गन्ने के खेत में मिली 5 साल के मासूम की लाश से कुछ दूर पड़ा था उसका कटा हुआ सिर, रहस्य बनी हत्या की वजह

| Dec 07 2022, 06:59 AM IST

गन्ने के खेत में मिली 5 साल के मासूम की लाश से कुछ दूर पड़ा था उसका कटा हुआ सिर, रहस्य बनी हत्या की वजह

सार

 पूर्वी दिल्ली के प्रीत विहार इलाके में अपने घर के पास से 30 नवंबर को लापता हुए तीन वर्षीय बच्चे का उसके पड़ोसी ने कथित तौर पर किडनैप कर लिया और बाद में उसकी हत्या कर दी। बच्चे का शव उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक खेत से  बरामद किया गया। बच्चे के शरीर के कुछ हिस्सों को जानवरों ने खा लिया था।

नई दिल्ली(New Delh). पूर्वी दिल्ली के प्रीत विहार इलाके में अपने घर के पास से 30 नवंबर को लापता हुए तीन वर्षीय बच्चे का उसके पड़ोसी ने कथित तौर पर किडनैप कर लिया और बाद में उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश के मेरठ में मंगलवार सुबह एक खेत से बच्चे का क्षत-विक्षत और बिना सिर का शव(decomposed and headless body) बरामद किया गया। बच्चे के शरीर के कुछ हिस्सों को जानवरों ने खा लिया था। बच्चे का शव मेरठ के इंचोली थाना क्षेत्र के नंगली ईशा गांव में मिला था। पुलिस ने बताया कि शव दिल्ली के प्रीत विहार थाना क्षेत्र की झुग्गी में रहने वाले हीरालाल के पांच साल के बेटे मानव की हत्या पड़ोसी दीपक ने की थी। पढ़िए दिल दहलाने वाले हत्याकांड से जुड़े कुछ फैक्ट्स

क्यों और कैसे हुई बच्चे की हत्या, पढ़िए 15 फैक्ट्स
1. जैसे ही लड़के की मौत की खबर इलाके में फैली, उसके परिवार के सदस्य और स्थानीय लोग पुलिस पर निष्क्रियता का आरोप लगाते हुए सड़कों पर उतर आए थे।

Subscribe to get breaking news alerts

2. पुलिस ने कहा कि संदेह है कि गिरफ्तार किए गए आरोपी ने नाबालिग का यौन शोषण करने के इरादे से अपहरण किया था।

3. हालांकि, एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से ही पता चलेगा कि क्या उसके साथ यौन उत्पीड़न(sexually abuse) किया गया था या नहीं।

4. पुलिस कमिश्नर (पूर्व) अमृता गुगुलोथ ने कहा कि मंगलवार को आरोपी के चाचा से सूचना मिली कि वह (आरोपी) दिल्ली आया है और इस समय जगतपुरी स्थित अपने घर पर है।

5. आरोपी की सूचना मिलने के बाद एक पुलिस टीम को जगतपुरी निवास पर भेजा गया और आरोपी को हिरासत में ले लिया गया। निरंतर पूछताछ पर, आरोपी ने खुलासा किया कि उसने बच्चे को मेरठ के एक गन्ने के खेत में छोड़ दिया था। इसके बाद एक टीम को मेरठ भेजा गया, जहां से पुलिस ने बच्चे की लाश बरामद की।

6. डीसीपी ने कहा,"लाश के पास में सिर भी मिला था। सामान और कपड़ों के आधार पर शव की शिनाख्त प्रीत विहार इलाके से लापता बच्चे के रूप में हुई। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और मामले की आगे की जांच जारी है।"

7. पीड़ित परिवार की ओर से दर्ज कराई गई FIR में आरोपी की उम्र 16 साल थी। हालांकि, उसके घर से बरामद डाक्यूमेंट्स से उसकी उम्र 18 साल से अधिक होने का पता चला है। पुलिस ने कहा कि कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

8. पुलिस ने कहा कि लड़के और उसके पड़ोसी के उसी दिन चित्र विहार की झुग्गी बस्ती से लापता हो जाने के बाद पीड़िता के परिवार ने 30 नवंबर को पुलिस को मामले की सूचना दी।

9. पुलिस ने बच्चे के लापता होने के तुरंत बाद इंडियन पैनल कोड की धारा 365 के तहत अपहरण का मामला दर्ज किया गया और फिर एक जांच शुरू की गई। पुलिस ने अब FIR में हत्या की धारा भी जोड़ी है।

10. पुलिस अधिकारियों ने कहा कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि पहले भी जब आरोपी 11 साल का था, तब वह नाबालिग को कहीं ले गया था और बाद में अपने साथ वापस आया था।

11. आरोपी दीपक ने एसपी देहात केशव कुमार से पूछताछ में बताया कि वह 30 नवंबर को पांच वर्षीय मानव को लेकर चला गया था। तीन दिसंबर को मेरठ के मवाना इलाके में अपने एक रिश्तेदार के यहां पहुंचा। अगले दिन गया और फिर बच्चे को मार डाला। शव को हाईवे पर गन्ने के खेत में फेंक दिया।

12. बच्चे के परिजनों को शुरू से ही दीपक पर शक था। आरोपी दीपक को पांच दिसंबर की रात थाना क्षेत्र से ही गिरफ्तार कर लिया गया। एसीपी हीरालाल के नेतृत्व में सात पुलिसकर्मी आरोपी दीपक को लेकर शव बरामद करने मेरठ गए थे।

13. 5 वर्षीय मानव की हत्या के पीछे क्या वजह हो सकी है, अभी इसका पता नहीं चला है। माना जा रहा है आरोपी नशे का आदी है। वह बार-बार अपने बयान बदल रहा है। इससे जांच उलझ रही है।

14. लड़के की हत्या की खबर प्रीत विहार में फैलने के बाद उसके परिवार के सदस्यों और स्थानीय लोगों ने विरोध किया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की थी।
पुलिस ने कहा कि वे प्रीत विहार पुलिस थाने के बाहर बड़ी संख्या में एकत्र हुए और पीड़िता के लिए न्याय की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन किया।

15. विरोध के कारण प्रीत विहार थाने के पास विकास मार्ग पर यातायात प्रभावित रहा। यातायात पुलिस ने कहा कि यातायात के सुचारु प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए उन्हें आवश्यक मार्ग बदलना पड़ा था।

यह भी पढ़ें
बचपन में देखा था सुंदर लड़की को मारकर रेप करने और लाश खाने का ख्वाब, फिर उसकी पब्लिसिटी भी करता रहा
जगुआर VIP नंबर-0001: ओवरस्पीड गाड़ी चलाने से पहले अलर्ट हो जाएं, चल सकता है मर्डर का केस