Asianet News HindiAsianet News Hindi

Jammu-Kashmir: हिजबुल मुजाहिद्दीन आतंकवादियों के दो मददगार अरेस्ट, भारी मात्रा में हथियार और कारतूस बरामद

प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन से जुड़े आतंकवादियों के 2 मददगारों को साउथ कश्मीर जिले के अवंतीपोरा इलाके से गिरफ्तार किया गया है। यह हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकियों के मददगार थे। कथित मददगारों के पास से AK-47 की 383 गोलियां, असलहे और संदिग्ध सामान बरामद किए हैं। 

Hizbul Mujahiddin overground helper caught, Two persons arrested with arms and ammunitions by Security forces in Jammu Kashmir Avantipora, DVG
Author
Srinagar, First Published Nov 27, 2021, 8:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में आतंकी गतिविधियां जारी हैं। बेखौफ आतंकियों के खिलाफ सुरक्षा बलों का एंटी टेररिस्ट ऑपरेशन (Anti Terror Operations) भी लगातार जारी है। आतंकियों के हौसलों को पस्त करने के लिए सिक्योरिटी फोर्सेस (Security Forces) लगातार आतंक के कमांडर्स को धराशायी कर रहे साथ ही उनके मददगारों की धरपकड़ भी तेज हो गई है। सुरक्षा बलों ने पुलवामा (Pulwama) में खूंखार आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन (Hizbul Mujahiddin) आतंकवादियों के 2 मददगारों को गिरफ्तार किया है। शनिवार को पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार करने के साथ-साथ इनके पास से हथियार और संदिग्ध सामान भी बरामद किये हैं। 

पुलवामा में पकड़े गए आतंकियों के मददगार अवंतीपोरा के

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि आतंकवादियों के दोनों मददगारों की पहचान मुजमिल आयूब भट्ट और सुरैल मंजूर मोहंद के रूप में हुई है। दोनों शाहाबाद खारपोरा बाला लालगम अवंतीपोरा के रहने वाले हैं। इनसे पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने बताया कि इनके खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इनके अन्य सहयोगितयों की भी तलाश की जा रही है।

हिजबुल मजाहिद्दीन की करते थे दोनों मदद

पुलिस प्रवक्ता ने दावा किया है कि प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन से जुड़े आतंकवादियों के 2 मददगारों को साउथ कश्मीर जिले के अवंतीपोरा इलाके से गिरफ्तार किया गया है। यह हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकियों के मददगार थे।

काफी मात्रा में असलहे बरामद

पुलिस ने गिरफ्तार कथित मददगारों के पास से AK-47 की 383 गोलियां, असलहे और संदिग्ध सामान बरामद किए हैं। पुलिस ने बताया कि पकड़े गए आतंकियों के सहयोगी हिज्बुल मुजाहिद्दीन कमांडरों के संपर्क में थे और हथियार तथा असलहों को एक जगह से दूसरी जगह तक ले जाने में शामिल थी। इनता ही नहीं यह दोनों आतंकी नेटवर्क को पनाह और अन्य जरुरी मदद भी करते थे। 

Read this also:

NITI Aayog: Bihar-Jharkhand-UP में सबसे अधिक गरीबी, सबसे कम गरीब लोग Kerala, देखें लिस्ट

PM बनने के 12 घंटे बाद ही देना पड़ा इस्तीफा, फिर Magdalena Anderson बनेंगी प्रधानमंत्री, सरकार गिराने वाले दोबारा दे रहे समर्थन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios