसके बाद यहां कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं। NCR के चार जिलों में स्कूल बंद हैं। 

यूपी के वाराणसी में भी सुधरा AQI
आज वाराणसी की हवा में फिर सुधार देखने को मिल रहा है। एयर क्वालिटी इंडेक्स 27 अंक घटकर 120 अंक पर आ गया है। सोमवार को यह 147 अंक और रविवार को 216 अंक पर था। हवा के साफ होने से काशीवासियों ने प्रदूषण से राहत की सांस ली।

यह भी पढ़ें
Delhi Air Pollution: कोहरे और हवा की स्पीड कम होने से दिल्ली में और बढ़ेगा प्रदूषण; ओवरऑल 314
Delhi Air Pollution: सुप्रीम कोर्ट में यूपी की सफाई-पाकिस्तान ने कर रखी है दिल्ली और हमारी 'हवा' खराब

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios