Asianet News HindiAsianet News Hindi

Climate change: ये क्या हो रहा है? कहीं बाढ़ में डूबे देश, तो कहीं जंगलों में धधक रही भयंकर आग

जलवायु परिवर्तन(climate change) के कारण मौसम का मिजाज लगाताार बदल रहा है। भारत और दूसरे कई देशों में ऐसी बाढ़ आई हुई है, तो कहीं जंगल आग में धधक रहे हैं।

Effects of climate change and global warming, many countries around the world are facing problem with floods and heat
Author
New Delhi, First Published Aug 13, 2021, 3:50 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. जलवायु परिवर्तन (climate change) देश-दुनिया के लिए एक बड़ी चिंता का विषय बन गया है। दुनियाभर के देश इस समस्या का सामना कर रहे हैं। कहीं रिकॉर्ड बारिश होने से बाढ़ आई हुई, तो कहीं गर्मी के कारण जंगल धधक रहे हैं। आशंका है कि आने वाला समय और मुसीबत वाला साबित होगा।

तुर्की में मौत का सैलाब
तुर्की में बाढ़ के कारण 17 से अधिक लोगों के मारे जाने की खबर है। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने घोषणा की है कि देश के काला सागर क्षेत्र में भारी बाढ़ के कारण 17 लोग मारे गए हैं। रेस्क्यू में 4,644 कर्मियों, 19 हेलीकॉप्टरों और 24 नौकाओं को उतारा गया है। (पहली तस्वीर तुर्की की, साभार-अलजजीरा)

 pic.twitter.com/1SDVP6URTN

जुलाई में यूरोप से लेकर एशिया और नॉर्थ अमेरिका से लेकर रूस तक करीब 40 देशों में बाढ़ आई थी। इनमें चीन, न्यूजीलैंड, बेल्जियम, जर्मनी, लक्जमबर्ग और नीदरलैंड भी शामिल थे। जबकि कई देश सूखे और गर्मी हवाओं की मार झेलते रहे। हैरानी की बात है कि रूस का साइबेरिया; जहां हमेशा ठंड रहती है, वहां भी अब गर्मी पड़ने लगी है। मई 2021 में एक रिपोर्ट जारी की गई थी, इसमें क्लाइमेट चेंज के कारण जंगलों में लगती आग को लेकर चिंता जताई गई थी। जुलाई में साबेरिया के 216 जंगलों में आग लगी थी।

यह भी पढ़ें-यह आग कब बुझेगी: ये भयंकर तस्वीरें ग्रीस के एविया द्वीप की हैं, जो आग की भट्टी बन गया है, 586 जंगल खाक

भारत के कई राज्य बाढ़ की चपेट में
भारत में इस समय पश्चिम बंगाल के अलावा उत्तर प्रदेश, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, केरल, असम, बिहार, गुजरात और हरियाणा के कई इलाके बाढ़ से जूझ रहे हैं। मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में अब स्थिति सामान्य हो रही है। देश का 12.5 प्रतिशत हिस्सा बाढ़ग्रस्त है। दुनियाभर में बाढ़ से होने वाली कुल मौतों का 20 प्रतिशत भारत में है।

pic.twitter.com/j00znSv5LO

नासा का दावा, 2030 के दशक मे आएगी रिकॉर्ड बाढ़
क्लाइमेंट चेंज एक बड़ी चिंता बन गई है। जुलाई में अमेरिकी अंतरिक्ष संस्थान NASA ने चेतावनी दी कि 2030 के दशक में भयंकर बाढ़ आएगी। यह पृथ्वी के पड़ोसी ग्रहों पर हो रही हलचल के कारण होगा। 21 जून का जर्नल नेचर क्लाइमेट चेंज में इस संबंध में एक रिपोर्ट छपी थी।

ग्लोबल वॉर्मिंग एक बड़ा खतरा
कुछ दिन पहले ही NASA (National Aeronautics and Space Administration) की रिपोर्ट में दावा करके चिंता जताई गई है कि सदी के अंत तक मुंबई सहित तटीय करीब दर्जनभर शहरों में जलस्तर 2.7 फीट तक बढ़ जाएगा। इनमें मुंबई के अलावा कांडला, ओखा, भावनगर, मोरमूगांव, मंग्लोर, कोचिनस पारादीप, खिडिरपुर, विशाखापट्टनम, चेन्नई और तूतिकोरिन जैसे शहर शामिल हैं।

यह भी पढ़ें
#Kinnaurlandslide: इतने गुस्से में क्यों हैं ये ऊंचे-ऊंचे पहाड़, इसके पीछे छुपी है एक बड़ी इंसानी 'पोल'
फोटू के पीछे क्या है: बाढ़ में उतरकर PM को कोसने वालीं Mamata Banerjee के इस Graph की कहानी twitter पर ट्रोल

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios