Asianet News HindiAsianet News Hindi

पर्यटन उद्योग होगा फिर गुलजार: विदेशी सैनालियों को भारत भ्रमण की अनुमति, 15 अक्टूबर से जारी होगा टूरिस्ट वीजा

भारत आने पर विदेशी यात्रियों को कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना होगा। कोरोना महामारी बढ़ने के बाद बीते साल विदेशी सैलानियों के सभी प्रकार के वीजा को सस्पेंड कर दिया गया था।

India allows Tourist Visa for Foreign Tourists, Know the detailed order of Home Ministry
Author
New Delhi, First Published Oct 7, 2021, 8:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के कम होने के बाद देश जैसे ही सामान्य स्थितियों की ओर लौटा है पर्यटकों (tourists) को भी राहत दे दिया गया है। फिलहाल, चार्टर्ड विमानों (Chartered Plane) से भारत (India) में आने वाले विदेशी पर्यटकों (Foreign Tourists) को इस महीने से टूरिस्ट वीजा (tourist visa) की अनुमति दे दी गई है। अगले महीने से किसी भी फ्लाइट से आने वाले विदेशियों को टूरिस्ट वीजा दिया जाएगा। 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जारी किया यह आदेश

केंद्रीय गृह मंत्रालय (MHA) ने चार्टर्ड विमानों से भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों को टूरिस्ट वीजा देने का निर्णय लिया है। अब चार्टर्ड विमानों से आने वाले विदेशी सैलानियों को 15 अक्टूबर से टूरिस्ट वीजा जारी होगा। 
मंत्रालय के अनुसार चार्टर्ड विमानों के अलावा दूसरी फ्लाइट्स से देश में आने वाले विदेशी पर्यटकों के लिए यह व्‍यवस्‍था 15 नवंबर से लागू होगी। 

कोविड प्रोटोकॉल्स का पालन करना होगा अनिवार्य

भारत आने पर विदेशी यात्रियों को कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना होगा। कोरोना महामारी बढ़ने के बाद बीते साल विदेशी सैलानियों के सभी प्रकार के वीजा को सस्पेंड कर दिया गया था। केंद्र ने अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों पर भी पाबंदियां लगा दी थी। हालांकि, पर्यटकों के आने पर पाबंदी के बाद पर्यटन उद्योग को काफी झटका लगा था। 

यह भी पढ़ें:

जम्मू-कश्मीर: जो पीढ़ियों से इस बगिया को संजोते रहे, उनके खून से ही जन्नत हुआ लहूलुहान, बूढ़ी मां का विलाप रूह चीर देने वाला

केंद्र सरकार का किसानों को तोहफा: खरीद पोर्टल के इंट्रीग्रेशन से बिचौलियों की सांसत, उपज बेचने में होगी आसानी

कर्नाटक में पूर्व सीएम येदियुरप्पा के करीबियों और महाराष्ट्र में डिप्टी सीएम अजीत पवार के रिश्तेदारों पर आईटी रेड

केंद्र सरकार ने राज्यों को दिए 40 हजार करोड़, यूपी को 2,047.85 करोड़ रुपये तो दिल्ली को 1558.03 करोड़

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios