Asianet News HindiAsianet News Hindi

Delhi Air Quality: बैन के बावजूद जबर्दस्त आतिशबाजी पर AAP की सरकार का दर्द-BJP वालों ने जानबूझकर पटाखे जलवाए

 बैन के बावजूद दिवाली की रात जबर्दस्त आतिशबाजी (firecrackers) ने दिल्ली की हवा बेहद खराब कर दी है। इसे लेकर पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने भाजपा पर दोष मढ़ा है।

Environment Minister Gopal Rai controversial statement on air pollution in Delhi
Author
New Delhi, First Published Nov 5, 2021, 3:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. एयर क्वालिटी इंडेक्स(Air Quality Index) 386 के पार पहुंचने ने दिल्ली के लोगों की चिंता बढ़ा दी हैं। दिल्ली-NCR में 2.5 का पलूशन मीटर (PM) आमतौर पर 250-300 के आसपास रहता है, लेकिन यह गुरुवार रात से शुक्रवार सुबह तक 999 पर था। इसके पीछे दिवाली की रात जबर्दस्त आतिशबाजी को बताया जा रहा है। हैरानी की बात यह है कि दिल्ली सरकार के बैन के बावजूद लोगों ने खूब पटाखे (firecrackers) चलाए। नतीजा, दिल्ली में अगले दिन धुंध ही धुंध छाई रही। 

मंत्री ने भाजपा को बताया दोषी
दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय गोपाल राय(Gopal Rai) ने मीडिया को दिए इंटरव्यू(News24) में आरोप लगाया कि BJP के लोगों ने कल रात जानबूझकर पटाखे जलवाए, जिसके कारण दिल्ली की यह दुर्दशा हुई। बता दें कि गोपाल राय ने लोगों ने पटाखे नहीं जलाने की अपील की थी। दिल्ली सरकार ने इस बार 'पटाखे नहीं, दीये जलाएं' अभियान चलाया था, लेकिन उसका बहुत ज्यादा नहीं देखा गया। दिल्ली में सर्दियां का मौसम शुरू होते ही एयर क्ववालिटी बेहद खराब स्थिति में पहुंच जाती है। गोपाल राय के इस बयान पर twitter पर तीखी प्रतिक्रियाएं सामने आई हैं...

#पराली जलाने वालो पर भी दो शब्द बोल देते।

#पटाखे पूरे देश और दुनिया में चले, पॉल्यूशन सिर्फ दिल्ली में हुआ। गजब लूटियन मीडिया का प्रोपोगेंडा है।

#बढ़ते प्रदूषण को लेकर सरकार और उनके अधिकारियों की जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। बढ़ते प्रदूषण को कम करने के लिए पूरे साल काम करना होगा। अगर पटाखों पर बैन था, तो लोगों को पटाखे कहा से मिले?

#छठ के विषय  में आपकी क्या  राय  है? छठ तो यमुना नदी के घाट पर  होना चाहिए। आप लोग  हमेशा हिन्दू  धर्म और  पूर्वांचल  पर क्यों आघात करते हैं?

अब प्रदूषण रोकने एंटी स्मॉग गन लगाने के निर्देश
दिल्ली में वायु प्रदूषण रोकने के लिए सरकार ने 20 एंटी स्मॉग गन लगाने के निर्देश दिए हैं। इसकी शुरुआत ITO से हुई। हालांकि सोशल मीडिया पर इसे लेकर कमेंट्स आ रहे हैं

#ITO से शुरुआत होगी और लुटियन दिल्ली में घूमती रहेगी ये गन। बाकी दिल्ली का क्या होगा?

#यह सब पहले करना था। अब दिखावा बंद करो। तुम लोग विज्ञापन और twitter पर दिखाने के लिए हो। काम कुछ नहीं करते हो।

यह भी जानें
पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की एयर क्वालिटी पूर्वानुमान एजेंसी 'सफर' के मुताबिक पड़ोसी राज्यों के खेतों में पराली जलाए जाने के कारण दिल्ली की हवा पहले से ही खराब हो रही थी, ऐसे में दिवाली पर पटाखे फोड़े जाने से पॉल्युशन और बढ़ गया। केंद्र द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के अनुसार, दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) इस समय 386 पर है। आगे और भी हवा खराब होगी। गुरुग्राम में यही 389 और नोएडा के NCR क्षेत्र में  AQI 448 दर्ज किया गया।

pic.twitter.com/qjt8xEqoZy


चीन में हालात बेहद खराब
उधर, चीन में वायु प्रदूषण ने कई शहरों में घबराहट पैदा कर दी है। खासकर, 4 शहरों में हाईवे, स्कूल और प्लेग्राउंड तक बंद करने पड़े हैं। 5 नवंबर को हालत इतने खराब हो गए कि राजधानी बीजिंग के अलावा शंघाई, तियांजिन और हर्बिन शहर में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया। विजिबिलिटी इतनी खराब है कि कुछ मीटर दूर की चीजें भी नजर नहीं आ रहीं। अगले साल फरवरी में चीन में विंटर ओलिंपिक होने वाले हैं। वायु प्रदूषण के कारण इस आयोजन पर खतरा मंडराने लगा है।

यह भी पढ़ें
बाबा Keradnath Dham में PM Modi, देखें पूजा-अर्चना और रुद्राभिषेक का Video
Modi Kedarnath Visit: दिवाली पर यूं जगमगाता रहा हिमालय की खूबसूरत गोद में बसा प्राचीन केदारनाथ मंदिर
Kedarnath Dham: जानें कौन हैं आदि गुरु शंकराचार्य? PM Modi ने जिनकी मूर्ति का किया अनावरण

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios