Asianet News HindiAsianet News Hindi

गोवा में अवैध ढंग से रहने वालों पर कसा शिकंजा, 20 बांग्लादेशी गिरफ्तार,भेजे जाएंगे वापस अपने देश

मुख्यमंत्री सावंत ने अपील की है कि गोवा के रहने वाले लोग, बिना किसी जांच या पुलिस वेरिफिकेशन के किरायेदार को न रखें। किरायेदार को रखने के लिए पहले किरायेदार सत्यापन पत्र भरवाएं, सत्यापन कराने के बाद ही किराये पर रखें।
 

Goa Police search operation against illegally staying persons without any valid documents, 20 bangladeshi arrested for illegal staying, DVG
Author
First Published Sep 25, 2022, 5:18 PM IST

पणजी। भारत में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों पर लगातार कार्रवाई कर उनको डिपोर्ट किया जा रहा है। पर्यटन राज्य गोवा में अवैध ढंग से रह रहे 20 बांग्लादेशी नागरिकों को अरेस्ट किया गया है। यह लोग बिना किसी वैध कागजात के यहां रह रहे थे। गोवा के सीएम प्रमोद सावंत ने बताया कि बिना किसी वैध दस्तावेज के अवैध रूप से रहने के आरोप में 20 बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है।    

पूरे सप्ताह चलाया गया सर्च ऑपरेशन

गोवा में अवैध ढंग से रह रहे लोगों के खिलाफ पिछले एक सप्ताह से सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बताया कि एक सप्ताह तक चले अभियान में 20 बांग्लादेशियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इनके पास यहां रहने का कोई भी वैध लाइसेंस नहीं था। सभी 20 नागरिकों को अरेस्ट कर लिया गया है। इनके खिलाफ आगे की कार्रवाई की जा रही है। सावंत ने बताया कि बांग्लादेशियों के खिलाफ आगे भी तलाशी अभियान जारी रखा जाएगा। अवैध ढंग से रह रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के बाद उनको उनके देश में भेजने की प्रक्रिया अपनाई जाएगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय को भी इस संबंध में सूचित कर दिशा निर्देश मांगा गया है।

जिनके पास पहचान पत्र नहीं उनको उनके देश भेजेंगे

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि तटीय राज्य में अवैध अप्रवासियों को अरेस्ट कर उनको उनके देश भेजा जाना है। ऐसे लोग जो बांग्लादेश या दूसरे अन्य देशों के हैं और यहां अवैध रूप से रह रहे हैं, उनके पास कोई पहचान पत्र नहीं है। उनको वापस किया जाएगा। 

बिना सत्यापन के कोई भी किरायेदार को न रखे

मुख्यमंत्री सावंत ने अपील की है कि गोवा के रहने वाले लोग, बिना किसी जांच या पुलिस वेरिफिकेशन के किरायेदार को न रखें। किरायेदार को रखने के लिए पहले किरायेदार सत्यापन पत्र भरवाएं, सत्यापन कराने के बाद ही किराये पर रखें।

यह भी पढ़ें:

शहीद भगत सिंह के नाम पर हुआ चंडीगढ़ एयरपोर्ट, पीएम मोदी के ऐलान के बाद पक्ष-विपक्ष सभी ने किया स्वागत

नीतीश कुमार ने सभी विपक्षी दलों को एकजुट होने का किया आह्वान, बोले-सब साथ होंगे तो वे हार जाएंगे

असम: 12 साल में उग्रवादियों से भर गए राज्य के जेल, 5202 उग्रवादी गिरफ्तार किए गए, महज 1 का दोष हो सका साबित

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios